भाजपा ने बिजली के बिल माफ करने को लेकर गहलोत सरकार पर साधा निशाना

भाजपा ने बिजली के बिल माफ करने को लेकर गहलोत सरकार पर साधा निशाना  भाजपा ने बिजली के बिल माफ करने को लेकर गहलोत सरकार पर साधा निशाना bhajapa

जयपुर। राजस्थान में बिजली की दरों में बढ़ोतरी के खिलाफ और चार माह के बिल माफ करने सहित विभिन्न मांगों को लेकर भाजपा ने गुरुवार को प्रदेशभर में विरोध दर्ज कराया। भाजपा ने इसे “हल्ला बोल” कार्यक्रम नाम दिया। भाजपा नेताओं व कार्यकर्ताओं ने जिला कलेक्टरों को ज्ञापन देकर कहा कि किसान बेहाल है, आम आदमी बिजली के बढ़ी दरों से परेशान है। कोरोना महामारी के कारण परेशान लोगों के सामने रोजगार का संकट उत्पन्न हो गया, इस कारण चार माह के बिल माफ होने चाहिए। प्रदेश में बढ़ते अपराधों को सरकार की लचर कानून-व्यवस्था की संज्ञा दी गई। कोरोना संक्रमित हो चुके भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया और उप नेता राजेंद्र राठौड़ ने ट्वीट कर राजस्थान सरकार पर जमकर हमले किए।

भाजपा ने बिजली के बिल माफ करने को लेकर गहलोत सरकार पर साधा निशाना prachina in article 1

पूनिया ने लिखा कि कोरोना त्रासदी से भयंकर आर्थिक बोझ में दबे आमजन, व्यापारी, किसान को बिजली का करंट देकर क्यों मार रहे हो जादूगर। त्रस्त जनता पूछ रही है आपकी सरकार से कब होगा न्याय। वहीं, राठौड़ ने ट्वीट किया कि विधानसभा चुनाव के दौरान ‘अब होगा न्याय’ का नारा देने वाली कांग्रेस आज 20 माह बाद भी हर मोर्चे पर विफल ही साबित हो रही है। अब कांग्रेस सरकार से त्रस्त प्रदेश का हर नागरिक चीख-चीख कर पूछ रहा है कि कब होगा न्याय ? प्रदेश के 33 में से 32 जिलों में टिड्डी दलों के हमले से किसानों की फसलें पूरी तरह चौपट हो गई।

वहीं, कांग्रेस सरकार हाथ पर हाथ धरे बैठी रही और रोकथाम के लिए कोई कदम नहीं उठाए। टिड्डी हमलों के आतंक का दंश झेलने वाला हर किसान आर्थिक सहायता को लेकर सरकार से पूछ रहा है कब होगा न्याय। राठौड़ ने लिखा कि कांग्रेस सरकार का जन घोषणा पत्र में बिजली दरों में बढ़ोतरी नहीं करने का वादा गलत साबित हुआ है। कोरोना में आर्थिक संकट से जूझ रहे आमजन को राहत देने की बजाय बिजली का करंट देने वाली सरकार जवाब दें। सांसद ने ट्वीट में लिखा कि बिजली के बिलों में भारी बढ़ोतरी व स्कूल ड्रेस बदलना तो बस बहाना है, आमजन, किसान व औद्योगिक इकाइयों पर कोरोना महामारी के संकट के समय भी आर्थिकभार बढ़ाना है।

COMMENTS