बीकानेर

आकाशा में उडे म्हारो चंदो लखमीनाथ म्हारी सहाय करें के साथ मनाया गया चंदा महोत्सव

बीकानेर। बीकानेर नगर के 535वें स्थापना दिवस पर श्री लक्ष्मी नाथ मंदिर विकास एवं पर्यावरण समिति द्वारा जिला प्रशासन तथा नगर विकास न्यास के सहयोग से लक्ष्मीनाथ मंदिर परिसर में चंदा उत्सव मनाया गया। इस दौरान आमजन तथा अतिथियों ने चंदा उड़ाकर बीकानेर नगर के खुशहाली की कामना की। अपनी पुरानी परंपरा को निभाते हुए अतिथियों ने

आकाशां में उड़े म्हारो चंदो-लखमीनाथ मारी सहाय करें
सदा खुशहाली रेवे शहर में -अन्न धन रो भंडार भरे तथा गवरा दादी पून दे-टाबरियो रो चंदो उड़े गीत गाकर चंदे उड़ाये।
कार्यक्रम संयोजक श्रीरतन तंबोली ने बताया कि कार्यक्रम के मुख्य अतिथि संभागीय आयुक्त डॉ. नीरज के. पवन तथा विशिष्ट अतिथि जिला कलेक्टर भगवती प्रसाद कलाल, एचसीएम रीपा के अतिरिक्त निदेशक अरुण प्रकाश शर्मा, यशपाल गहलोत , जिला उद्योग संघ के अध्यक्ष डी पी पचीसिया ने चंदा उड़ाया। इस दौरान चंदा कलाकारों ब्रजेश्वर व्यास ,अनिल बोड़ा ,कृष्ण चंद्र पुरोहित, भंवर लाल व्यास, पेंटर धर्मा, गणेश लाल व्यास, परमेश्वर लाल व्यास महावीर सुथार, चंद्रमोहन हर्ष, अभिषेक बोड़ा, निर्मल सुथार, मोहित पुरोहित, तुषार आचार्य, जय किशन आचार्य, राम कुमार भादाणी, कमल जोशी आदि का स्मृति चिन्ह देकर सम्मान किया गया।
इस अवसर पर संभागीय आयुक्त ने कहा कि बीकानेर की संस्कृति और यहां की परंपरा अपने आप में मिसाल है और यहां के चंदा कलाकारों में अपनी कला के माध्यम से इस संस्कृति को जीवित रखने का प्रयास किया है।
चंदा कलाकारों ने बेटी- बचाओ ,बेटी -पढ़ाओ ,बाल विवाह रोकने, पर्यावरण संरक्षण, नगर में खुशहाली की कामना करने, बीकानेर की विभिन्न समस्याओं तथा बीकानेर की रियासत कालीन गौरव के संदेश देने वाले चंदे उड़ाए।अतिथियों का स्वागत श्रीरतन तंबोली, अशोक सोनी, मनोज सेवग ,विनोद महात्मा, हरि प्रकाश सोनी, धीरज जैन, शिव प्रकाश सोनी, घनश्याम महात्मा ने किया।

What's your reaction?