राजस्थान में 1 सितंबर से चलेगा अवैध शराब के लिए अभियान

राजस्थान में 1 सितंबर से चलेगा अवैध शराब के लिए अभियान  राजस्थान में 1 सितंबर से चलेगा अवैध शराब के लिए अभियान rajasthan abhiyan shraab

जयपुर: राजस्थान में अवैध शराब पर पूरी तरह लगाम लगाने के लिए आबकारी विभाग 1 सितंबर से 20 सितंबर तक अभियान चलाएगी जिसमें अफसरों की जिम्मेदारी तय कर दी गई है. अभियान के दौरान फील्ड अधिकारियों और कर्मचारियों के अवकाश निरस्त कर दिए गए हैं. आबकारी आयुक्त जोगाराम ने इस संबंध में विस्तृत दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं.

राजस्थान में 1 सितंबर से चलेगा अवैध शराब के लिए अभियान prachina in article 1

आबकारी आयुक्त जोगाराम का लगातार फोकस है कि प्रदेश में अवैध शराब पर पूरी तरह से लगाम लग सके. बीते दिनों उनके निर्देशो के बाद प्रदेशभर में कई जगह बड़ी कार्रवाई भी हुई है. अब आबकारी विभाग 1 सितंबर से 20 सितंबर तक अवैध शराब की शून्य उलब्धता के लिए विशेष निरोधात्मक अभियान शुरु करने जा रहा है. जारी आदेशों के अनुसार हर जोन के अतिरिक्त आयुक्त को इस अभियान का प्रभारी बनाया गया है.

अभियान को सफल बनाने के लिए आबकारी विभाग अपने दस्ते के साथ ही स्थानीय पुलिस, स्थानीय प्रशासन और जिला प्रशासन का सहयोग भी लेगा. अभियान को सफल बनाने के लिए आबकारी आयुक्त ने अतिरिक्त आयुक्तों को अपने प्रभार वाले जिलों का दौरा कर अभियान को सफल बनाने के भी निर्देश दिए हैं.

अभियान को सफल बनाने के लिए प्रभारी अधिकारियों की जिम्मेदारी तय की गई है. अगर किसी जिले में अभियान को लेकर अच्छा प्रदर्शन नहीं हुआ तो आबकारी अधिकारियों की जिम्मेदारी तय की जाएगी. जिला आबकारी अधिकारियों को भी कार्रवाई दल की अगुवाई करने के निर्देश दिए गए हैं. आबकारी आयुक्त अपने स्तर पर रोज अभियान की मॉनिटरिंग करेंगे.

आबकारी आयुक्त जोगाराम ने बताया कि विभाग की कोशिश है कि प्रदेश में अवैध शराब के कारोबार पर जीरो टॉलरेंस की पॉलिसी से काम किया जाए. अवैध शराब से एक ओर विभाग को जहां राजस्व का नुकसान हो रहा तो दूसरी तरफ कई बार अवैध शराब से लोगों को अपनी जान भी गंवानी पड़ती है.

हाल ही में पंजाब में अवैध शराब के कारण बहुत लोगों की मौत हुई है. 1 से लेकर 20 सितंबर तक चलने वाले इस विशेष अभियान को लेकर विभाग ने पड़ोसी राज्यों हरियाणा और पंजाब से आने वाली अवैध शराब, हथकड़ शराब और वाश पर विशेष निगरानी कर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं. अतिरिक्त आबकारी आयुक्त आबकारी निरोधक दल उदयपुर को इस अभियान का प्रभारी अधिकारी बनाया गया है.

COMMENTS