बीकानेर में शादी समारोह को लेकर कलेक्टर ने उठाया ये बड़ा कदम

बीकानेर में शादी समारोह को लेकर कलेक्टर ने उठाया ये बड़ा कदम  बीकानेर में शादी समारोह को लेकर कलेक्टर ने उठाया ये बड़ा कदम bikaner wedding 1

बीकानेर। राज्य सरकार ने कोरोना संक्रमण से सर्वाधिक प्रभावित जिला मुख्यालयों में रात्रिकालीन कफ्र्यू लगाने का निर्णय लिया है। इस महामारी से जीवन की रक्षा करने के महत्वपूर्ण उद्देश्य से यह किया गया है।
इस संबंध में जिला कलक्टर नमित मेहता ने जिला पुलिस अधीक्षक, प्रशासनिक अधिकारियों और पुलिस अधिकारियों के साथ रविवार को कलेक्ट्रेट सभागार में महत्वपूर्ण बैठक की । उन्होंने  कहा कि कोविड-19 संक्रमण रोकने के लिए जिला मुख्यालय पर नाइट कफ्र्यू लगाया गया है। उन्होंने कहा कि नाइट कफ्र्यू,  शादी-ब्याह में अधिकतम 100 लोगों के शामिल होने, सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क लगाने सहित अन्य दिशा-निर्देशों की जमीनी स्तर पर सख्ती से पालना सुनिश्चित की जाए।  समारोह में 100 से अधिक लोग होने पर जुर्माना लगाया जाएगा ।

बीकानेर में शादी समारोह को लेकर कलेक्टर ने उठाया ये बड़ा कदम prachina in article 1

विवाह समारोह में अनिवार्य होगी वीडियोग्राफी

कोरोना संक्रमण रोकथाम के मद्देनजर जारी एक अन्य आदेश में विवाह संबंधी आयोजन में आमंत्रित मेहमानों की संख्या को प्रतिबंधित करते हुए इसकी सीमा 100 तय की गई है। समारोह में कोरोना एडवाइजरी की पूरी अनुपालना के साथ-साथ विवाह समारोह के आयोजनकर्ता को समारोह की अनिवार्य रूप से वीडियोग्राफी करानी होगी। साथ ही जिला कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट द्वारा भी आवश्यकता महसूस होने पर एक टीम गठित कर विवाह समारोह की वीडियोग्राफी करवाई जा सकती है। आदेश में बताया गया है कि यदि वीडियोग्राफी के अवलोकन में समारोह में निर्धारित  से अधिक मेहमान उपस्थित पाए गए तो संबंधित के विरूद्ध नियमानुसार कड़ी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

किसी भी आयोजन में 100 से अधिक व्यक्तियों को नहीं मिलेगी अनुमति

कोरोना संक्रमण रोकथाम के मद्देनजर जारी नई गाइडलाइन के अनुसार किसी भी व्यक्ति ,संस्था ,संगठन द्वारा सामाजिक, राजनीतिक, खेल, मनोरंजन, शैक्षणिक, सांस्कृतिक , धार्मिक , सार्वजनिक जन कार्यक्रम के संबंध में जिला कलेक्टर और जिला मजिस्ट्रेट द्वारा ही अनुमति दी जाएगी। ऐसे किसी भी आयोजन में 100 से अधिक लोग शामिल नहीं हो सकेंगे। आयोजन में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना अनिवार्य होगा, साथ ही नो मास्क नो एंट्री की सख्ती से पालना सुनिश्चित करवाई जाएगी । ऐसे सभी समारोह में स्क्रीनिंग और स्वच्छता के सभी इंतजाम करने अनिवार्य होंगे और कुर्सियां ,रेलिंग सहित मानव संपर्क में आने वाले स्थानों की बार-बार सफाई की जाएगी।

COMMENTS