बीकानेरराजस्थान

राजस्थान के इन 28 अस्पतालों में हो सकेगा Black fungus का उपचार

Jaipur : चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने प्रदेश में म्यूकोरमायकोसिस के बढ़ते मामलों को देखते इसके उपचार के लिए अधिकृत अस्पतालों का दायरा बढ़ाकर 25 से 28 कर दिया ​है. उन्होंने कहा कि आज प्रदेश के 3 अन्य अस्पतालों को भी इलाज के लिए अधिकृत किया गया है.

राज्य में ब्लैक फंगस के लिए अधिकृत अस्पतालों की संख्या शुरुआत में 20 थी. मरीजों के अनुपात में अस्पतालों की संख्या में बढ़ोतरी करते हुए इन्हें 25 किया. मरीजों को आसपास के क्षेत्र में ब्लैक फंगस के उपचार की सुविधा के लिए आज राजस्थान स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय दंत विज्ञान महाविद्यालय, जयपुर, निम्स हॉस्पिटल, जयपुर और महावीर ईएनटी हॉस्पिटल, कोटा को भी अधिकृत किया है. उन्होंने बताया कि अब प्रदेश के 28 अस्पतालों में मरीज ब्लैक फंगस का इलाज निर्धारित दरों पर करवाया जा सकता है.

इन 28 अधिकृत अस्पतालों में ही किया जा सकेगा उपचार
चिकित्सा मंत्री ने बताया कि ब्लैक फंगस के उपचार के लिए लिए प्रदेश कि 28 अस्पतालों को ही अधिकृत किया गया है. इनमें सवाई मानसिंह मेडिकल कॉलेज, जयपुर, राजकीय रूकमणी देवी बेनी प्रसाद जयपुरिया अस्पताल, जयपुर, राजकीय मेडिकल कॉलेज, जोधपुर, एम्स, जोधपुर, जे.एल. एन. मेडिकल कॉलेज, अजमेर, आर. एन. टी. मेडिकल कॉलेज, उदयपुर, राजकीय मेडिकल कॉलेज, बीकानेर, राजकीय मेडिकल कॉलेज, कोटा, राजकीय मेडिकल कॉलेज, भीलवाडा,  महात्मा गांधी मेडिकल कॉलेज, जयपुर, गीतांजली मेडिकल कॉलेज, उदयपुर, जैन ई. एन. टी. अस्पताल, जयपुर, नारायण हृदयालय अस्पताल, जयपुर, सी.के.एस. हॉस्पिटल, जयपुर, सोनी हॉस्पिटल, जयपुर, सिद्धम ई.एन. टी. हॉस्पिटल, जयपुर, देशबन्धू ई.एन.टी. हॉस्पिटल, जयपुर, विजय ई.एन.टी. हॉस्पिटल, अजमेर, श्रीराम हॉस्पिटल, जोधपुर, वैजयन्ती हॉस्पिटल, अलवर, मेडिकल कॉलेज, भरतपुर, पेसिफिक मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल, उदयपुर, जीबीएच अमरीकन हॉस्पिटल, उदयपुर, चिरायु हॉस्पिटल, जयपुर और अपेक्स हॉस्पीटल, जयपुर, राजस्थान स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय दंत विज्ञान महाविद्यालय, जयपुर, निम्स हॉस्पिटल, जयपुर और महावीर ईएनटी हॉस्पिटल, कोटा शामिल हैं.

What's your reaction?