Bikaner : सड़क हादसे में मारे गए पिता की चिता जली, इधर बेटे की किलकारी गूंजी

Bikaner : सड़क हादसे में मारे गए पिता की चिता जली, इधर बेटे की किलकारी गूंजी  Bikaner : सड़क हादसे में मारे गए पिता की चिता जली, इधर बेटे की किलकारी गूंजी udr

बीकानेर। बीछवाल थाना क्षेत्र के पेमासर के पास हुए सड़क हादसे में मारे गए कांस्टेबल की जिस समय चिता जल रही थी ठीक उसी समय उसके घर बेटे की किलकारी गूंजी। माहौल इतना गमगीन था कि नए मेहमान की किलकारी सिसकियों के शोर में दबकर रह गई। पिता की और बेटे के जन्म की जिसने खबर सुनी वह अपने आंसुओं को रोक नहीं पाया। पुलिस महकमे में शोक-सा छा गया।

Bikaner : सड़क हादसे में मारे गए पिता की चिता जली, इधर बेटे की किलकारी गूंजी prachina in article 1

पूगल एसएचओ महावीर प्रसाद एवं दंतौर निवासी हाल पूगल पुलिस थाने में पदस्थापित कांस्टेबल काशीराम जाट की बुधवार देररात को सड़क हादसे में मौत हो गई। पुलिस अधिकारी और कांस्टेबल की मौत ने सबको झकझोर कर रख दिया, जिसने भी हादसे के बारे में सुना स्तब्ध रह गया। दोपहर को शवों का पोस्टमार्टम कराकर गांव के लिए रवाना किए गए। कांस्टेबल काशीराम का शव गांव पहुंचा तो पूरा गांव रो पड़ा। इससे भी गहरा दुख लोग को जब हुआ जब शमशान में काशीराम की चिता जल रही थी और खबर मिली कि काशीराम की पत्नी ने बीकानेर के पीबीएम अस्पताल में बेटे को जन्म दिया है। तब वहां मौजूद हर व्यक्ति की आंखें नम हो गई।

दूसरी शादी से छह साल बाद हुआ था बेटा काशीराम की पहली पत्नी मौत हो गई थी। पहली पत्नी से दो बेटे हैं। इसके बाद काशीराम ने वर्ष २०१४ में दूसरी शादी कर ली। दूसरी पत्नी को छह साल बाद गुरुवार शाम को बेटा हुआ लेकिन नियती को कौन टाल सकता है। काशीराम अपने बेटे को गोद में खिलाए बिना ही इस दुनिया से रुखसत हो गया। घर वालों ने उसकी पत्नी को इस हादसे के बारे में अभी तक अवगत नहीं कराया है। काशीराम अपने पांच भाई बहिनों में सबसे बड़ा था। छोटा भाई खेती का काम करता है। तीन बहिने है जो शादीशुदा हैं।

Bikaner : सड़क हादसे में मारे गए पिता की चिता जली, इधर बेटे की किलकारी गूंजी fckashiram 6434236 835x547 m 400x262

COMMENTS