आकाशीय बिजली गिरने से 12 लोगों की मौत, सीएम ने लिया संज्ञान

 आकाशीय बिजली गिरने से 12 लोगों की मौत, सीएम ने लिया संज्ञान

कानपुर देहात. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के प्रयागराज (Prayagraj) और कानपुर देहात (Kanpur Dehat) में रविवार को अचानक तेज बारिश और आकाशीय बिजली (Lightening) गिरने से अलग-अलग थाना क्षेत्रों में 12 लोगों की मौत हो गई. कानपुर देहात के भोगनीपुर तहसील में दो महिलाओं सहित पांच लोगों की मौत हो गयी. जबकि तीन लोग गंभीर रूप से घायल हो गए. उधर, प्रयागराज में मूसलाधार बारिश के दौरान गिरी बिजली की चपेट में आने से अलग-अलग थाना क्षेत्रों में कुल 7 लोगों की मौत हो गई. इनमें सोरांव की रहने वाली सास-बहू भी शामिल हैं. मृतकाें में से कोई खेतों में काम करते वक्त तो कोई घर लौटते वक्त हादसे का शिकार हुआ. मृतक परिवारों में कोहराम मचा हुआ है।

सोरांव के रहाइसपुर मलाक बेला गांव में धान की रोपाई करते समय गीता देवी (32) पत्नी वीरेन्द्र कुमार और उसकी सास मालती देवी(55) पत्नी चौबे लाल की मौत हो गई. इसी तरह कोरांव महुली गांव में राम मूरत मिश्रा (58) पुत्र विंद्रा प्रसाद मिश्र, भगेसर गांव में बकरियां चराने गए रामराज (15) पुत्र छैलबिहारी हरिजन, पुष्पेंद्र कुमार (11) पुत्र राजेश कुमार हादसे का शिकार हुए.  खबर पाकर राजस्व टीम मौके पर पहुंचकर जांच पड़ताल कर रही है.

घटना भोगनीपुर तहसील क्षेत्र की है. जानकारी के अनुसार रविवार को अपरान्ह दो बजे के बाद मौसम खराब होने से गरज के साथ हल्की बूंदाबांदी शुरू हो गई. इस दौरान भोगनीपुर गांव निवासी मलखान उर्फ पप्पू 32 वर्षीय की मौत हो गई. सभी मृतकों की पहचान हो गई है. मोहम्मद समीर उर्फ छोटू, बाल सिंह, भूरी पत्नी अशोक और किशोरी देवी पत्नी रामस्वरूप की मौत हो है. जबकि तीन लोग झुलस गए. उधर बिजली गिरने से पांच भैंसों की मौत हो गई.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आकाशीय बिजली गिरने की घटना से हुई जनहानि पर गहरा शोक व्यक्त किया है. उन्होंने दिवंगतों के परिजनों को नियमानुसार अनुमन्य राहत राशि तत्काल वितरित किए जाने के निर्देश दिए हैं. मुख्यमंत्री ने मृतकों के शोक संतप्त परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की है. उन्होंने आकाशीय बिजली गिरने से घायल हुए लोगों का समुचित उपचार कराने के भी निर्देश दिए हैं.

S.N.Acharya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page