मां करणी के जयघोष के बीच दिव्य ज्योति प्रज्वलित

मां करणी के जयघोष के बीच दिव्य ज्योति प्रज्वलित  मां करणी के जयघोष के बीच दिव्य ज्योति प्रज्वलित 62 photo 1

बीकानेर. देशनोक. विश्व प्रसिद्ध मां करणी के मंदिर में सवा दस फीट ऊंचा और साढ़े पांच फीट चौड़ाई के भव्य दीपक में गुरुवार को विधि-विधान पूर्वक ज्योति प्रज्ज्वलित की गई। मंदिर प्रबंध कमेटी का दावा है कि किसी भी देव स्थल पर यह सबसे बड़ा दीपक स्थापित किया गया है। बुधवार को इस दीपक के मंदिर में पहुंचने के साथ ही श्रद्धालुओं की उत्सुकता और श्रद्धाभाव चरम पर है। सुबह ठीक सवा ग्यारह बजे मां करणी के निज मंदिर में पूजा-अर्चना के बाद खाकी धाम के संत मौनी बाबा ने मां के जैकारे के बीच चांदी से बने अखण्ड दीपक की ज्योत को प्रज्जवलित की। अखंड दीपक गुरुवार को विशेष विधि विधान से पं नरेंद्र मिश्र तथा मोनी बाबा के सानिध्य में मंदिर मे स्थापित किया गया। श्रीकरणी मंदिर निजी प्रन्यास के अध्यक्ष गिरीराज सिंह ने इस चांदी से बने दीपक को स्थापत्य कला का नायाब नमूना बताया है। उन्होंने कहा कि सवा १० फीट ऊंचे व साढ़े पांच फीट चौड़ा यह अदï्भूत दीपक संभवतया: विश्व के मंदिरों में सबसे बड़ा दीपक बना है। एक बार में सात क्ंिवटल घी, डेढ़ साल तक अखंड रहेगी ज्योति डॉ. करणी प्रताप ने बताया कि इस दीपक में एक बार में सात क्ंिवटल घी डाला जा सकता है, जो कि अखंड रूप से एक डेढ़ साल तक जलता रहेगा। इसके लिए कच्चे सूत से विशेष प्रकार की बत्ती बनाई गई है। घी को गर्म करने के लिए टाइटेनियम की रॉड बनी हुई है जो घी को निरंतर पिघलाया हुआ रखेगी।

मां करणी के जयघोष के बीच दिव्य ज्योति प्रज्वलित prachina in article 1
मां करणी के जयघोष के बीच दिव्य ज्योति प्रज्वलित ad for in article 1

COMMENTS