परिश्रम,समर्पण और अनुशासन सफलता की सीढ़ियां , पन्द्रह दिवसीय फुटबॉल प्रशिक्षण शिविर संपन्न

2 Min Read

बीकानेर। मास्टर बच्ची क्लब फुटबॉल समिति द्वारा पुष्करणा स्टेडियम में बच्चों के लिए आयोजित पंद्रह दिवसीय ग्रीष्मकालीन फुटबॉल प्रशिक्षण शिविर गुरुवार को सम्पन्न हुआ। इस दौरान सभी प्रतिभागियों को पुरस्कार दिए गए। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए अतिथियों ने कहा कि लगन, परिश्रम, समर्पण और अनुशासन सफलता की सीढ़ियां होती हैं। जीवन में बड़ी से बड़ी सफलता पाने के लिए इनका अनुसण जरूरी है।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सूचना एवं जनसंपर्क कार्यालय के सहायक निदेशक हरि शंकर आचार्य ने कहा कि सर्वांगीण विकास में खेलों की भूमिका अत्यंत महत्वपूर्ण है। बच्चों और युवाओं को इससे जुड़े प्रशिक्षण देकर इन्हें आगे बढ़ने के अवसर देना सराहनीय है। उन्होंने कहा कि समिति द्वारा सतत रूप से ऐसे आयोजन किए जाते हैं। इससे नए खिलाड़ियों को आगे बढ़ने के भरपूर अवसर मिलेंगे।

आयकर अधिकारी उमेश कच्छावा ने कहा कि खेल को सकारात्मक प्रतिस्पर्धा और खेल भावना के साथ खेलना चाहिए। स्कूली विद्यार्थी, खेलों को दिनचर्या का हिस्सा बनाएं।
समिति अध्यक्ष सुनील बांठिया ने बताया कि आज बच्चे आउटडोर खेलों से दूर होते जा रहे हैं। इससे इनका विकास अवरूद्ध हुआ है। उन्होंने कहा कि ऐसे शिविर, खेल भावना की जागृति के उद्देश्य से महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। शिविर प्रभारी और समिति सचिव भरत पुरोहित ने बताया कि संस्था द्वारा 28 वर्षो से राज्य स्तरीय मास्टर बच्ची गोल्ड कप प्रतियोगिता के साथ ग्रीष्मकालीन फुटबॉल प्रशिक्षण का आयोजन दिया जाता है। उन्होंने संस्था की अन्य गतिविधियों के बारे में बताया।
इस दौरान आर. सी .पुरोहित फाउंडेशन के कृष्णचन्द्र पुरोहित, खेल प्रशिक्षक महावीर प्रसाद, त्रिभुवन ओझा, देवेन्द्र पुरोहित, नवरत्न जोशी आदि मौजूद रहे। संचालन   ने किया।

Share This Article