आखिर कौन जिम्मेदार है बीकानेर में फैलते संक्रमण का ?

आखिर कौन जिम्मेदार है बीकानेर में फैलते संक्रमण का ?  आखिर कौन जिम्मेदार है बीकानेर में फैलते संक्रमण का ? bikaner spread covid

बीकानेर हलचल । परकोटे में लगातार बढ़ रहा कोरोनावायरस ’’बाबू’’ रुकने का नाम नहीं ले रहा है इसकी गति इतनी तेज है कि संख्या ढहाई से लेकर हजारों तक पार हो गई है । बावजूद इसके शहर में अपने आप को सुरक्षित रखने के लिए किसी तरह के प्रयास नहीं हो रहे हैं जैसे जैसे संक्रमण बढ़ रहा है उससे तेज गति से लापरवाही बढ़ रही है केवल मात्र दिखावे में सुरक्षा की बातें हो रही है व्यक्ति स्वयं अपने आप को धोखा दे रहा है ना तो वह मुंह पर मास्क लगा रहा है , चालान के डर से लगा तो रखा है पर नाक से नीचे तक ही, सोशल डिस्टेंसिंग तो शायद उसको पता ही नहीं है । “5 लोग इकठ्ठे होकर अपने मास्क को नीचे करके बतियाते नजर आते है कि प्रशासन बहुत लापरवाही कर रहा है जिससे कोरोना संक्रमण बीकानेर फैल रहा है “। यह नजारा हमें सोचने पर मजबूर कर देता है कि आखिर लापरवाही किसकी है।

आखिर कौन जिम्मेदार है बीकानेर में फैलते संक्रमण का ? prachina in article 1

आखिर कौन जिम्मेदार है बीकानेर में फैलते संक्रमण का ? WhatsApp Image 2020 10 08 at 11

दुकानदार धड़ल्ले से बिना मास्क ही वस्तुओं को बेच रहे हैं खाने पीने की दुकानों पर अब भीड़ बढ़ने लगी है जो संक्रमण को कई गुना बढ़ाने में सहयोगी हो रही है । इन सबके अलावा सामाजिक स्तर पर अपने आप को सामाजिक घोषित करने के लिए केवल घर-घर का खाना बनाने की बात कह कर सैकड़ों लोग इकठ्ठे हो रहे हैं जो किसी भी मायने में सही नहीं है। संक्रमण के बढ़ने के साथ-साथ असामयिक मौतों का सिलसिला भी अब गति पकड़ चुका है समाचार पत्रों में केवल मात्र यह लाइन प्रकाशित की जाती है की कोरोनावायरस के कारण मोबाइल पर ही अपनी संवेदना व्यक्त करें लेकिन सभी के घर के बाहर शोक संवेदना व्यक्त करने वालों की भीड़ देखी जा सकती है जो स्वयं के साथ-साथ आने वालों के लिए भी किसी बड़े खतरे से कम नहीं है । बढ़ती संक्रमण की संख्या अस्पतालों में भी अब स्थान को पूरा कर चुकी है वहां पर न तो पर्याप्त बेड है और ना ही सुविधाएं देने के लिए पर्याप्त लोग हैं । बेड के अभाव में इधर उधर फर्श पर सोते लोग और इलाज के लिए इंतजार करने वाले लोगों की संख्या में इजाफा होता जा रहा है । सबसे बड़ा प्रश्न यही है कि लोग इसकी भयावहता को ना समझते हुए केवल दिखावा कर रहे हैं और खुद को ही धोखे में रख रहे हैं और यही हाल रहा तो निश्चित रूप से संक्रमण की संख्या कई नए रिकॉर्ड बना देगी जो धर्म नगरी बीकानेर के लिए किसी भी मायने में सही नहीं होगी जिला प्रशासन को और स्वयं लोगों को आगे आकर भीड़ बढ़ाने वाले आयोजनों पर रोक लगानी होगी अन्यथा भयंकर परिणाम भुगतने के लिए तैयार रहना होगा इस प्रश्न का उत्तर शायद किसी के पास नहीं है कि आखिर जिम्मेदार कौन है और कब हम सचेत जागरूक और वास्तव में इस संक्रमण की नुकसान पहुंचाने की बात को समझेंगे और झूठ की नकाब हटा कर लोगों का भला करेंगे ।

COMMENTS