जन शिक्षण संस्थानों का राज्य स्तरीय कार्मिकों का कार्यक्षमता संवर्द्धन प्रशिक्षण सम्पन्न

3 Min Read

बीकानेर। सफलता के लिए सम्प्रेषण का ज्ञान होना और उसका सही जगह उपयोग करना जरूरी है। कार्यक्षेत्र हो या अन्य कोई भी स्थान हो अच्छा सम्प्रेषण व्यक्ति की अलग पहचान बनाता है। ये उद्बोधन बीकानेर प्रौढ़ शिक्षण समिति, बीकानेर के मानद सचिव श्री ओम कुवेरा ने राज्य स्तरीय कार्मिकों का कार्यक्षमता संवर्द्धन का दो-दिवसीय प्रशिक्षण के समापन सत्र में स्थानीय ‘होटल भारत पैलेस’, बीकानेर में व्यक्त किए। श्री कुवेरा ने बताया कि जो आप किसी को कहते हो, आप जिस भाव से कहते हो, वह भाव संुनने वाले व्यक्ति के उसी भाव से समझ में आता है, तब उसे अच्छा सम्प्रेषण कहते है।

जन शिक्षण संस्थान, बीकानेर द्वारा दिनांक 24-25 फरवरी, 2022 को राजस्थान में संचालित जन शिक्षण संस्थानों यथा – बीकानेर, जयपुर, सीकर, कोटा, झालावाड़, अजमेर, जैसलमेर, बाड़मेर के स्टाफ की राज्य स्तरीय कैपेसिटी बिल्डिंग प्रशिक्षण कार्यक्रम के दूसरे दिन प्रिण्ट मीडिया, इलैक्ट्रोनिक मीडिया एवं सोशल मीडिया के बारे में अनुभवी सन्दर्भ व्यक्तियों ने प्रशिक्षणार्थियों को महत्वपूर्ण जानकारियां दी। ई-काॅमर्स की जानकारी देते हुए शशंाक जोशी ने बताया कि आधुनिक युग में ई-काॅमर्स के माध्यम से छोटे लघु उद्योग अपने उत्पाद को उचित दाम पर अच्छे बाजार में उतार सकते है। इसी क्रम में संस्थान के लेखाकार लक्ष्मीनारायण चूरा ने नयी लेखा विधि के बारे में व्यवहारिक जानकारी दी।
समापन कार्यक्रम के अध्यक्षीय उद्बोधन के तहत जन शिक्षण संस्थान के चेयरमैन अविनाश भार्गव ने कहा कि इस दो दिवसीय प्रशिक्षण में विभिन्न विषयों पर अलग-अलग सत्रों में विस्तृत चर्चा की गई। संभागियों को सम्बोधित करते हुए श्री भार्गव ने कहा कि कौशल विकास के इस कार्यक्रम के तहत अब नयी ऊर्जा के साथ आप सब कार्य करेंगे।
संस्थान के निदेशक ओम प्रकाश सुथार ने बताया कि प्रशिक्षण का समापन हुआ है लेकिन एक नए जोश के साथ हम पुनः कौशल शिक्षा को नई ऊँचाईयां देने का कार्य करेंगे।
इस प्रशिक्षण में जन शिक्षण संस्थानों के उद्देश्यों एवं लक्ष्यों की समयबद्ध एवं गुणात्मक प्राप्ति एवं सहभागी कार्मिकों के कार्य-उत्तरदायित्व से जुड़े बहुत-से विषयों यथा – माॅनिटरिंग एंड सुपरविजन कौशल, मोटिवेशन, लीडरशीप, टीमवर्क, पीएफएमएस सिस्टम पर एकाउंट कार्य, वैल्यू एडिसन, आदर्श केन्द्र, फिल्ड विजिट, प्लेसमेंट, स्वयं सहायता समूह, मीडिया का महत्व  समूह कार्य आदि महत्वूपर्ण विषयों पर पर स्टाॅफ साथियों की कार्यक्षमता को तराशने का प्रयास किया गया। कार्यक्रम का संयोजन संस्थान के कार्यक्रम अधिकारी महेश उपाध्याय ने किया। अंत में राज्य के सभी जन शिक्षण संस्थानों की ओर से जेएसएस, झालावाड़ के निदेशक उदयभान सिंह राठौड़ ने आगंतुक अतिथियोें एव संभागियों के प्रति आभार व्यक्त करते हुए दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम में सक्रिय सहभागिता से उच्च परिणाम हासिल किए जाने की बात कही। साथ ही इस प्रशिक्षण को एक सफल आयोजन बताया और सहभागियों को धन्यवाद ज्ञापित किया।

Share This Article