बोर्ड परीक्षा को लेकर आई बड़ी खबर,अब इस महीने में होगी परीक्षा

बोर्ड परीक्षा को लेकर आई बड़ी खबर,अब इस महीने में होगी परीक्षा  बोर्ड परीक्षा को लेकर आई बड़ी खबर,अब इस महीने में होगी परीक्षा rajasthan bourd

बोर्ड परीक्षा को लेकर आई बड़ी खबर,अब इस महीने में होगी परीक्षा mr bika fb post

स्कूल एजुकेशन में इस बार कोविड-19 के चलते अद्र्धवार्षिक परीक्षा नहीं होगी। वार्षिक परीक्षा के आधार पर ही उनको अगली क्लास में प्रमोट किया जाएगा। शिक्षा विभाग ने सत्र 2020-21 के लिए स्कूलों में पढ़ाई और परीक्षा की गाइडलाइन मंगलवार को जारी कर दी है। आमतौर पर दिसंबर में स्कूली बच्चों की अद्र्धवार्षिक परीक्षाएं होती हैं लेकिन इस बार कोरोना के चलते 31 दिसंबर तक स्कूल बंद हैं।

बोर्ड परीक्षा को लेकर आई बड़ी खबर,अब इस महीने में होगी परीक्षा prachina in article 1

स्कूल कब खुलेंगे,ये फिलहाल तय नहीं है। मौजूदा हालात को देखते शिक्षा विभाग में इस सत्र के लिए यह व्यवस्था लागू की है। वहीं, परीक्षा पैटर्न में भी कुछ बदलाव किए गए हैं। 9वीं से 12वीं कक्षा तक वार्षिक परीक्षा के 80प्रतिशत अंक लिखित परीक्षा के लिए निर्धारित किए गए हैं।
जबकि 20 प्रतिशत आंतरिक मूल्यांकन के अंक इस बार होमवर्क बुक में किए गए कार्य के आधार पर मिलेंगे। होमवर्क बुक परीक्षा से पहले संबंधित स्कूल में स्टूडेंट्स को जमा करानी होगी। वहीं माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने भी बोर्ड कक्षाओं के पाठ्यक्रम को संक्षिप्त किया है। परीक्षाएं इसी संशोधित पाठ्यक्रम के आधार पर होंगी।

बोर्ड परीक्षाओं में आब्जेक्टिव क्वेश्चन भी होंगे शामिल
शिक्षा सत्र 2020-21 में बोर्ड परीक्षाओं के एग्जाम पेपर में ऑब्जेक्टिव टाइप क्वेश्चन भी शामिल किए जाएंगे। अति लघुत्तरात्मक, लघुत्तरात्मक और निबंधात्मक प्रश्नों में आंतरिक चयन का विकल्प दिया जाएगा। इस बार निबंधात्मक प्रश्नों की संख्या कम होगी। स्टूडेंट्स को परीक्षा की तैयारी के लिए पैटर्न के मुताबिक मॉडल प्रश्न पत्र 15 जनवरी के बाद उपलब्ध कराए जाएंगे।अद्र्धवार्षिक परीक्षा इस बार नहीं होगी। बोर्ड परीक्षाएं 15 मई के बाद होंगी। अन्य परीक्षाएं विभाग द्वारा निर्धारित समयावधि में कराई जाएंगी।

क्लास 1 से 8 तक ये रहेगा परीक्षा पैटर्न
कक्षा 6 से 8 में कक्षोन्नति का आधार वार्षिक परीक्षा ही रहेगा। 40 प्रतिशत अंक आंतरिक मूल्यांकन के होंगे। जोकि कार्यपुस्तिका,गृह कार्य और पोर्टफोलियो पर आधारित होंगे। बाकी बचे 60 प्रतिशत में से 10 प्रतिशत अंक मौखिक परीक्षा और 50 प्रतिशतअंक लिखित परीक्षा के रहेंगे। आठवीं कक्षा के लिए बोर्ड परीक्षा होगी। वार्षिक परीक्षा संशोधित पाठ्यक्रम के अनुसार ली जाएगी।
कक्षा 3 से 5 तक के विद्यार्थियों का कक्षोन्नति आधार योगात्मक आकलन रहेगा। इनमें में 50 प्रतिशत अंक आंतरिक मूल्यांकन के 10त्न अंक मौखिक परीक्षा और 40त्न अंक लिखित परीक्षा के होंगे। इसी आधार पर पांचवी कक्षा के विद्यार्थियों की बोर्ड परीक्षा होगी।

COMMENTS