देश

कोरोना केसों की स्पीड ने राजस्थान सहित इन राज्यों की बढ़ाई चिंता , जानें किस राज्य में क्या हाल

नई दिल्लीः देश में कोरोना केसों में 11 हफ्तों की लगातार गिरावट के बाद पिछले दो हफ्तों से मरीजों की संख्या फिर से बढ़ती जा रही है. पिछले तीन दिनों से तो लगातार 2500 से ज्यादा केस दर्ज हो रहे हैं. 18 से 24 अप्रैल के बीच ही 15,700 से ज्यादा नए मरीज मिल चुके हैं. पिछले हफ्ते से इसमें 95 फीसदी का इजाफा देखा गया है. कोविड केसों में बढ़ोतरी अब 12 से ज्यादा राज्यों में देखी जा रही है, जो पिछले हफ्ते तक सिर्फ 3 राज्यों में थी. इसके बाद कई राज्यों ने फिर से पाबंदियां लगानी शुरू कर दी हैं. हालात की गंभीरता को देखते हुए बुधवार को पीएम नरेंद्र मोदी सभी मुख्यमंत्रियों और स्वास्थ्य मंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बैठक भी करने वाले हैं.

पिछले हफ्ते तक दिल्ली, हरियाणा और यूपी में ही केस बढ़ते दिख रहे थे लेकिन अब केरल, महाराष्ट्र, कर्नाटक, तमिलनाडु, बंगाल, राजस्थान और पंजाब ने भी चिंताएं बढ़ा दी हैं. 12 राज्यों के अलावा 8 राज्य या केंद्र शासित प्रदेश ऐसे हैं, जहां केस लगातार बढ़ तो रहे हैं, लेकिन अभी भी हफ्ते में 100 से नीचे हैं. महाराष्ट्र में पिछले हफ्ते से 48 फीसदी केस बढ़े हैं. कर्नाटक में 71 प्रतिशत, तमिलनाडु में 62 प्रतिशत, बंगाल में 66 प्रतिशत और तेलंगाना में 24 फीसदी का उछाल आ चुका है. उत्तर भारत की बात करें तो राजस्थान में एक हफ्ते के अंदर 57 फीसदी केस बढ़े हैं. पंजाब में पिछले सप्ताह के 56 से अब तक तीन गुना मरीज हो चुके हैं.

उत्तर प्रदेश: यूपी में भी कोरोना की रफ्तार ने चिंता बढ़ा दी है. सबसे ज्यादा केस दिल्ली से सटे गौतमबुद्ध नगर और गाजियाबाद में आ रहे हैं. राजधानी से सटे एनसीआर के इलाकों में मास्क अनिवार्य किया जा चुका है. यूपी सरकार ने 1 अप्रैल को ही मास्क से पाबंदी हटाई थी, लेकिन अब फिर से इसे जरूरी कर दिया गया है.

हरियाणाः दिल्ली के पड़ोसी हरियाणा में कोरोना संक्रमण दर बढ़कर 5.14 प्रतिशत पहुंच गई है जो 1 अप्रैल को 0.40 प्रतिशत थी. बढ़ते केसों को देखते हुए एनसीआर में राज्य के चार जिलों- गुरुग्राम, फरीदाबाद, सोनीपत और झज्जर में मास्क को जरूरी बना दिया है.

कर्नाटकः राज्य में कोविड-19 से जुड़े प्रतिबंध 28 फरवरी से हटा दिए गए थे. लेकिन अब मास्क लगाना और सामाजिक दूरी का पालन करना अनिवार्य कर दिया है. सार्वजनिक स्थानों पर थूकना भी दंडनीय अपराध होगा. यहां संक्रमण की दर 1.9 फीसदी को पार कर चुकी है.

तेलंगानाः यहां इसी महीने की शुरूआत में मास्क की पाबंदी हटाई गई थी, जो अब फिर से लागू हो चुकी है. तेलंगाना में बिना मास्क पाए जाने पर 1000 रुपये के जुर्माने का नियम है.

तमिलनाडुः सार्वजनिक स्थानों पर बिना मास्क पाए जाने पर 500 रुपये का जुर्माना लगने का नियम जारी किया जा चुका है.

आंध्र प्रदेशः सरकार ने मास्क पहनना फिर से अनिवार्य कर दिया है. नियम का उल्लंघन करने वालों पर 100 रुपये पेनल्टी का नियम है.

छत्तीसगढ़ः सरकार ने सार्वजनिक स्थानों पर फेस मास्क एक बार फिर अनिवार्य कर दिया है. सार्वजनिक स्थलों पर थूकने को भी प्रतिबंधित किया गया है.

What's your reaction?

Leave A Reply

Your email address will not be published.