बीकानेर:एलिवेटेड रोड पर विवाद, पढे पूरी खबर

बीकानेर:एलिवेटेड रोड पर विवाद, पढे पूरी खबर  बीकानेर:एलिवेटेड रोड पर विवाद, पढे पूरी खबर aalivated

 बीकानेर । एलिवेटेड रोड प्रोजेक्ट विवाद में फंसने से जिला प्रशासन ने अब कोयला गली में अंडरपास की योजना पर काम शुरू किया है। इसकी डीपीआर बनाने के लिए कमेटी गठित करने का निर्णय लिया गया है। यूआईटी की शुक्रवार को हुई मीटिंग में न्यास अध्यक्ष नमित मेहता ने अंडरपास प्रोजेक्ट को हरी झंडी दे दी।

बीकानेर:एलिवेटेड रोड पर विवाद, पढे पूरी खबर prachina in article 1

कोटगेट रेलवे फाटक की समस्या से निजात पाने के लिए 2016 में एलिवेटेड रोड प्रोजेक्ट अस्तित्व में आया था, लेकिन राजनीति में उलझकर रह गया। अभी ये मामला हाईकोर्ट में लंबित है। अब इसके समाधान के लिए अंडरपास का निर्माण किया जाएगा।

यह अंडरपास कोयला गली से रेलवे स्टेशन की तरफ बनेगा। इसकी डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार करने के लिए सार्वजनिक निर्माण विभाग, नगर विकास न्यास, आरयूआईडीपी के एसई तथा रेलवे अभियंताओं की कमेटी बनाई जाएगी। मेहता ने यूआईटी अभियंताओं से कहा है कि वे रेलवे के अधिकारियों से मिलकर निर्माण में आने वाली कठिनाइयों का समाधान करें।

इसके साथ ही नेशनल हाइवे जोधपुर-जयपुर बाईपास चौराहे से सर्किट हाउस तक तथा एनएच 89, उदरामसर तिराहे से गोगागेट सर्किल तक सड़क का चौड़ीकरण होगा। यूआईटी ने अपनी विभिन्न आवासीय एवं व्यावसायिक योजना के भूखंडों की नीलामी की नई दरें तय करने के लिए 7 सदस्यीय कमेटी का गठन किया है।

वर्तमान में नीलामी दर आरक्षित दर से अधिक है। इस वजह से भूखंडों की नीलामी नहीं हो पा रही है। लेखाधिकारी, विधि सलाहकार, तहसीलदार, उप नगर नियोजक संबंधित योजना का अधिशासी अभियंता, जोन प्रभारी अधिकारी और कार्यालय अधीक्षक की कमेटी दरों का निर्धारण करेगी।

कृष्णा विहार किसमीदेसर में भूखंडों की नीलामी की जाएगी। विभिन्न कॉलोनियों में बने सामुदायिक भवन लीज पर देने की भी कार्य योजना बनेगी। इसके लिए एक कमेटी का गठन किया जाएगा। सामुदायिक भवन कम से कम 5 वर्ष और अधिकतम 10 वर्ष के लिए दिए जाएंगे।

बिना अनुमति सड़क तोड़ने पर जलदाय विभाग पर पैनल्टी लगेगी : जलदाय विभाग को पाइप लाइन बिछाने का काम करने से पहले यूआईटी से सड़क तोड़ने की अनुमति लेनी होगी। न्यास अध्यक्ष ने कहा कि बिना अनुमति सड़क तोड़ने पर जलदाय विभाग से पैनल्टी वसूली जाएगी। साथ ही एफआईआर भी दर्ज होगी। अध्यक्ष ने न्यास की भूमि पर अतिक्रमण चिह्नित कर तोड़ने के भी निर्देश दिए है‌ं। संबंधित अभियंताओं की जिम्मेदारी तय करते हुए मेहता ने अतिक्रमण की सूचना तत्काल अतिक्रमण दस्ते को देने के लिए पाबंद किया है।

114.65 करोड़ का बजट पारित
नगर विकास न्यास ट्रस्ट की बैठक में वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए 114.65 करोड़ के अनुमानित आय-व्यय का बजट पास किया गया। बजट में 34 करोड़ 25 लाख रुपए योजना क्षेत्र में, 27 करोड़ 87 लाख रुपए आयोजन क्षेत्र में और इसी तरह तीन करोड़ 75 लाख रुपए कच्ची बस्ती के लिए रहेंगे।

न्यास अध्यक्ष ने अधिकारियों से कहा कि वे वित्तीय वर्ष में 40 करोड़ रुपए की आय अर्जित करने के लिए भूखंडों की नीलामी की कार्य योजना बनाएं। बैठक में बताया गया कि न्यास द्वारा पिछले एक माह में विभिन्न व्यावसायिक और आवासीय कॉलोनी में भूखंड की बिक्री से 5 करोड़ रुपए की आय अर्जित की है।

मेहता ने कहा कि 40 लाख रुपए की लागत से भ्रमण पथ पर एक एडवेंचर पार्क भी विकसित किया जाए। इसका भी तकमीना बनाकर शीघ्र प्रस्तुत करें। बैठक में सचिव नगर विकास न्यास मेघराज सिंह मीणा, एसई संजय माथुर, लेखाधिकारी धर्मेंद्र शर्मा सहित पीडब्लूडी, पीएचईडी, बीकेईसीएल आदि के अभियंता मौजूद थे।

COMMENTS