भारतीय जनता पार्टी के ई-चिंतन सत्र- आभासी प्रशिक्षण वर्गों का आगाज

 भारतीय जनता पार्टी के ई-चिंतन सत्र- आभासी प्रशिक्षण वर्गों का आगाज

बीकानेर । भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के निर्देशानुसार पार्टी कार्यकर्ताओं के बौद्धिक स्तर और संगठनात्मक ज्ञान में वृद्धि के लिए ई-चिंतन सत्रों आभासी प्रशिक्षण वर्गों का आयोजन किया जा रहा है। ई- चिंतन सत्रों का शुभारंभ राष्ट्रीय अध्यक्ष के द्वारा 20 जून 2021 रविवार को विधिवत रूप से वर्चुअल सत्र द्वारा किया जा चुका है। जिलाध्यक्ष अखिलेश प्रताप सिंह ने बताया कि ई- चिंतन सत्रों की योजना के अनुसार प्रत्येक शनिवार को सांयकाल आभासी चिंतन वर्ग आयोजित किए जाएंगे जिसमें अलग-अलग वक्ता अलग-अलग विषयों पर कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षण देते हुए अपना प्रबोधन देंगे। इसी कड़ी में शनिवार को प्रथम चिंतन सत्र में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार के 7 वर्षों की मौलिक और वैचारिक उपलब्धियों पर प्रदेश प्रवक्ता और चोमू  विधायक रामलाल शर्मा का ई-चिंतन सत्र व्याख्यान जिलाध्यक्ष अखिलेश प्रताप सिंह की अध्यक्षता में आयोजित किया गया ।

 ई- चिंतन सत्र के दौरान अपने उद्बोधन में प्रदेश प्रवक्ता और चौमू विधायक रामलाल शर्मा ने कहा कि कोरोना जैसी भीषण महामारी के बाद भी भारतीय जनता पार्टी के संगठन में जीवटता से धरातल से जुड़ा रह कर वर्चुअल रूप आपसी संवाद को कायम रखते हुए संगठनात्मक कार्य किए गए हैं।  2014 से पूर्व की कांग्रेस की केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि पूर्व में केंद्र की कांग्रेस सरकार द्वारा आकाश, धरती और पाताल तक घोटालों की लंबी फेहरिस्त थी जिसमें 2जी स्पेक्ट्रम घोटाला, कॉमनवेल्थ घोटाला और कोयला घोटाला जैसे कारनामे शामिल हैं ।

उन्होंने कहा कि 2014 में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में एनडीए की सरकार बनने के पश्चात वैचारिक,  मौलिक और देश की चुनौतियों से जुड़े मुद्दों को हल करने का कार्य हुआ है। मोदी जी ने घटक दलों को विश्वास में लेकर देश हित में निर्णय लिए है।

शर्मा ने कहा कि तीन तलाक, आतंकवाद पर लगाम लगाने के साथ ही मोदी सरकार ने देश की सुरक्षा को सर्वोपरि रखने का कार्य किया है जबकि इससे पहले देश का कोई भी स्थान सुरक्षित नहीं था और आतंकवादी मनचाहे स्थान पर बम धमाके करके सुरक्षित निकल जाते थे।   उन्होंने कहा कि पूर्ववर्ती सरकार केवल मुंहतोड़ जवाब देना, आतंकवादी घटनाओं को सहन नहीं करने जैसे बयान देकर ही समय व्यतीत करती थी जबकि मोदी सरकार ने चीन पाकिस्तान और आतंकवादियों को उन्हीं की भाषा में जवाब देते हुए मुंहतोड़ जवाबी कार्यवाही की है।

शर्मा ने कहा कि सेना के लिए  बुलेट प्रूफ जैकेट और सुरक्षा वाले जूतों के लिए भी बजट नहीं होने का बहाना बनाने वाली पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार ही है और दूसरी तरफ मोदी सरकार में सेना को आधुनिक तकनीक से सजे रक्षा उपकरण और उनकी वन रैंक- वन पेंशन जैसी लंबित मांगों को पूरा किया गया है।

उन्होंने डॉ श्यामाप्रसाद मुखर्जी को याद करते हुए उनकी शहादत को भी देश की एकता और अखंडता की सुरक्षा के लिए  दिया गया  बलिदान बताया।

उन्होंने नागरिकता संशोधन कानून, कश्मीर से धारा 370 हटाने, जनधन खाता खोलने, आमजन को बैंक की दहलीज पर पहुंचाने, डिजिटल इंडिया के सपने को साकार करने, किसानों को आजादी, कृषि कानून, कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग और कृषि से इंस्पेक्टरराज खत्म करने इत्यादि उपलब्धियों के बारे में जानकारी दी और कहा कि विपक्ष केवल अपने स्वार्थ पूर्ति के लिए हल्ला मचा रहा है।

शर्मा ने कहा कि मोदी सरकार द्वारा किसान सम्मान निधि योजना के तहत प्रतिवर्ष किसानों के खाते में सीधा पैसा ट्रांसफर किया जा रहा है जबकि पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार के प्रधानमंत्री स्वयं यह स्वीकार करते थे कि ऊपर से एक रूपया भेजने पर नीचे तक असली व्यक्ति को  15 पैसा ही पहुंच पाता है।

उन्होंने मोदी सरकार की सॉइल टेस्टिंग योजना, यूरिया की नीम कोटिंग योजना पर भी चर्चा की और कहा कि मोदी सरकार ने जरूरत की चालू योजनाओं को बंद नहीं किया  बल्कि उनमें सुधार किया और आज मोदी सरकार में सभी विकास कार्य  योजनाबद्ध और निर्धारित समय पर पूरी होते हैं।

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने बिजली, सड़क, पानी किसानों, युवाओं, माताओं बहनों और सभी वर्गों की चिंता करते हुए सबका साथ सबका विकास की अवधारणा को साकार करने का कार्य किया है कोरोना महामारी में ऑक्सीजन आपूर्ति हेतु सेना की मदद के साथ एअरलिफ्ट करवाने, ऑक्सीजन ट्रेन चलवाने  और सभी संसाधनों को झोंकते हुए देश में अल्प समय में ऑक्सीजन की उपलब्धता, दवाई, मास्क और वैक्सीन की उपलब्धता करवाई है जबकि राज्य की कांग्रेस सरकार के पास ऑक्सीजन के ट्रांसपोर्ट के लिए टैंकर तक नहीं थे, राज्य सरकार ने रेमडेसिविर  इंजेक्शन पंजाब सरकार को दे दिए, पीएम केयर्स फण्ड के वेंटीलेटर्स को इंस्टाल तक नहीं करवाया,टेक्नीशियन नहीं होने का रोना रोया और केंद्र द्वारा दी गयी ऑक्सीजन प्लांट की राशि का भी उपयोग नहीं किया उन्होंने येन केन प्रकारेण मोदी सरकार को योजनाबद्ध ढंग से बदनाम और दोषारोपण करते हुए खाली रोने का कार्य किया है।

शर्मा ने कहा कि मोदी सरकार में ही उच्चतम न्यायालय का सम्मान करते हुए बिना किसी विवाद के राम मंदिर का हल निकला और यह राम मंदिर देशवासियों के लिए  राष्ट्र मंदिर है जो कि राष्ट्र के आध्यात्मिक और सांस्कृतिक राष्ट्रवाद से जुड़ा हुआ मुद्दा है।

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार की उपलब्धियों से घबराकर देश में कहीं भी चुनाव होने पर पूरा विपक्ष एकजुट होने का प्रयास करता है चाहे उनके खुद के दल की एक भी सीट ना आए और ऐसा करके यह दल देश के विकास को अवरुद्ध कर रहे हैं

उन्होंने कहा कि पूर्व में चेचक, पोलियो, खसरा और अन्य बीमारियों की वैक्सीन बरसों बीत जाने के बाद विकसित और वितरित नहीं होती थी  जबकि मोदी सरकार में अत्यंत अल्प समय में आत्मनिर्भर भारत के सपने को साकार करते हुए स्वदेशी, सस्ती और उच्च गुणवत्ता वाली वैक्सीन बनाई गई और देश में विश्व का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है।

विपक्षी दल के नेताओं ने वैक्सीन के निर्माण होने पर इसे मोदी वैक्सीन बताया, प्रामाणिकता पर सवाल उठाए और स्वयं के शरीर पर प्रयोग नहीं करने जैसे तरह-तरह के भ्रामक प्रचार किए।

शर्मा ने कहा कि भीषण महामारी में भी मोदी सरकार ने गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत 80 करोड नागरिकों तक मुफ्त अनाज और बीस हजार करोड का पैकेज घोषित कर अकल्पनीय राष्ट्र सेवा का कार्य किया है

ई-चिंतन सत्र आभासी प्रशिक्षण वर्ग का सञ्चालन जिला महामंत्री अनिल शुक्ला ने किया और जिला उपाध्यक्ष भगवान सिंह मेड़तिया ने अंत में सभी का आभार ज्ञापित किया।

प्रशिक्षण वर्ग में भाजपा जिला संगठन प्रभारी ओम  सारस्वत, जिलाध्यक्ष अखिलेश प्रताप सिंह के साथ प्रदेश कार्यसमिति सदस्य और पूर्व जिलाध्यक्ष डॉ. सत्यप्रकाश आचार्य, प्रदेश कार्यसमिति विशेष आमंत्रित सदस्य एड. मुमताज अली भाटी, महापौर सुशीला कँवर राजपुरोहित, जिला महामंत्री मोहन सुराणा, अनिल शुक्ला, नरेश नायक, जिला उपाध्यक्ष अशोक प्रजापत, गोकुल जोशी, भानु व्यास, मधुरिमा सिंह, भगवान  सिंह मेड़तिया, निर्मला खत्री, जिला मंत्री अरुण जैन, मनीष आचार्य, कौशल शर्मा, प्रोमिला गौतम, इंद्रा व्यास, एकता हटीला, मंडल अध्यक्ष अजय खत्री, विनोद करोल, नरसिंह सेवग, जेठमल नाहटा, चंद्रप्रकाश गहलोत, मुकेश ओझा, कमल आचार्य, दिनेश महात्मा, एसटी मोर्चा प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ.अशोक मीणा, मो.रमजान अब्बासी, बेटी डॉ. मीना आसोपा, किसान मोर्चा अध्यक्ष श्यामसुंदर चौधरी, ओबीसी मोर्चा अध्यक्ष राजाराम बिश्नोई, अल्पसंख्यक मोर्चा अध्यक्ष उस्मान गनी, महिला मोर्चा अध्यक्ष सुमन छाजेड़, पार्षद जितेन्द्र सिंह भाटी, मोहन सिंह राठोड, विजय सिंह पडिहार, अर्जुन सिंह, लक्ष्मण मोदी, सोहनलाल चांवरिया, पार्षद जामणलाल गजरा, संपत पारीक, जीतेन्द्र गहलोत, आई टी संयोजक सुशील आचार्य, विजय कोचर, विजय उपाध्याय, विश्वजीत सिंह पंवार, धर्मेन्द्र सिंह सोलंकी, उपासना जैन, सुरेन्द्र हटीला, इत्यादि कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

S.N.Acharya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page