बीकानेर

मच्छर जनित बीमारियों की रोकथाम के लिए हुई एंटी लारवा गतिविधियां ,जिला कलेक्टर ने की शुरुआत

बीकानेर। मच्छर जनित बीमारियों की रोकथाम के लिए मंगलवार को जिले के सभी कार्यालयों में वृहद् स्तर पर एंटी लारवा गतिविधियां की गई। इस दौरान कूलर, पुराने टायर, कबाड़ और परिंडों में लम्बे समय से पड़े पानी को खाली किया गया। पीने के पानी की टंकियों में टेमीफोस या खाने का तेल और नालियों एवं अन्य स्थानों पर काला तेल डाला गया।
जिला कलक्टर भगवती प्रसाद कलाल ने कलक्ट्रेट परिसर में इस सघन अभियान की शुरूआत की। उन्होंने कलक्ट्रेट परिसर की सभी शाखाओं और छतों पर एंटी लारवा गतिविधियां की और कार्मिकों को इसकी निरंतरता बनाए रखने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि बरसात के कारण इस बार पानी की अच्छी आवक हुई है और जानकारी और जागरूकता के अभाव में घर की छतों या खुले स्थान पर टायर आदि में पानी रुका हुआ रह सकता है। ठहरे हुए इस पानी में मच्छरों के पनपने की संभावना रहती है। इसके मद्देनजर आमजन को जागरुक करने के लिए सघन स्तर पर यह कार्यवाही की जा रही है।

जिला कलक्टर ने कहा कि बरसात के बाद शुरूआती दौर में ही आमजन में एंटी लारवा गतिविधियों के प्रति जागरुकता आए और सावधनी रखते हुए डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया जैसी मच्छर जनित और मौसमी बीमारियों पर प्रभावी काबू पाया जा सके, ऐसे प्रयास किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि इस अभियान में प्रत्येक व्यक्ति अपनी भागीदारी निभाए और अपने घर से इसकी शुरुआत करे। किसी भी स्थिति में पानी को ठहरने नहीं दें। उन्होंने कहा कि जल्दी ही इसके प्रति जागरुकता के लिए सघन अभियान चलाया जाएगा और आवश्कता के अनुसार फोगिंग आदि कार्यवाही भी की जाएगी। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मोहम्मद अबरार अहमद ने बताया कि जिले के सभी कार्यालयों, आंगनबाड़ी केन्द्रों, स्कूलों, स्वास्थ्य केन्द्रों और ग्राम पंचायत स्तर पर ऐसी गतिविधियां की गई। जिला स्तर पर नर्सिंग स्कूल के विद्यार्थियों कलक्ट्रेट के पश्चात् शहरी क्षेत्र की सभी डिसपेंसरियों में एंटी लारवा गतिविधियां की।

विभिन्न कार्यालयों में हुई कार्यवाही
जिला कलक्टर के निर्देशानुसार विभिन्न सरकारी कार्यालयों में भी एंटी लारवा गतिविधियां की गई। जिला परिषद में मुख्य कार्यकारी अधिकारी, श्रम विभाग में संयुक्त श्रम आयुक्त, आइजीएनपी में अधीक्षण अभियंता, जनसंपर्क कार्यालय में सहायक निदेशक की अगुवाई मे कार्मिकों ने ठहरे हुए पानी को जमीन पर गिराया। इसी प्रकार सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग, आईटी सेंटर, जिला उद्योग केन्द्र सहित प्रत्येक कार्यालय में इन गतिविधियों का आयोजन हुआ।

प्रार्थना सभाओं में किया जागरुक
शिक्षा विभाग द्वारा जिले की स्कूलों में विद्यार्थियों को एंटी लारवा गतिविधियों के संबंध में जागरुक किया गया। बच्चों को पानी में पनपने वाले मच्छरों एवं इनसे होने वाले रोगों, बचाव के उपाय औ दुष्परिणामों के बारे में बताया गया। प्रार्थना सभाओं के दौरान बच्चों को मच्छर जनित बीमारियों के बारे में बताया गया तथा जागरुकता की यह बातें परिजनों को बताने का आह्वान किया गया। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के निर्देशानुसार आशा सहयोगिन और एएनएम ने अपने-अपने क्षेत्र के स्कूलों में इन गतिविधियों का संचालन किया।

What's your reaction?