बीकानेर

जिला जन अभाव अभियोग निराकरण एवं सतर्कता समिति की बैठक आयोजित

बीकानेर। जिला जन अभाव अभियोग निराकरण एवं सतर्कता समिति की बैठक शुक्रवार को जिला कलक्टर भगवती प्रसाद कलाल की अध्यक्षता में आयोजित हुई। बैठक में 14 प्रकरणों पर चर्चा की गई। इनमें से तीन का निस्तारण कर दिया गया। शेष में संबंधित अधिकारियों को आगामी बैठक से पूर्व कार्यवाही करते हुए रिपोर्ट उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि समिति में दर्ज प्रकरणों का नियमसम्मत और समयबद्ध निस्तारण किया जाए। इसमें किसी प्रकार की ढिलाई नहीं बरती जाए।
जिला कलक्टर ने हनुमान हत्था क्षेत्र में कुम्हाणा हाउस के पास अतिक्रमण के प्रकरण में त्वरित कार्यवाही के निर्देश दिए। नगर निगम आयुक्त ने बताया कि अतिक्रमण करने वालों को नोटिस दिया जा चुका है। टीम का गठन करते हुए अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही शीघ्र ही की जाएगी। दमामीयान कब्रिस्तान एवं आम रास्ते पर अवैध अतिक्रमण रोकने और ईट, बजरी, पट्टी आदि हटाने के मामले में भी कार्यवाही के लिए नगर निगम को निर्देशित किया तथा अगली बैठक से पूर्व रिपोर्ट उपलब्ध करवाने के लिए कहा।

बांगड़सर में चयनित पंचायत सहायक के फर्जी व कूटरचित दस्तावेज के आधार पर नियुक्ति लेने के प्रकरण के संबंध में जिला परिषद की मुख्य कार्यकारी अधिकारी को निर्देशित किया। मुख्य कार्यकारी अधिकारी ने बताया कि मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी, समग्र शिक्षा द्वारा जांच के दौरान महबूब खान द्वारा पंचायत सहायक शौकत अली के विरूद्ध की गई, जांच सही पाई गई। इसके मद्देनजर विकास अधिकारी बज्जू खालसा को ग्राम पंचायत सहायक की सेवाएं समाप्त करके रिपोर्ट उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए गए हैं। जिला कलक्टर ने इस प्रकरण में नियमानुसार कानूनी कार्यवाही करने के लिए भी निर्देशित किया।

बैठक में जिला परिषद की मुख्य कार्यकारी अधिकारी नित्या के., अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रशासन) बलदेव राम धोजक, अतिरिक्त कलक्टर (नगर) अरुण कुमार शर्मा, नगर विकास न्यास सचिव नरेन्द्र सिंह पुरोहित, प्रशिक्षु आईएएस सिद्धार्थ पलनिचामी, सहायक निदेशक (लोक सेवाएं) सविना बिश्नोई भी मौजूद रहे। इस दौरान समिति के मनोनीत सदस्य पूगल प्रधान गौरव चौहान, मौला बख्श, सुषमा बारूपाल तथा पदमाराम चौहान मौजूद रहे। बैठक के अंत में राज्यसभा की पूर्व सांसद श्रीमती जमना बारुपाल के निधन पर दो मिनट का मौन रखा गया।

जनसुनवाई के दौरान आई 20 परिवेदनाएं
बैठक के बाद कलक्ट्रेट सभागार में जनसुनवाई की गई। इस दौरान 20 परिवेदनाएं प्राप्त हुई। जिला कलक्टर ने सभी अधिकारियों को इन प्रकरणों के जवाब समयबद्ध उपलब्ध करवाने के निर्देष दिए। जनसुनवाई के दौरान मगनलाल भाटी ने अतिक्रमण हटाने, मोहल्ला विकास समिति के सचिव आर के शर्मा ने डाक बंगला के पीछे बनी सीसी रोड के पानी की निकासी की व्यवस्था करवाने तथा रामदेव मंदिर के पास कचरा पात्र रखवाने, भारत भूषण खत्री ने सेवानिवृत्ति के उपरांत देय लाभ एवं पूर्ण पेंशन दिलवाने तथा हेमंत कातेला ने गंगाशहर स्थित जिला अस्पताल की सुविधाओं में वृद्धि करने की मांग की।

What's your reaction?