बीकानेर

आयुक्त सीएडी डॉ नीरज के पवन ने की विभागीय कार्यों की समीक्षा ,अधिकारियों को दिए दिशा-निर्देश

बीकानेर। आयुक्त, सिंचित क्षेत्र विकास डॉ. नीरज के. पवन ने सोमवार को सिंचित क्षेत्र विकास विभाग की विभिन्न इकाईयों का प्रशासनिक निरीक्षण किया । इस दौरान  विभिन्न इकाईयों के अधिकारियों से इकाई वार भौतिक एवं वित्तीय प्रगति की समीक्षा की । आयुक्त  ने सभी इकाई अधिकारियों को वित्तीय वर्ष हेतु उनकी इकाई को आवंटित वित्तीय एवं भौतिक लक्ष्यों की शत-प्रतिशत प्राप्ति सुनिश्चित करने के निर्देश दिए ।

कृषि विस्तार एवं भू सर्वेक्षण इकाईयों की गतिविधियों पर चर्चा करते हुए आयुक्त  ने निर्देशित किया कि गोडू अनुसंधान केन्द्र पर खेजड़ी के पौधों का सघन वृक्षारोपण किया जावे। इस सम्बन्ध में उन्होंने संबंधित वन अधिकारियों को वांछित पौध उपलब्ध कराने हेतु दूरभाष पर निर्देश दिए। उन्होंने  परियोजना निदेशक, कृषि एवं भू सर्वेक्षण को आगामी दशहरा के दिन बीकानेर स्थित सभी विभागीय परिसरों में अधिकतम खेजड़ी के वृक्षारोपण हेतु कार्य योजना बनाकर वृक्षारोपण करवाये जाने के निर्देश दिए ।
मुख्य अभियन्ता (पश्चिम), सीएडी द्वारा सिद्धमुख नोहर सिंचाई परियोजना के अन्तर्गत हनुमानगढ़ जिले के नोहर एवं भादरा क्षेत्र में चकबन्दी का कार्य पूर्ण नहीं करवाये जाने की स्थिति से अवगत कराने पर आयुक्त ने तत्काल जिला कलक्टर, हनुमानगढ़ को निर्देशित किया तथा इस सम्बन्ध एक बैठक संबंधित अधिकारियों के साथ किये जाने के मुख्य अभियन्ता को निर्देश दिए।

अनुरक्षण मद के अन्तर्गत प्राप्त बजट तथा कार्याे की समीक्षा करते हुए आयुक्त  ने संबंधित खण्डीय अधिकारी एवं मुख्य अभियन्ता को निर्देश दिए कि उपलब्ध बजट का पूर्ण उपयोग सुनिश्चित किया जावे तथा जिन विभागीय आवासों में तत्काल मरम्मत की आवश्यकता हो उनकी मरम्मत दीपावली के त्यौहार से पूर्व की जावे ।
बैठक में अतिरिक्त आयुक्त सीएडी दुर्गेश कुमार बिस्सा, मुख्य अभियन्ता  विनोद मित्तल, वित्तीय सलाहकार  संजय धवन, उपायुक्त तथा अति कलक्टर एवं सचिव मण्डी विकास समिति  राणीदान बारठ, परियोजना निदेशक, कृषि एवं भू सर्वेक्षण सत्यनारायण तथा अन्य इकाई अधिकारी उपस्थित रहे ।

What's your reaction?