गैस सिलेण्डर एवं पैकेट के माध्यम से घर-घर पहुंचेगा कोरोना जागरुकता का संदेश

गैस सिलेण्डर एवं पैकेट के माध्यम से घर-घर पहुंचेगा कोरोना जागरुकता का संदेश  गैस सिलेण्डर एवं पैकेट के माध्यम से घर-घर पहुंचेगा कोरोना जागरुकता का संदेश WhatsApp Image 2020 10 30 at 5

बीकानेर। बीकानेर सहकारी उपभोक्ता होलसेल भंडार के लगभग तीस हजार गैस सिलेण्डरों तथा उरमूल डेयरी के दूध, मिठाई एवं घी के एक लाख पैकैटों के माध्यम से कोरोना के विरूद्ध जागरुकता का संदेश जिले के घर-घर तक पहुंचेगा। वहीं उरमूल संघ के दुग्ध परिवहन वाहनों पर लगे बैनर्स एवं स्टीकर्स के माध्यम से भी आमजन को कोरोना एडवाइजरी की पालना का संदेश दिया जाएगा।
‘हारेगा कोरोना, जीतेगा बीकाणा’ अभियान के तहत सहकारी समितियों के अतिरिक्त रजिस्ट्रार (बीकानेर खंड) एवं प्रशासक, उरमूल संघ तथा बीकानेर सहकारी उपभोक्ता होलसेल भंडार के संयुक्त तत्वावधान् में चलने वाले इस सघन अभियान की शनिवार का शुरूआत हुई। जिला कलक्टर नमित मेहता ने गैस सिलेण्डर पर स्टीकर लगाकर, मास्क वितरित कर तथा भंडार के गैस-सिलेंडर वाहनों व उरमूल के दुग्ध परिवहन वाहनों को हरी झंडी दिखाकर अभियान प्रारम्भ किया।
उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत के निर्देशानुसार पूरे जिले में कोरोना के विरूद्ध जनांदोलन के तहत जागरुकता की सघन गतिविधियां संचालित की जा रही है। इस अभियान से सभी विभागों, स्वयंसेवी संस्थाओं और औद्योगिक संगठनों सहित प्रत्येक वर्ग को जोड़ा गया है। इसी श्रृंखला में सहकारी विभाग द्वारा भी यह पहल की गई है। विभाग के प्रयासों से सीधे घर-घर तक यह संदेश पहुंचाया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि जिले में ‘नो मास्क, नो एंट्री’ लागू होने के बाद इसकी पूर्ण अनुपालना भी सुुनिश्चित करवाई जा रही है। प्रत्येक व्यक्ति को इस अभियान में सकारात्मकता के साथ भागीदारी निभानी होगी। उन्होंने कहा कि कोरोना से लड़ने के लिए लम्बी एवं सामूहिक प्रयास करने होंगे। कोरोना एडवाइजरी की पूर्ण पालना करना आज की सबसे बड़ी जरूरत है।
अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रशासन) ए.एच. गौरी ने कहा कि जागरुकता, कोरोना से बचाव का सबसे बड़ा माध्यम है। हम सभी को सतर्क रहना होगा और दूसरों को जागरुक करना होगा। उन्होंने कहा कि जागरुकता अभियान में अनेक विभागों की प्रभावी भूमिका रही है। इस ऊर्जा को सतत रूप से बनाए रखने की जरूरत है, जिससे प्रत्येक व्यक्ति तक जागरुकता का संदेश पहुंचाया जा सके। उन्होंने बताया कि जिला कलक्टर की पहल पर विभिन्न वर्गों के साथ संवाद के कार्यक्रम भी हुए। इस दौरान सभी लोगों को कोरोना एडवाइजरी की पालना के बारे में बताया गया।
सहकारी समितियों (बीकानेर खंड) के अतिरिक्त रजिस्ट्रार रविन्द्र कुमार पुरोहित ने बताया कि जागरुकता अभियान में विभाग की पूर्ण भागीदारी रहेगी। विभाग द्वारा सभी गैस सिलेण्डर, मिठाई के डिब्बों, दूध एवं घी के पैकेट पर स्टीकर लगाए जाएंगे। वहीं दुग्ध परिवहन वाहन भी शहरी और ग्रामीण क्षेत्र में जागरुकता का संदेश देंगे। हारेगा कोरोना, जीतेगा, बीकाणा अभियान के समन्वयक राजेन्द्र जोशी ने बताया कि प्रत्येक सरकारी विभागों एवं स्वयंसेवी संगठनों के सहयोग से अब तक गांव-गांव में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए जा चुके हैं।
इस दौरान सीसीबी के प्रबंध निदेशक रणवीर सिंह, उप रजिस्ट्रार नवरंग लाल बिश्नोई, क्षेत्रीय अंकेक्षण अधिकारी राजेश टाक, उरमूल संघ के प्रबंध संचालक महेश शर्मा, सलीम भाटी सहित अन्य विभागीय अधिकारी मौजूद रहे।

गैस सिलेण्डर एवं पैकेट के माध्यम से घर-घर पहुंचेगा कोरोना जागरुकता का संदेश prachina in article 1

COMMENTS