बीकानेर

डॉ. सतीश पूनिया पर हुए हमले के खिलाफ कार्यवाही की मांग को लेकर बीकानेर भाजपा ने सौंपा ज्ञापन

बीकानेर । राजस्थान भाजपा प्रदेश अध्यक्ष और आमेर विधायक डॉ. सतीश पूनिया के कोटा प्रवास के दौरान रविवार को राष्ट्रीय राजमार्ग 52 पर बल्लोप के पास जयपुर लौटते समय कांग्रेस और उसके अग्रिम संगठनों के असामाजिक कार्यकर्ताओं द्वारा श्री पूनिया की गाडी को रोककर हमला, पत्थरबाजी और अभद्र व्यवहार की दुर्भाग्यपूर्ण और निंदनीय घटना के विरोध में भारतीय जनता पार्टी बीकानेर शहर और देहात पदाधिकारियों ने सोमवार को संयुक्त रूप से अतिरिक्त जिला कलेक्टर श्री बलदेवराम धोजक को राज्यपाल के नाम प्रेषित ज्ञापन सौंपकर दोषियों की शीघ्र गिरफ्तारी की मांग की ।

भाजपा देहात जिलाध्यक्ष ताराचंद सारस्वत, प्रदेश कार्यसमिति सदस्य डॉ. सत्यप्रकाश आचार्य, मुमताज अली भाटी की अगुवाई में दिए गए इस ज्ञापन के माध्यम से मांग की गई कि इस हमले की उच्च स्तरीय जांच करवाई जाए और इस घटना में लिप्त कांग्रेस के लोगों को तुरन्त गिरफ्तार कर सख्त कार्यवाही की जाए ।

देहात जिलाध्यक्ष ताराचंद सारस्वत ने कहा कि भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया के नेतृत्व में भाजपा द्वारा रीट के 16 लाख बेरोजगार निर्दोष युवाओं के लिए न्याय की मुखर आवाज उठाने पर सरकार में बैठे प्रभावशाली लोगों का संरक्षण प्राप्त कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा यह हमला किया गया है।  इस तरह की घटना राजस्थान की संस्कृति के विरुद्ध है और  ऐसा लगता है कि कांग्रेस से जुड़े हुए उद्दंड और हिंसा पर उतारू लोग भाजपा को सरकार की जनविरोधी नीतियों की खिलाफत करने व जनता की आवाज उठाने से रोकना चाहते हैं जिसे जनहित में भाजपा की सरकार नहीं करेगी।

प्रदेश कार्यसमिति सदस्य और पूर्व जिलाध्यक्ष डॉ. सत्यप्रकाश आचार्य ने कहा कि रीट परीक्षा धांधली मामले में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां के नेतृत्व में भाजपा की चुनौती से चौतरफा घिरी कांग्रेस पार्टी और उसके अग्रिम संगठन के कार्यकर्ताओं ने अपनी बौखलाहट दिखाते हुए श्री पूनिया की गाड़ी पर पथराव करवाकर अपनी नीयत, नीति और ओछी राजनीति का परिचय दिया है। प्रदेश में कुप्रबंधन और कुशासन जैसे मुद्दों के साथ रीट परीक्षा में बड़े स्तर पर हुई धांधली के लिए जिम्मेदार कांग्रेस इस अराजकता के माध्यम से जनता की आवाज नहीं दबा पाएगी।

प्रदेश कार्यसमिति सदस्य मुमताज अली भाटी ने कहा कि जब प्रदेश में प्रमुख विपक्षी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष और निर्वाचित जनप्रतिनिधि सुरक्षित नहीं है तो सामान्य नागरिक की सुरक्षा का क्या होगा । उन्होंने कहा कि कांग्रेस का यह तानाशाहीपूर्ण रवैया स्वस्थ लोकतांत्रिक व्यवस्थाओं के लिए किसी भी प्रकार से उचित नहीं ठहराया जा सकता।

जिला महामंत्री मोहन सुराणा, कुम्भनाथ सिद्ध और जिला उपाध्यक्ष अशोक प्रजापत ने कहा कि जनविरोधी कांग्रेस सरकार अपने कुशासन, बढ़ते अपराधों और रीट धांधली सहित विभिन्न मुद्दों पर प्रदेश की जनता की आवाज और विरोध को इस प्रकार के हथकंडों और गुंडागर्दी के माध्यम से दबाना चाहती है जिसे भाजपा कतई बर्दाश्त नहीं करेगी ।

जिला मंत्री और मीडिया प्रभारी मनीष आचार्य ने बताया कि स्वर कोकिला, भारत रत्न लता मंगेशकर के निधन के कारण घोषित राष्ट्रीय शोक के कारण पार्टी कार्यकर्ताओं द्वारा शांतिपूर्ण माहौल में बिना किसी नारेबाजी के ज्ञापन दिया गया और भाजपा पदाधिकारियों द्वारा दो मिनट का मौन रखकर सुर साम्राज्ञी लता दीदी को श्रद्धांजलि भी अर्पित की गई ।

ज्ञापन देने वाले प्रतिनिधिमंडल में देहात जिलाध्यक्ष ताराचंद सारस्वत, प्रदेश कार्यसमिति सदस्य डॉ. सत्यप्रकाश आचार्य,  मुमताज अली भाटी, मोहन सुराणा, कुम्भनाथ सिद्ध, अशोक प्रजापत, मनीष आचार्य, कौशल शर्मा, अरविन्द चारण, मो. रमजान अब्बासी, चम्पालाल गेधर, श्यामसुंदर पंचारिया, राजाराम  सीगड़ , श्यामसुंदर चौधरी, वेद व्यास, जसराज सिंवर, सोहनलाल चांवरिया, नरसिंह सेवग, दिनेश महात्मा, भवानी पाईवाल, इमरान समेजा, मूलचंद मारू,अशोक नाई, विमल पारीक, गोपाल चौधरी, मुकेश रावत, रामदयाल सोनी इत्यादि कार्यकर्ता शामिल रहे ।

What's your reaction?