भारत में तेजी से पैर पसार रहा है कोरोना का नया स्ट्रेन , संख्या हुई 73

भारत में तेजी से पैर पसार रहा है कोरोना का नया स्ट्रेन , संख्या हुई 73  भारत में तेजी से पैर पसार रहा है कोरोना का नया स्ट्रेन , संख्या हुई 73 corona new strain

भारत में तेजी से पैर पसार रहा है कोरोना का नया स्ट्रेन , संख्या हुई 73 mr bika fb post

भारत में कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन (Coronavirus UK Strain) तेजी से पैर पसार रहा है. देश में बुधवार को कोरोना वायरस (Coronavirus) के यूके स्ट्रेन के कुल मरीजों की संख्या 73 पर पहुंच गई है. मंगलवार तक देश में 58 मामले ही सामने आए थे. बता दें कि मंगलवार को ऐसे 20 नए मामले मिले थे. ये सारे केस पुणे के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वाइरोलॉजी में मिले थे.

भारत में तेजी से पैर पसार रहा है कोरोना का नया स्ट्रेन , संख्या हुई 73 prachina in article 1

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, कोरोना वायरस के यूनाइटेड किंगडम के स्ट्रेन से अब तक 73 लोग संक्रमित हो चुके हैं. वैज्ञानिकों का कहना है कि ब्रिटेन में मिले कोरोना वायरस का रूप पहले की तुलना में 70 फीसदी ज्यादा संक्रामक है.

राज्यवार जानें आंकड़े
स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार एनसीडीसी नई दिल्ली में 8, आईजीआईबी दिल्ली में 20, कोलकाता में 1, पुणे में 30, हैदराबाद में 3, बेंगलुरू में 11 मामले सामने आ चुके हैं.
इन देशों में भी सामने आ चुके हैं मामले

कोविड-19 (Covid-19) मरीजों में मिले नए स्ट्रेन की जांच 10 INSACOG लैब्स में की जा रही है. इससे पहले ब्रिटेन में मिला वायरस का यह नया स्ट्रेन डेनमार्क, नीदरलैंड्स, ऑस्ट्रेलिया, इटली, स्वीडन, फ्रांस, स्पेन, स्विट्जरलैंड, जर्मनी, कनाडा, जापान, लेबनान और सिंगापुर में सामने आ चुका है.

जानें कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन को
इस नए म्यूटेटेड वायरस का नाम B117 है. यह वायरस पर मौजूद प्रोटीन स्पाइक्स के बदले हुए रूप से संबंधित है, जो इंसान के सेल्स से खुद को जोड़ लेता है. यह म्यूटेशन वायरस को बड़ी दर से सेल को संक्रमित करने के लिए तैयार करता है. इसके असर के बारे में अभी पूरी तरह पता नहीं है.

जबकि, ब्रिटेन की तरफ से मिली जानकारी बताती है कि यह वायरस 70 फीसदी अधिक तेजी से फैलता है. डब्ल्यूएचओ ने कहा है कि आम सावधानियों की मदद से लोग खुद को नए स्ट्रेन से बचा सकते हैं. संगठन के मुताबिक, मास्क पहनने, हाथ धोने और सोशल डिस्टेंसिंग की मदद से वायरस से बचा जा सकता है.

COMMENTS