बीकानेर

फ्लेगशिप योजनाओं का हो प्रभावी क्रियान्वयन, प्रत्येक पात्र को मिले समयबद्ध लाभ : जिला कलक्टर

बीकानेर। जिला कलक्टर नमित मेहता ने कहा कि राज्य सरकार की फ्लेगशिप योजनाओं का लाभ प्रत्येक पात्र व्यक्ति को मिल सके, इसके लिए संबंधित विभाग के अधिकारी पूर्ण गंभीरता से कार्य करें।
जिला कलक्टर मेहता ने सोमवार को साप्ताहिक समीक्षा बैठक के दौरान यह निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा जनहित से संबंधित विभिन्न योजनाओं को फ्लेगशिप योजना की सूची में शामिल किया है। ये योजनाएं अत्यंत महत्वाकांक्षी हैं तथा आमजन से सीधी जुड़ी हैं, इनके क्रियान्वयन में किसी प्रकार की कोताही नहीं बरती जाए। उन्होंने चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के शुद्ध के लिए युद्ध, निरोगी राजस्थान, निशुल्क दवा एवं जांच तथा मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना की प्रगति जानी। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग से संबंधित मुख्यमंत्री कन्यादान, सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजनाओं के अलावा पालनहार योजना की प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि पालनहार योजना के तहत लाभान्वित जिन बच्चों के अध्ययन प्रमाण पत्र अब तक ऑनलाइन नहीं हुए हैं, संबंधित ब्लॉक शिक्षा अधिकारी इन्हें अविलंब ऑनलाइन करवाए, जिससे पात्र बच्चे इसके लाभ से वंचित नहीं रहे।
जिला कलक्टर ने आरएसएलडीसी द्वारा संचालित कौशल विकास केंद्रों तथा इनमें चल रहे विभिन्न ट्रेडस के प्रशिक्षण के बारे में जाना। उद्योग विभाग की राजस्थान निवेश प्रोत्साहन योजना का व्यापक प्रचार-प्रसार करने के निर्देश दिए। जन आधार कार्ड बनाने और इनका शत-प्रतिशत वितरण सुनिश्चित करने को कहा। उन्होंने श्रम विभाग की शुभ शक्ति योजना के तहत पात्रजनों का वेरिफिकेशन करते हुए इन्हें अविलंब लाभान्वित करने के निर्देश दिए। इसके लिए ग्राम पंचायत वार कार्यक्रम निर्धारित करते हुए इसकी सूचना उपलब्ध करवानी होगी।
संपर्क प्रकरणों की हुई समीक्षा
बैठक के दौरान संपर्क पोर्टल पर दर्ज, लंबित और निस्तारित प्रकरणों की समीक्षा की गई। जिला कलक्टर ने कहा कि किसी भी विभाग के 30 दिन से ऊपर के प्रकरण लंबित नहीं रहें। इसकी उच्च स्तर पर नियमित समीक्षा होती है, ऐसे में प्रकरण निस्तारण में किसी भी स्तर पर लापरवाही नहीं हो, इसका विशेष ध्यान रखें। उन्होंने राइट टू सीएम सहित विभिन्न आयोगों के प्रकरणों को भी समयबद्ध निस्तारण करने के निर्देश दिए।
बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रशासन) बलदेव राम धोजक, अतिरिक्त कलक्टर (शहर) अरुण प्रकाश शर्मा, महिला एवं बाल विकास अधिकारिता विभाग की उपनिदेशक शारदा चौधरी, सहायक निदेशक (लोक सेवाएं) सविना बिश्नोई, जिला उद्योग केंद्र की महाप्रबंधक मंजू नैण गोदारा, सामाजिक एवं न्याय अधिकारिता विभाग के उपनिदेशक एल डी पंवार, पशुपालन विभाग के संयुक्त निदेशक डॉ ओ पी किलानिया, कृषि विभाग के उपनिदेशक कैलाश चौधरी व सूचना एवं प्रौद्योगिकी विभाग के संयुक्त निदेशक सत्येंद्र सिंह राठौड़ सहित विभिन्न विभाग के अधिकारी मौजूद रहे।

 

What's your reaction?

Leave A Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *