पाकिस्तान से लगे राजस्थान के सरहदी इलाके में बम धमाका

पाकिस्तान से लगे राजस्थान के सरहदी इलाके में बम धमाका  पाकिस्तान से लगे राजस्थान के सरहदी इलाके में बम धमाका rajasthanb

पाकिस्तान से लगे राजस्थान के सरहदी इलाके में बम धमाका mr bika fb post

राजस्थान के बाड़मेर (Barmer) के एक गांव में ग्रेनेड के धमाके की गूंज दूर तक सुनाई दी. जबकि कई किलोमीटर तक सुनाई दी इस धमाके की गूंज से हर कोई अचंभित नजर आया. दरअसल बाड़मेर के जैसिंधर गांव मे बीते महीने मिले जिंदा हैंड ग्रेनेड बम का शनिवार को आर्मी (Army) और पुलिस ने डिस्पोजल किया है. केंद्रीय विद्यालय जैसिंधर के पास मिले इस हैंड ग्रेनेड बम का सेना प्रोटोकॉल के बीच निस्तारण किया गया.

पाकिस्तान से लगे राजस्थान के सरहदी इलाके में बम धमाका prachina in article 1

सेना के मेजर शारश्वत शुक्ला के नेतृत्व मे गडरारोड पुलिस थानाधिकारी ओमप्रकाश मय जाब्ता इस पूरी प्रक्रिया के दौरान मौजूद रहे. आपको बता दें कि बीते 17 मार्च को NEWS18 ने “एक बम विद्यालय बेदम ” शीर्षक से प्रमुखता से खबर प्रसारित की थी. जिसके बाद सेना ने पुलिस के साथ मिलकर हेड ग्रेनेड बम का निस्तारण किया है. इस पूरी प्रक्रिया में हेड कांंस्टेबल तिरलोक सिंह एव सुरेन्द्र सिंह की अहम भूमिका रही.

कर रहे थे निगरानी
बीते एक माह से बम की निगरानी में दोनों कांंस्टेबल पहरा दे रहे थे. बम का निस्तारण करने से पहले सेना प्रोटोकॉल के तहत आसपास के इलाके को खाली करवाया गया और लोगों के लिए निस्तारण क्षेत्र में विचरण पर पाबंदी लगा दी गई. सेना के विशेषज्ञ की देखरेख में यह पूरी प्रक्रिया पूरी की गई है. अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक नरपत सिंह के मुताबिक करीब एक माह से बम विद्यालय में पुलिस निगरानी में पड़ा था. आज मिलिट्री के साथ गडरारोड पुलिस ने हैड ग्रेनेड बम का निस्तारण किया गया है. पुलिस ने संबंधित विभाग को बम निस्तारण के लिए पत्र भी लिखे हैं लेकिन करीब एक माह बाद आज हैड ग्रेनेड बम का निस्तारण किया गया है.
पुलिस अधीक्षक नरपत सिंह ने बताया कि भारत और पाकिस्तान के बीच साल 1965, 1971 और साल 1999 के ऑपरेशन पराक्रम के वक़्त काम मे लिए गए बम और बिछाई गई लेंड माईनस अभी भी कई जगहों पर जमीन में है. युद्ध के दौरान कई बम नही फटे थे और वह आज भी सरहदी जिलों के खेतों में निकलते रहते हैं.

COMMENTS