जिला कलक्टर ने की सेवर्स स्क्वेयर के ‘प्लाज्मा डोनेशन जागरुकता अभियान’ की शुरूआत

जिला कलक्टर ने की सेवर्स स्क्वेयर के ‘प्लाज्मा डोनेशन जागरुकता अभियान’ की शुरूआत  जिला कलक्टर ने की सेवर्स स्क्वेयर के ‘प्लाज्मा डोनेशन जागरुकता अभियान’ की शुरूआत plajma donation

बीकानेर, जिला कलक्टर नमित मेहता ने शुक्रवार को सेवर्स स्क्वायर संस्था के ‘प्लाज्मा डोनेशन जागरुकता अभियान’ की शुरूआत की।
इस अवसर पर मेहता ने कहा कि कोरोना को मात देकर स्वस्थ हुए मरीज, कोरोना मुक्ति के 14 दिन होने पर प्लाज्मा दान कर सकते हैं। बीकानेर सहित राज्य के अन्य जिलों में प्लाज्मा थैरेपी से कोरोना मरीजों का इलाज हो रहा है। यह थैरेपी बेहद कारगर साबित हुई है। इसके मद्देनजर मानवता की रक्षा के लिए अधिक से अधिक लोगों को प्लाज्मा डोनेट करना चाहिए।
मेहता ने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा इसके प्रति जागरुकता के सतत अभियान चलाए जा रहे हैं। स्वयंसेवी संस्थाओं का इससे जुड़ना सकारात्मक पहल है। उन्होंने कहा कि संस्था द्वारा कोरोना मुक्त हुए अधिक से अधिक मरीजों को प्लाज्मा डोनेट करने के लिए प्रेरित किया जाए।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. बी. एल. मीना ने कहा कि कोरोना संक्रमण पर विजय पाए व्यक्ति के रक्त का प्लाज्मा, संक्रमित लोगों के लिए प्रभावशाली साबित हुआ है। प्लाज्मा डोनेट करने से शरीर पर कोई प्रतिकूल प्रभाव नहीं पड़ता। उन्होंने कहा कि रक्त में नए प्लाज्मा का निर्माण एक सतत प्रक्रिया है।
स्वामी केशवानंद राजस्थान कृषि विश्वविद्यालय के सहायक निदेशक (जनसंपर्क) हरि शंकर आचार्य ने कहा कि युवा साथी, सूचना प्रौद्योगिकी का अधिकतम उपयोग करते हुए आमजन को कोरोना से बचाव के उपाय बताएं और प्लाज्मा डोनेट करने के लिए प्रेरित करें।
सेवर्स स्क्वाॅयर के अध्यक्ष विजय प्रकाश बाफना ने बताया कि संस्था द्वारा पंद्रह हजार बल्क मैसेज तथा प्लाज्मा डोनेशन के लिए प्रेरित करने वाला पत्र भेजा जाएगा। बल्क मैसेज प्रत्येक शुक्रवार को भेजे जाएंगे। पहले चरण में 18 अगस्त तक कोरोना पर विजय पा चुके लोगों को यह संदेश भेजा गया है। उन्हांेने संस्था की विभिन्न गतिविधियों के बारे में बताया। इस दौरान नितेश मारु, भैंरूसिंह भाटी और हेमंत शर्मा मौजूद रहे।

जिला कलक्टर ने की सेवर्स स्क्वेयर के ‘प्लाज्मा डोनेशन जागरुकता अभियान’ की शुरूआत prachina in article 1

COMMENTS