देश

इन देशों में कोरोना ने फिर डराया, WHO बोला – भारी पड़ी यह भूल

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कहा कि पश्चिमी देशों में कोविड-19 (Covid-19) के बढ़ते मामलों के कारण वैश्विक स्तर पर कोरोना वायरस संक्रमण के नए मामलों की संख्या में पिछले सप्ताह 7 प्रतिशत की वृद्धि हुई है हालांकि कोविड-19 से होने वाली मौत के मामलों में गिरावट आई है. कोरोना महामारी पर संयुक्त राष्ट्र की स्वास्थ्य एजेंसी की मंगलवार देर रात जारी रिपोर्ट के अनुसार, संक्रमण के 1.2 करोड़ से अधिक नए साप्ताहिक मामले आए जबकि इससे होने वाली मौत का आंकड़ा 33,000 था जो मृत्यु दर में 23 प्रतिशत की गिरावट दर्शाता है. वायरस के पुष्ट मामले जनवरी से दुनिया भर में लगातार गिर रहे थे लेकिन पिछले हफ्ते इनमें फिर से बढ़ोतरी देखी गई. यह वृद्धि अधिक संक्रामक ओमिक्रॉन वेरिएंट और यूरोप, उत्तरी अमेरिका और कई अन्य देशों में कोविड-19 संबंधी नियमों में ढील के कारण मानी जा रही है.

स्वास्थ्य अधिकारियों ने बार-बार कहा है कि ओमिक्रॉन कोरोना वायरस के पिछले वेरिएंट की तुलना में बीमारी के मामूली लक्षण पैदा करता है और बूस्टर खुराक सहित टीकाकरण इससे अत्यधिक सुरक्षा प्रदान करता है.

पश्चिमी प्रशांत दुनिया का एकमात्र ऐसा क्षेत्र बना रहा, जहां कोरोना वायरस के मामले बढ़ रहे हैं, पिछले सप्ताह 21 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई और उससे पहले के हफ्तों में भी मामलों में इजाफा देखा गया था. पिछले सप्ताह के आंकड़ों के अनुसार, यूरोप में नए संक्रमणों की संख्या स्थिर रही और अन्य जगहों पर इसमें गिरावट आई.

WHO ने आगाह किया कि कई देशों द्वारा व्यापक परीक्षण कार्यक्रमों को छोड़ने के कारण संक्रमण के कई मामलों का पता नहीं चलने की आशंका है और नए मामलों की संख्या की सावधानी से व्याख्या की जानी चाहिए.

WHO यूरोप के प्रमुख डॉ. हंस क्लूज ने कहा कि पूरे महाद्वीप के कई देशों में प्रतिबंध “सख्ती से कम कर दिए गए या हटा दिए गए थे. इसके कारण हाल के दिनों में ब्रिटेन, फ्रांस, इटली और जर्मनी में मामले काफी बढ़े.

What's your reaction?