जिला कलक्टर ने अमरपुरा में की जनसुनवाई, विभिन्न कार्यालयों का किया निरीक्षण

5 Min Read

बीकानेर। जिला कलेक्टर भगवती प्रसाद कलाल ने बुधवार को अमरपुरा में आमजन की समस्याएं सुनी और विभिन्न कार्यालयों का निरीक्षण किया।
राजीव गांधी सेवा केंद्र में जनसुनवाई के दौरान उन्होंने ग्रामीणों को राज्य सरकार की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी दी और कहा कि अधिकारी प्रत्येक पात्र व्यक्ति को इन योजनाओं का लाभ उपलब्ध करवाएं। उन्होंने मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना, सामाजिक सुरक्षा पेंशन, पालनहार और मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत प्रत्येक परिवार को अब 10 लाख रुपए तक की कैशलेश स्वास्थ्य बीमा का लाभ मिलेगा। इसके मद्देनजर प्रत्येक परिवार इसके तहत अपना पंजीकरण करवाएं। उन्होंने ग्रामीणों से नशे से दूर रहने का आह्वान किया और कहा कि नशा समाज के लिए एक दंश है। आज युवा पीढ़ी नशे से सबसे अधिक प्रभावित है। इसके मद्देनजर घर के बड़े बुजुर्ग युवाओं पर नजर रखें। उन्होंने नशा मुक्ति के अभियान ‘मिशन अगेंस्ट नारकोटिक सबस्टेंस एब्यूज’ की जानकारी दी और कहा कि अभियान के तहत नशा मुक्ति के लिए जागरूकता की सघन गतिविधियां संचालित की जा रही हैं। नशे के कारोबार में संलिप्त व्यक्ति की सूचना जिला स्तरीय नियंत्रण कक्ष को देने को कहा और बताया कि सूचना देने वाले की जानकारी गोपनीय रखी जाएगी।
इस दौरान ग्रामीणों ने पंचायत में प्रसव सुविधा उपलब्ध करवाने, पात्रता के आधार पर ग्रामीणों को एनएफएसए में जुड़वाने सहित पानी, बिजली और स्कूल से जुड़ी समस्याएं जिला कलक्टर के समक्ष रखी। इन पर नियमानुसार कार्यवाही के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया गया।

सीएचओ के खिलाफ कार्यवाही के निर्देश
जिला कलक्टर ने अमरपुरा के उप स्वास्थ्य केंद्र का निरीक्षण किया। इस दौरान पंचायत में कोविड वेक्सीनेशन की प्रगति और चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत पंजीकरण की स्थिति के बारे में जाना। स्वास्थ्य बीमा योजना के सर्वे से संबंधित रजिस्टर संधारित नहीं होने और पंजीकरण की गति धीमी होने पर उन्होंने नाराजगी जताई और यहां नियुक्त सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी सुशील कुमार चौधरी के विरुद्ध सख्त कार्यवाही करते हुए सूचित करने के निर्देश ब्लॉक मुख्य चिकित्सा अधिकारी को दिए। साथ ही चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना का कवरेज बढ़ाने के लिए ‘मिशन मोड’ पर कार्यवाही करने के निर्देश उपखंड अधिकारी, तहसीलदार और विकास अधिकारी को दिए।

पॉस मशीन से वितरण का करना होगा वेरिफिकेशन
जिला कलेक्टर ने यहां उचित मूल्य की दुकान का निरीक्षण किया तथा खाद्यान्न की आवक और उठाव की स्थिति जानी। साथ ही पाॅस मशीन से वितरण के बारे में भी जानकारी ली। मौके पर पाॅस मशीन का प्रिंटर खराब मिला, इस पर जिला कलेक्टर ने रसद विभाग के प्रवर्तन अधिकारी को पाॅस से वितरण का क्रॉस वेरिफिकेशन करते हुए रिपोर्ट उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए।

- Advertisement -

स्कूल में जानी स्टाफ-विद्यार्थियों की स्थिति
जिला कलेक्टर ने यहां के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय का औचक निरीक्षण किया। उन्होंने स्टाफ तथा विद्यार्थियों की स्थिति जानी और कोम्बो पैक वितरण का रिव्यू किया। कंप्यूटर लैब का निरीक्षण किया और स्मार्ट क्लासेज के बारे में जाना। उन्होंने छात्र और छात्राओं के लिए बनाए गए शौचालयों की स्थिति देखी और इन्हें चालू तथा साफ सुथरे रखने के निर्देश दिए।

खाला और डाट कवरिंग कार्यों के दें प्रस्ताव
जिला कलेक्टर ने पंचायत में मनरेगा कार्यों की स्थिति के बारे में जाना और इसके तहत खाला और डाट कवरिंग के कार्यों के प्रस्ताव भिजवाने के निर्देश दिए। साथ ही मनरेगा लाभार्थियों की नाम अंकित करवाने को कहा। ई मित्र प्लस की कार्य प्रणाली के बारे में जाना। जिला कलक्टर प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण की लाभार्थी सोना देवी पत्नी काजू राम के घर पहुंचे तथा विकास अधिकारी को लाभार्थी की राशि उसके खाते में शीघ्र हस्तांतरित करने के निर्देश दिए। साथ ही सोनादेवी को आवास निर्माण का कार्य शीघ्र प्रारंभ करने को कहा। उन्होंने सोना और काजूराम से वृद्धावस्था पेंशन के बारे में भी पूछा।
इस दौरान पूगल की उपखंड अधिकारी सीता शर्मा, तहसीलदार रामेश्वर लाल, विकास अधिकारी राजेंद्र जोइया, सरपंच मुरलीधर मोदी सहित ब्लॉक स्तरीय अधिकारी और ग्रामीण मौजूद रहे।

Share This Article