कोरोना के विरूद्ध जन आंदोलन को लेकर कलेक्टर ने की बैठक

कोरोना के विरूद्ध जन आंदोलन को लेकर कलेक्टर ने की बैठक  कोरोना के विरूद्ध जन आंदोलन को लेकर कलेक्टर ने की बैठक IMG 20201001 WA0113

बीकानेर। जिला कलेक्टर नमित मेहता ने कहा कि एक माह तक पूरा जिला एक टीम के रूप में कार्य करते हुए आमजन को समझाईश करेगा कि बिना मास्क के हमें नहीं रहना है और कोरोना एडवाइजरी की पालना करनी है। इसके लिए सभी स्वयंसेवी संस्थाएं प्रशासन के साथ उसी तरह लगी रहे जिस तरह से लॉकडाउन के दौरान जरूरतमंद व्यक्ति को भोजन और राशन उपलब्ध करवाया था।
नगर विकास न्यास सभागार में गुरूवार को स्वयं सेवी संस्थाओं और भामाशाह के साथ बैठक में लोगों का जीवन बचाने के लिए आयोजित बैठक में 2 अक्टूबर से शुरू हो रहे ‘कोरोना के विरूद्ध जन आंदोलन’ को सफल पर चर्चा हुई।
जिला कलक्टर से हुई चर्चा के दौरान बीकानेर की 32 स्वयंसेवी संस्था और भामाशाहों ने एक स्वर में कहा कि वह अपने पूरे वॉलिंटियर्स टीम के साथ बीकानेर से कोरोना मिटाने की जंग में कंधे से कंधा मिलाकर साथ हैं, चाहे संसाधन उपलब्ध करवाने हो या आर्थिक मदद की जरूरत हो बीकानेर शहर अपने भाईचारे की परम्परा निभाते हुए इस संकट के समय एकजुटता में कोई कमी नहीं आने देगा, आमजन को समझाइश करते हुए सरकार का यह संदेश आम लोगों के जहन में बैठा देगा कि बिना मास्क के हमें घर से बाहर नहीं निकलना है।स्वयं सेवी संस्थाओं के प्रतिनिध और भामाशाहों ने कहा कि जिला प्रशासन जब भी कोरोना महामारी की जंग में  हमें आवाज देगा  हम आपके साथ खड़े नजर आएंगे।
जिला कलक्टर मेहता ने  कहा कि  कोरोना जैसी बीमारी को हराने के लिए मास्क ही एक  महत्वपूर्ण  हथियार है, अगर हमने इसका उपयोग कर लिया तो वह दिन दूर नहीं होगा  जब बीकानेर में  कोरोना पर पूर्ण कंट्रोल कर लिया जाएगा। अगर सभी लोग जागरूक हो जाएं हम इस बीमारी पर प्रभावी अंकुश लगाने से कामयाब हो जायेंगे।
जिला कलक्टर ने कहा कि बीकानेर बेहतर स्थिति में पहुंचेगा, आपका सहयोग इसी तरह रहा तो कोई भी नहीं रोक सकेगा, जब बीकानेर कोरोना की रोकथाम में अव्वल स्थान पर आ जाएगा। उन्होंने कहा कि कोरोना के विरूद्ध जन आंदोलन में हम सबको मिलकर काम करना है।  इसमें पार्टी और समाज से ऊपर उठकर हम सबकों कार्य करना होगा, हम सबको मिलकर बीकानेर जिले को यह प्रेरणा देनी होगी कि  इस बीमारी का सही इलाज मास्क पहनना, भीड़-भाड़ से बचना ही है।  तभी हम इस पर प्रभावी अंकुश लगा सकेंगे। प्रशासन और सरकार अपने स्तर पर बेहतर कार्य कर रहा है। अगर सभी स्वयंसेवी संस्थाएं भी इस कार्य में एक बार फिर पूरे जोश और विश्वास के साथ लग जाएगी तो हम आमजन को समझाने में सफल हो पाएंगे । उन्होंने कहा बीकानेर की विशेषता रही है की प्रशासन की बात को जनता गंभीरता से लेती है।
बैठक में डॉ तनवीर मलावत ने कहा कि वर्तमान में पंचायती राज संस्थाओं के चुनाव हो रहे हैं, ऐसे में जो भी पंच-सरपंच चुनाव जीतता है वह यह शपथ ले कि वह अपने क्षेत्र में मास्क लगाने के लिए आम लोगों को प्रेरित करेगा। साथ ही अगर नुक्कड़ नाटकों के माध्यम से लोगों में जनजागृति लाई जाए तो उसके बेहतर परिणाम आएंगंे। रेड क्रॉस सोसाइटी के विजय खत्री ने कहा कि शहर के प्रमुख स्थानों पर पब्लिक ऐड्रेस सिस्टम के माध्यम से आमजन को जागरूक किया जा सकता है। मोहन सुराणा ने कहा कि सभी व्यापारिक संगठन यह सुनिश्चित करें कि किसी भी ग्राहक को बिना मास्क लगाए आने पर वह किसी तरह की लेनदेन नहीं करेंगे। सत्यप्रकाश आचार्य ने कहा कि हम लोगों को अब एक दूसरे को टोकने की हिम्मत करनी होगी कि मास्क लगाएं, नहीं तो बातचीत ना करें।
बैठक में सुंदर लाल डागा ट्रस्ट के पदाधिकारियों ने कहां की आमजन में कोरोना को लेकर भय है, इस भय को दूर करना होगा। पीबीएम हेल्थ कमेटी के एडवोकेट बजरंग छिंपा ने कहा कि मास्क लगाने के इस जन जागरण अभियान को हमें दिल की गहराइयों से जुड़ना होगा।
इससे पूर्व जिला कलक्टर मेहता ने कलेक्ट्रेट सभागार में अधिकारियों की बैठक में कहा कि सभी अधिकारियों को अच्छी मनसा के साथ इस कार्य को अंजाम देना होगा।  1 माह तक चलने वाले इस कोरोना के विरूद्ध जन आंदोलन में सभी जनप्रतिनिधियों को जोड़ना होगा।  साथ ही आमजन को यह समझाना होगा कि लापरवाही छोड़कर अब वे सावधानी बरतें। उन्होंने कहा कि इस आंदोलन को प्रभावी रूप से क्रियान्वित करने के लिए 160 टीमें बनाई जाएगी। इसके अलावा 25 टीमें स्काउट गाइड की और नगर निगम के सफाई निरीक्षकों की टीम पृथक से बनाई जाएगी।  जिसका यह कार्य होगा कि वह सफाई कार्य के निरीक्षण के दौरान यह भी सुनिश्चित करेगी कि सभी घरों के बाहर नो मास्क नो एंट्री के पोस्टर लगे हुए हैं।
जिला कलक्टर ने कहा कि प्रत्येक टीम में नगर विकास न्यास नगर, निगम, स्वयंसेवी संस्थाओं के सदस्य भी शामिल रहेंगे। साथ ही इस बात का भी ध्यान रखा जाएगा कि किसी भी टीम में 5 से अधिक व्यक्ति नहीं हो, क्योंकि वर्तमान में जिले में धारा 144 लगी है। हमें इस धारा की पालना करते हुए कोरोना के विरूद्ध जन आंदोलन को गति देनी होगी।
बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रशासन) एएच गौरी, अतिरिक्त जिला कलक्टर (शहर) सुनीता चैधरी, अभियान के संयोजक राजेंद्र जोशी, सरदार पटेल मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ एसएस राठौड़, पीबीएम के अधीक्षक डॉ गुंजन सोनी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. बी एल मीणा सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।
स्वयंसेवी संस्थाओं की बैठक में यह थे उपस्थित
बीकानेर व्यापार उद्योग मंडल के अध्यक्ष अनिल कुमार सोनी, रामपुरा युवा एकता अध्यक्ष सद्दाम हुसैन कादरी, हिन्दू जागरण मंच के सतीश गुप्ता, राधेश्याम सोसायटी के गिरीश सचदेवा व हरदेव सिंह, सिमरन सेवा संगठन के मनदीप सिंह, मारवाड जन सेवा समिति के रमेश व्यास, लोकायान संस्था के गोपाल सिंह चैहान, रमेश भाटी, जयभीम संस्था के केसी चांवरिया, असगर हुसैन, सुरेन्द्र जैन, माशूक अली, शिवरतन अग्रवाल, संजय पुरोहित, राम रसोडा के गोपाल अग्रवाल, उपस्थित थे।
नगर निगम संस्था के ओम प्रकाश, बुलाकी सियाग, अनिल तंवर, विक्रम कुमार, अमित तेली, सुनील चांवरिया, देवेन्द्र कुमार, कमल चांवरिया, नवरतन गोयल, शिवशंकर, सुभाष तेजी, हरिसिंह भाटी, मोटा राम हवलाई, श्याम सुन्दर गहलोत, लालचंद गहलोत भी उपस्थित थे।

कोरोना के विरूद्ध जन आंदोलन को लेकर कलेक्टर ने की बैठक prachina in article 1

COMMENTS