fbpx

पीबीएम अस्पताल में सफाई कार्य मूल्यांकन के लिए गठित कमेटी ने किया औचक निरीक्षण

बीकानेर,  जिला कलक्टर कुमार पाल गौतम के निर्देश पर पीबीएम अस्पताल में सफाई कार्य मूल्यांकन के लिए गठित कमेटी ने शुक्रवार को पीबीएम अस्पताल में सफाई व्यवथाओं का जायजा लिया।
नगर निगम आयुक्त डाॅ. प्रदीप के गवांडे, भारतीय प्रशासनिक सेवा के प्रश्ेिाक्षु अधिकारी अभिषेक सुराणा, जिला कोषाधिकारी पवन कंस्वा ने विभिन्न वार्डों का निरीक्षण कर,सफाई के लिए हुए टेण्डर की शर्तों के अनुरूप व्यवस्थाओं का जायजा लिया। कमेटी के सदस्यों के पीबीएम अस्पताल पहुंचने की सूचना पर अधीक्षक डाॅ.पी.के.बेरवाल भी पहुंचे। कमेटी के सदस्यों ने जिस फर्म को सफाई का ठेका मिला है, उसे तथा मुख्य नर्सिंग अधीक्षक को तलब करते हुए ठेके की शर्तों की पालना के निर्देश दिए।
निगम आयुक्त गवांडे और सुराणा ने महिला वार्ड जे, लैबर रूम, वार्ड एम-2 व एम 3 का और कोषाधिकारी कस्वां ने मर्दाना वार्डों और यूआईटी अधीक्षण अभियन्ता ने शिशु अस्पलात की सफाई व्यवस्था का निरीक्षण किया। इस दौरान कमेटी ने वार्डों में सफाई कर्मचारियों की उपस्थिति और ड्यूटी आॅवर्स के बारे में जानकारी ली। उन्होंने सफाई कर्मचारियों को ठेकेदार द्वारा किये जा रहे भुगतान के बारे में फीड बैक लिया। कमेटी को वार्डों और उसकी गलियों में सफाई व्यवस्था संतोषजनक मिली,लेकिन विभिन्न रंगों के कचरापात्र पर्याप्त संख्या में उन्हें वार्डांे में नहीं मिले। उन्होंने हाॅस्पिटल की छतों का भी निरीक्षण किया और छत पर रखी पानी की टंकी पर ढक्कन नहीं मिलने को गंभीरता से लिया।
निगम आयुक्त ने इसके बाद अधीक्षक डाॅ.बेरवाल के साथ बैठक कर,सफाई ठेके की शर्तों की पालना करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि वार्डों में दो ही रंग के कचरा पात्र है,उन्हीं में सार वेस्ट डाला जा रहा है, जबकि बायो मेडिकल वेस्ट पृथकीकरण होना चाहिए। उन्होंने पूछा कि क्या आॅटो स्क्रबर मशीन, सिंगल डिस्क मशीन, प्रेशर जेट मशीन, टेªेक्टर ट्राॅली व व्हील बेरोज की संख्या के अनुसार ठेकेदार ने व्यवस्था कर दी है ? उन्होंने यूआईटी अभियन्ता से इन मशीनों की उपलब्धता का मौके पर भौतिक सत्यापन करने के निर्देश दिए। गवांडे ने कहा कि अगर ठेकेदार द्वारा सफाई नहीं करवाई जाती है तो उस पर शास्ति लगाने और कार्य निरीक्षण व प्रमाणन रजिस्टर संधारित किया जाए। उन्होंने मुख्य नर्सिंग अधीक्षक से कहा कि वे सेन्टर स्टोर में रखे सामान का अवलोकन करें तथा प्रतिदिन इसकी की माॅनिटरिंग करें कि क्या सभी उपकरण (मशीन) सफाई कार्य में काम में ली जा रही हैं ?
गवांडे ने कहा कि वार्डों की सफाई के साथ-साथ सभी ब्लाॅक में उगे झाड़-झंकाड की सफाई आगामी सात दिन मंे हो जानी चाहिए।

COMMENTS

WORDPRESS: 0