राजस्थान में तबादलों पर बड़ी खबर , 5 दिनों में दूसरी बार ट्रांसफर

9 Min Read

जयपुर: जिस तरह 15 नए जिलों में आईएएस को ओएसडी बनाया गया है उसी तरह इन जिलों में 15 नए ओएसडी पुलिस भी लगाए गए हैं. सीएम गहलोत की बुधवार को देर रात को कानून व्यवस्था की समीक्षा बैठक हुई थी और मध्यरात्रि बाद यानि करीब 4 घंटे में 20 आईपीएस अधिकारियों के तबादले किए गए. इसमें से 2 आईपीएस का 5 दिनों में दूसरी बार तबादला किया गया. इसके तहत अब भूपेंद्र सिंघ नए भरतपुर आईजी रेंज होंगे.

इससे पूर्व 2 जून की सूची में राहुल प्रकाश को भरतपुर रेंज में उपमहानिरीक्षक लगाया गया था लेकिन 5 दिनों में ही उनका तबादला जयपुर आयुक्तालय में अतिरिक्त पुलिस आयुक्त यातायात और प्रशासन पद पर कर दिया गया. इसी तरह राहुल प्रकाश का भी 5 दिनों में दूसरी बार तबादला करते हुए उन्हें जयपुर में यातायात डीसीपी की जिम्मेदारी दी गई है. वही आईजी रुपिंदर को आर ए सी महा निरीक्षक पद से मुख्यधारा में लाते हुए भरतपुर रेंज में आईजी बनाया गया है. उधर कानून व्यवस्था की अहम जिम्मेदारी 1 साल से ज्यादा समय तक निभा रहे आईपीएस डॉक्टर हवा सिंह घुमरिया को अब इससे मुक्त करके यातायात अतिरिक्त महानिदेशक पद की जिम्मेदारी दी गई है.

– आईपीएस विजय कुमार सिंह को लगाया अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक साइबर क्राइम और तकनीकी सेवाएं (टेलीकम्युनिकेशन एवं टेक्निकल)
– हवा सिंह घुमरिया को लगाया अतिरिक्त महानिदेशक यातायात
– राहुल प्रकाश को लगाया डीसीपी ट्रैफिक जयपुर
– रुपिंदर सिंघ को लगाया आईजी भरतपुर
– रामेश्वर सिंह को लगाया उप महानिरीक्षक पुलिस सतर्कता
– इन्हें दी इन 15 नए जिलों में ओएसडी पुलिस की जिम्मेदारी

राजेंद्र कुमार:- 
– 2010 बैच के प्रमोटी आईपीएस राजेंद्र कुमार को दूदू में बनाया गया ओएसडी पुलिस.
– राजेंद्र चूरू में और यातायात पुलिस मुख्यालय में एसपी रह चुके हैं.
राजकुमार गुप्ता:-
– प्रमोटी आईपीएस राजकुमार गुप्ता को केकड़ी में ओएसडी पुलिस लगाया गया है.
– 2011 बैच के आईपीएस राजकुमार दौसा में एसपी की जिम्मेदारी निभा चुके हैं. साथ ही एसएसबी में भी वे एसपी रह चुके हैं.

अरशद अली:- 
– 2011 बैच के प्रमोटेड आईपीएस अधिकारी अरशद अली को सलूंबर में ओएसडी पुलिस पद का जिम्मा दिया गया है.
– अरशद अभी पुलिस आयुक्तालय में पुलिस उपायुक्त मुख्यालय पद पर हैं.
– अरशद अली के लिए ओएसडी के रूप में यह पहला जिला है क्योंकि इससे पूर्व अरशद किसी भी जिले में एसपी नहीं रहे हैं.

आलोक श्रीवास्तव:- 
– 2011 बैच के आईपीएस आलोक श्रीवास्तव उदयपुर, जयपुर और कोटा में एसपी ACB रह चुके हैं. इसके साथ ही वे SCRB में भी एसपी रह चुके हैं.
– हालांकि प्रमोटी आईपीएस आलोक का ओएसडी पुलिस के रूप में शाहपुरा पहला जिला होगा.

पूजा अवाना:- 
– 2012 बैच की आईपीएस पूजा अवाना प्रतापगढ़ और सिरोही जिलों में एसपी रह चुकी हैं.
– इसके साथ ही सीआईडी सीबी और जीआरपी में भी उन्होंने एसपी पद की जिम्मेदारी निभाई है.
– वे पुलिस कमिश्नरेट में डीसीपी यातायात और भरतपुर सिटी में सीओ भी रह चुकी हैं.
– अब अनूपगढ़ में ओएसडी पुलिस की भूमिका निभाएंगी पूजा.

विनीत कुमार बंसल:- 
– 2012 बैच के प्रमोटी आईपीएस विनीत बारां में SP का जिम्मा निभा चुके हैं.
– वे जोधपुर में डीसीपी मुख्यालय और यातायात  भी रह चुके हैं.
– अब फलोदी में ओएसडी पुलिस की भूमिका निभाएंगे

सुरेंद्र सिंह:- 
– 2013 बैच के प्रमोटेड आईपीएस सुरेंद्र सिंह दिल्ली आर ए सी में 12 वीं बटालियन में कमांडेंट पद पर कार्यरत हैं और उन्हें किसी जिले में एसपी पद का अनुभव नहीं है.
– ओएसडी पुलिस के रूप में खैरथल उनका पहला जिला होगा.

नरेंद्र सिंह:-
– 2013 बैच के प्रमोटी आईपीएस नरेंद्र किशनगढ़ अजमेर में पुलिस ट्रेनिंग सेंटर में प्रिंसिपल पद पर हैं और उनका किसी भी जिले में एसपी पद का या फील्ड का अनुभव नहीं है.
– ब्यावर में ओएसडी पुलिस के रूप में काम करने के लिए उनका पहला जिला होगा.

अनिल कुमार:- 
– 2014 बैच के आईपीएस अनिल कुमार प्रतापगढ़ में दो बार और दौसा,करौली में एक- एक बार एसपी पद की जिम्मेदारी निभा चुके हैं.
– साथ ही अलवर के भिवाड़ी  को शामिल कर लिया जाए तो वे अब तक चार जिलों में एसपी रह चुके हैं अभी वे साइबर क्राइम में एसपी हैं.
– उन्होंने कोटा में एसीबी में SP की जिम्मेदारी निभाई है.
– इससे पूर्व अलवर दक्षिण और अलवर ग्रामीण में वे ASP रह चुके हैं.
– उन्हें नीमकाथाना में ओएसडी पुलिस लगाया गया है.

शैलेंद्र सिंह इंदौलिया:- 
– 2017 बैच के आईपीएस शैलेंद्र करौली जिले में एसपी रह चुके हैं जबकि बीकानेर मुख्यालय चूरू सर्किल और अलवर के थानागाजी में वे ASP रह चुके हैं.
– उन्हें सांचौर में ओएसडी पुलिस बनाया गया है.

सुशील कुमार:- 
– 2019 बैच के आईपीएस सुशील कुमार को जिले में एसपी पद की जिम्मेदारी निभाने का अनुभव नहीं है हालांकि अलवर उत्तर में सुशील असिस्टेंट पुलिस अधीक्षक और अजमेर में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रह चुके हैं.
– उन्हें गंगापुर सिटी में ओएसडी पुलिस की जिम्मेदारी निभाने का मौका मिला है.

बृजेश ज्योति उपाध्याय:- 
– 2019 बैच के आईपीएस बृजेश ज्योति उपाध्याय भरतपुर ग्रामीण में सहायक पुलिस अधीक्षक और भरतपुर में अतिरिक्त एसपी पद पर काम कर चुके हैं.
– अभी तक उन्हें जिले में एसपी पद पर काम करने का अनुभव नहीं है अब बृजेश नए बनने वाले डीग जिले में ओएसडी पुलिस लगाए गए हैं.

रंजीता शर्मा:- 
– 2019 बैच की आईपीएस किसी भी जिले में एसपी नहीं रही हैं.
– रंजीता जोधपुर कमिश्नरेट में सहायक पुलिस कमिश्नर और उदयपुर में अतिरिक्त एसपी पद पर काम कर चुकी हैं.
– रंजीता अब नए बनने वाले जिले कोटपूतली -बहरोड में ओएसडी पुलिस बनाई गई हैं.

हरिशंकर:- 
– 2019 बैच के आईपीएस हरिशंकर को बालोतरा में ओएसडी पुलिस पद पर काम करने का जिम्मा मिला है.
– अभी तक किसी भी जिले में हरिशंकर को एसपी पद पर काम करने का अनुभव नहीं है.
– भीलवाड़ा में वे सहायक एसपी और बीकानेर में अतिरिक्त एसपी पद का जिम्मा निभा चुके हैं.

प्रवीण नायक नूनावत:- 
– 2019 बैच के आईपीएस प्रवीण को किसी भी जिले में एसपी पद का अनुभव नहीं है.
– वे कोटा के रामगंज मंडी में सहायक पुलिस अधीक्षक और पाली में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पद पर काम कर चुके हैं.

यह हैं दिलचस्प फैक्ट फाइल:- 
– इन 15 IPS में से नौ को किसी भी जिले में अधीक्षक रूप में काम करने का अनुभव नहीं है.
– इनमें से अनिल कुमार को 1 जिले में 2 बार और 2 जिलों में एक एक बार एसपी पद पर काम करने का अनुभव है. अलवर के भिवाड़ी में उनके निभाए SP पद को शामिल कर लिया जाए तो यह आंकड़ा और बढ़ जाएगा.
– पूजा अवाना को 2 जिलों में एसपी पद पर काम करने का अनुभव है तो वहीं राजेंद्र कुमार, शैलेंद्र सिंह इंदौलिया,विनीत कुमार बंसल और राजकुमार गुप्ता यानि 4 आईपीएस को 1-1 जिले में एसपी पद पर काम करने का अनुभव है.

आईएएस की तर्ज पर नए जिलों में आईपीएस को भी मौका देना गहलोत सरकार का नवाचार है और माना जा रहा है कि कोई अप्रिय घटना नहीं हुई तो विधिवत रूप से सीमांकन के बाद नया जिला बनने पर ये आईपीएस उसी जिले में एसपी बन जाएंगे.

Share This Article