जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक आयोजित हुई , कलेक्टर ने दिए कुछ निर्देश

जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक आयोजित हुई , कलेक्टर ने दिए कुछ निर्देश  जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक आयोजित हुई , कलेक्टर ने दिए कुछ निर्देश WhatsApp Image 2020 08 20 at 20

बीकानेर। कोरोना महामारी से लड़ाई आगे भी जारी रहेगी, ऐसे में अब नियमित स्वास्थ्य सेवाएं प्रभावित ना हों और समस्त राष्ट्रीय कार्यक्रम अपने लक्ष्यों तक पहुंचे, इसके लिए स्वास्थ्य विभाग को फोकस शिफ्ट करना होगा। एएनसी, डिलीवरी, टीकाकरण, परिवार कल्याण, मौसमी बीमारियों पर नियंत्रण, एनसीडी व अन्य राष्ट्रीय कार्यक्रमों की ग्राम स्तर तक नियमित समीक्षा व मोनिटरिंग होनी चाहिए। उक्त निर्देश देते हुए जिला कलेक्टर नमित मेहता कोरोना के खिलाफ लड़ाई में विभाग के योगदान पर तारीफों के कसीदे पढ़े और जोश को बरकरार रखने की अपील की। मेहता गुरुवार को यूआईटी सभागार में जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक ले रहे थे। कोरोना काल के चलते 5 माह बाद आयोजित हुई बैठक में कार्यक्रमों की समीक्षा पिछले वर्ष से तुलना में की गई। जिला कलेक्टर ने दिए कोविड-19 नियंत्रण रणनीति में परिवर्तन करते हुए बिना लक्षण वाले कोरोना पॉजिटिव व्यक्तियों को होम आइसोलेट करने पर जोर दिया ताकि कोविड अस्पताल व कोविड केयर केन्द्रों पर अनावश्यक भार ना बढे। जिला कलेक्टर ने कहा कि ओपीडी समय में चिकित्सक सुनिश्चित रूप से अस्पताल में रहकर मरीजों को देखें। वे योजनाओं व कार्यक्रमों की उपलब्धि सुधारने पर जोर देवें। बैठक में बिना बताए अनुपस्थित रहे समस्त अधिकारीयों को नोटिस जारी करने के निर्देश दिए गए। विभिन्न योजनाओं के ऑनलाइन इन्द्राज सम्बन्धी बेकलोग को 31 अगस्त तक निपटाने के निर्देश भी दिए। प्रशिशु आईएएस कनिष्क कटारिया ने एजेंडावार सभी कार्यक्रमों व सेवाओं की समीक्षा कर आवश्यक निर्देश दिए। सीएमएचओ डॉ बी.एल. मीणा ने कहा कि कोरोना को ढाल ना बनाएं क्योकि ये काम सभी बराबर कर रहे हैं ऐसे में कम उपलब्धि वालों को स्पष्ट शब्दों में शीघ्र सुधार के लिए पाबन्द किया। उन्होंने राजश्री योजना के बकाया भुगतान निपटाने, जल जनित बीमारियों व अन्य मौसमी बीमारियों पर नियंत्रण, मच्छरों की रोकथाम, पानी की सैंपलिंग व क्लोरीनेशन के निर्देश दिए। आरसीएचओ डॉ. रमेश गुप्ता ने मातृ-शिशु स्वास्थ्य कार्यक्रमों की 5 बिंदु समीक्षा की प्रगति प्रस्तुत की। डिप्टी सीएमएचओ परिवार कल्याण डॉ योगेन्द्र तनेजा ने कोविड-19 के चलते परिवार कल्याण कार्यक्रम में रही कम उपलब्धि को पीछे छोड़ कार्यक्रम को दुगुना तेजी से बढाने की बात कही। उन्होंने पीपीआईयूसीडी में शत प्रतिशत लक्ष्यों को हासिल करने के निर्देश दिए। डीटीओ डॉ सी.एस. मोदी ने टीबी व सिलिकोसिस नियंत्रण कार्यक्रम, डॉ नवलकिशोर गुप्ता ने निःशुल्क दवा योजना, डीपीएम सुशील कुमार ने कायाकल्प कार्यक्रम, ई-औषधि इन्द्राज, पीएमएसएमए, पीसीटीएस इन्द्राज, विश्व स्वास्थ्य संगठन से डॉ अनुरोध तिवारी ने मीजल्स सर्विलांस की प्रगति से सदन को अवगत कराया।
बैठक में डिप्टी सीएमएचओ डॉ इंदिरा प्रभाकर, लेखाधिकारी अभिषेक गोयल, डॉ कीर्ति शेखावत, यूएनडीपी के योगेश शर्मा, एपिडेमियोलोजिस्ट नीलम प्रताप सिंह, डीएनओ मनीष गोस्वामी, डीएएम राजेश सिंगोदिया, पीसीपीएनडीटी समन्वयक महेंद्र सिंह चारण, डीएसी रेणु बिस्सा व जिला समन्वयक फ्लोरोसिस महेंद्र जायसवाल सहित समस्त बीसीएमओ, बीपीएम व ग्रामीण चिकित्साधिकारी उपस्थित रहे।

COMMENTS