विवादित भूमि पर चल रहे निर्माण के विरोध में नगर विकास न्यास के समक्ष किया प्रदर्शन

 विवादित भूमि पर चल रहे निर्माण के विरोध में नगर विकास न्यास के समक्ष किया प्रदर्शन

बीकानेर ।

मुरलीधर व्यास नगर मौसम विभाग के पीछे एक बहुत बड़ा भूभाग है जिसके  जो किसी व्यक्ति की निजी संपत्ति बताया जा रहा है और उस पर गत दो दिन से निरंतर निर्माण कार्य चल रहा रात को भी है  जो कि संदेह है कि स्थिति उत्पन्न करता है  अतः इस संदर्भ मे भाजपा के वरिष्ठ नेता सम्मानीय जेपी व्यास के नेतृत्व में पार्षद सुधा आचार्य सहित वार्ड संख्या 2 के निवासियों और अन्य साथी पार्षदों भंवर लाल साहू रामदयाल पंचारिया हिमांशु शर्मा और पुनीत शर्मा ने आज नगर विकास न्यास के समक्ष प्रदर्शन करते हुए संबंधित अधिकारियों को इस हेतु ज्ञापन प्रस्तुत किया। वरिष्ठ भाजपा नेता जेपी व्यास ने मांग की कि विवादित भूखंड में नगर विकास न्यास बीकानेर द्वारा निर्माण हेतु अपेक्षित स्वीकृति ली गई है या नहीं यह स्पष्ट नहीं है क्योंकि जिस तरह दिन-रात ट्रैक्टर और बुलडोजर द्वारा कार्य किया जा रहा है इससे संदेह और अधिक गहरा जाता है।
         निजी संपति पर बनाई जा रही सड़क द्वारा बनाई गई सड़क से लगभग 5–6 फुट ऊंची है जो कि पूर्ण तरह अनुचित है।पार्षद सुधा आचार्य ने बताया कि इस प्रकार के निर्माण से आसपास के लगभग 200 से ढाई सौ मकान प्रभावित होंगे,आगामी बरसाती ऋतु में मिनी सूरसागर या गिन्नाणी जैसी समस्या का निर्माण जानबूझकर किया जा रहा है ऐसा प्रतीत हो रहा है।
इस  निजी संपत्ति (जमीन) पर रिसीवर थानाधिकारी नया शहर, बीकानेर का कुर्कशुदा भूमि का बोर्ड भी लगा हुआ है यहां यह बात भी ध्यातव्य है की निजी जमीन पर किस  किस संदर्भ में निर्माण कार्य किया जा रहा है उसका स्वीकृत नक्शा अथवा किसी भी प्रकार का विवरण सार्वजनिक नहीं किया गया है   क्यों है जबकि न्यास के हलका जेईन का कहना है कि संबंधित भूखंड पर निजी संपत्ति पर निरीक्षण कर लिया है और मात्र 9 इंची फर्क आ रहा है परंतु यह बात सत्य नहीं है अतः सत्यता की जांच करने हेतु न्यास के वरिष्ठ पदाधिकारियों को भी  स्थिति का भौतिक सत्यापन करने हेतु आवश्यक कदम उठाने चाहिए।
न्यास की सड़क और संबंधित विवादित भूखंड पर निर्मित की जा रही सड़क में बहुत अधिक अंतर है।
न्यास के ही एक पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि यह जो विवादित जमीन है उस पर मुख्यमंत्री आवास योजना हेतू  स्वीकृत की गयी है अगर यह बात सत्य है तो यह राज्य प्रशासन पर बहुत बड़ा प्रश्न चिन्ह खड़ा करती है, इस दृष्टिकोण से आम जनता यह जानना चाहती है कि क्या कुर्कशुदा जमीन पर  मुख्यमंत्री आवास योजना स्वीकृत की जा सकती है ?यह एक ऐसा बिंदु है जो प्रशासन की नीतियों पर प्रश्न लगाता है।
वार्ड संख्या 2 के निवासियों को उक्त भूखंड पर यदि किसी भी प्रकार का विधि सम्मत कोई कार्य होता है तो इस पर कोई आपत्ति नहीं है परंतु विधि विरुद्ध निर्माण से निर्माण,से  न्यास अधिकृत मुरलीधर व्यास नगर (कालोनी) मैं स्वच्छता और सुरक्षा संबंधी व्यवस्था पूर्ण रूप से चौपट हो जाएगी जल निकासी की व्यवस्था चरमरा जाएगी और वर्तमान में जो इस स्थिति सुजानदेसर में ब्राह्मणों के मोहल्ले की अथवा गिन्नाणी की हो रही है वही स्थिति वार्ड संख्या 2 के कुछ क्षेत्रों की हो जाएगी वर्तमान में प्रशासन को समय रहते हुए इस हेतु आवश्यक कदम उठाने चाहिए ।  इस अवसर पर मुरलीधर व्यास नगर के चंद्र प्रकाश सुथार, नर्मदा देवी, घनश्याम सोलंकी,राजशेखर, कमला देवी, नवीन कुमार, श्यामसुंदर,गोवर्धन पंचारिया, जयप्रकाश पुरोहित, लालजी, राजेंद्र स्वामी, किरण, रामेश्वर, गिरधारी और बाबूलाल सहित अनेक गणमान्य लोग उपस्थित थे ।

S.N.Acharya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page