fbpx

राजस्थान विधानसभा का बजट सत्र आज से शुरू, जोशी ने सर्वदलीय बैठक में दी मंत्रियों को हिदायत

 जयपुर। राजस्थान विधानसभा का बजट सत्र गुरूवार से शुरू होगा। बजट सत्र हंगामेदार रहने की उम्मीद है। किसानों की आत्महत्या, अलवर के थानागाजी में दलित युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म, मंत्रियों और अधिकारियों के बीच मतभेद, बिजली एवं पानी की समस्याओं को लेकर अशोक गहलोत सरकार विपक्ष के निशाने पर रहेगी

मुख्यमंत्री संभवतया 8 या 10 जुलाई को विधानसभा में बजट पेश करेंगे। विधानसभा सत्र प्रारंभ होने से पहले बुधवार को विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीपी जोशी ने सर्वदलीय बैठक बुलाई। इस बैठक में जोशी ने मंत्रियों के शून्यकाल में विधानसभा में मौजूद रहने और मूल प्रश्नकर्ता द्वारा दो ही पूरक प्रश्न पूछे जाने की हिदायत दी।

उन्होंने कहा कि अन्य विधायकों को प्रश्न पूछने की इजाजत नहीं दी जाएगी। प्रत्येक दिन दो ध्यानाकर्षण प्रस्ताव सदन में लाए जाने की बात भी जोशी ने कही। उन्होंने कहा कि दो से अधिक ध्यानाकर्षण प्रस्ताव मंजूर नहीं किए जाएंगे। ध्यानाकर्षण प्रस्ताव के माध्यम से विधायक अपने क्षेत्र अथवा प्रदेश से जुड़ा महत्वपूर्ण तात्कालिक मामला उठा सकते हैं।

उन्होंने नये विधायकों के लिए कार्यशाला आयोजित किए जाने की बात भी कही। उन्होंने मंत्रियों एवं विधायकों से सीमित संख्या में आगंतुकों को बुलाने की बात भी कही। सदन में विधायकों की मौजूदगी के लिए सभी दलों के मुख्य सचेतकों की जिम्मेदारी तय की गई है।

बैठक में देर रात तक सदन नहीं चलाने पर सहमति बनी। इसके लिए विभिन्न विभागों की अनुदान मांगों पर शाम छह बजे तक मंत्रियों के जवाब दिए जाने का भी निर्णय हुआ।

बैठक में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, संसदीय कार्यमंत्री शांति धारीवाल और भाजपा विधायक दल के उप नेता राजेंद्र राठौड़ सहित विभिन्न दलों के प्रतिनिधि शामिल हुए।

COMMENTS

WORDPRESS: 0