दीवार गिरने से 15 लोगों की मौत, तीन घायल

दीवार गिरने से 15 लोगों की मौत, तीन घायल auto draft दीवार गिरने से 15 लोगों की मौत, तीन घायल 7f6a604276514611c5f5b74f8f9c74fab4a44720ab8e2b290f0ae5fdc4dee156 1

पुणे जिले में कोंढवा इलाके में शनिवार रात डेढ़ बजे एक सोसायटी में दीवार गिरने से 15 लोगों की मौत हो गई, जबकि घटना में तीन लोग घायल हुए हैं। उन्हें नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मृतकों में चार महिलाएं और दो बच्चे शामिल हैं। राष्ट्रीय आपदा राहत बल(एनडीआरएफ) की टीम मौके पर राहत और बचाव कार्य में लगी है।
आल्कन स्टायलस सोसायटी में बिल्डर अग्रवाल और वोरा ने कोंढ़वा(पुणे) के बड़ा मस्जिद के पास संरक्षक दीवार बनाई थी। यहां कार्य करने वाले बिहार एवं पश्चिम बंगाल के मजदूर दीवार के पास बने झोपड़े में रहते हैं। ऐसे में शनिवार देर रात उक्त संरक्षक दीवार ढह गई। इस हादसे में झोपड़ी में सो रहे मजदूर दब गए। घटना की सूचना मिलते ही एनडीआरएफ की टीम घटनास्थल पर पहुंची और दीवार के मलवे से मजदूरों को बाहर निकालने का कार्य शुरू किया।
एनडीआरएफ के एक अधिकारी के मुताबिक संरक्षक दीवार के मलबे से अब तक 15 शव निकाले जा चुके हैं, जबकि तीन लोगों को घायलावस्था में अस्पताल भेज गया है।
मृतकों में रविकुमार शर्मा, लक्ष्मीकांत साहनी, अजीत कुमार शर्मा, नीता देवी, रावल कुमार शर्मा, अवधेश कुमार, आलोक कुमार शर्मा, मोहन शर्मा, अजय शर्मा, अभंग शर्मा, सुनील सिंह, ओवीदास,  संगीता देवी, भीमा राव एवं सोनाली दास शामिल हैं। घायलों में विमल और दो अन्य इलाजरत हैं।
पालक मंत्री चंद्रकांत पाटील ने बताया कि इस घटना की जांच के लिए तीन सदस्यीय समिति नियुक्त कर दी गई है। रिपोर्ट में दोषी पाये जाने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।
मृतक के परिजनों को मिलेगा चार-चार लाख रुपये मुआवजा
पालक मंत्री ने कहा कि इस घटना में मृतक मजदूरों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री राहत निधि से भी पीड़ितों की मदद की जाएगी। साथ ही मजदूरों के शवों को उनके पैतृक गांव पहुंचाने की व्यवस्था की जा रही है।
इस घटना की जानकारी मिलते ही पुणे के जिलाधिकारी नवलकिशोर, पुलिस आयुक्त के. वेंकटेशम एवं महापौर मुक्ता तिलक भी तत्काल घटनास्थल पर पहुंचे। जिलाधिकारी नवल किशोर राम ने कहा कि भारी बारिश के कारण दीवार ढह गई। इस घटना से बिल्डिंग निर्माण कंपनी की लापरवाही सामने आ रही है। 15 लोगों की मौत कोई छोटी बात नहीं है। मृतक मजदूरों में ज्यादातर बिहार और बंगाल के थे। पीड़ितों को सहायता दी जा रही है। इस मामले मे जो भी दोषी पाया जाएगा, उस पर कड़ी कारवाई होगी। वहीं पुलिस आयुक्त ने कहा कि इस मामले की सघन जांच-पड़ताल की जाएगी।

COMMENTS

WORDPRESS: 0