न्यास और निगम की भूमि से हटाएं जाएं अतिक्रमण , शहर में 5 जोनल प्लान हुए तैयार

3 Min Read

बीकानेर। संभागीय आयुक्त नीरज के पवन ने नगर विकास न्यास और नगर निगम को अपने-अपने क्षेत्र की समस्त सरकारी भूमि से अतिक्रमण और कब्जे हटाने के निर्देश दिए हैं।
नीरज के पवन ने बुधवार यूआईटी सभागार में अधिकारियों के साथ बैठक में ये निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि यूआईटी की ऐसी जमीन जो वर्तमान में न्यास के नाम नहीं है तो इसे प्राथमिकता से न्यास अपने नाम दर्ज करवाएं और अपनी जमीन का रिकॉर्ड रखने के लिए अपने यहां एक प्रोपर्टी रजिस्टर मेंटेन करें।

अवैध कोलोनियों के खिलाफ करें कार्यवाही

संभागीय आयुक्त ने उपखंड अधिकारी और तहसीलदार राजस्व को चकगर्बी और गेमानपीर रोड़ पर बसी अवैध कोलोनियों के खिलाफ कार्यवाही कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश भी दिए। उन्होंने कहा कि अवैध निर्माण चिन्हित किए जाएं। साथ ही यह भी सुनिश्चित किया जाए कि भवन निर्माण स्वीकृति के लिए प्रस्तुत प्रकरणों में उचित जांच के बाद ही एनओसी जारी हो।

- Advertisement -

लक्ष्मीनाथजी मंदिर सड़क से हटें अतिक्रमण
संभागीय आयुक्त ने नगर निगम को आयुक्त को लक्ष्मीनाथजी मंदिर की सड़क पर अगले दो दिन में अतिक्रमण चिन्हित करते हुए हटवाने की कार्यवाही सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि  लोगों को समझाइश करते हुए अगले दो दिन में लाल निशान लगवाएं ताकि वे खुद से अतिक्रमण हटा सकें, अन्यथा निगम द्वारा कार्यवाही की जाए।
नीरज के पवन ने कहा कि निगम और यूआईटी अपने -अपने क्षेत्र के समस्त पार्कों का सर्वे करें और जहां भी अतिक्रमण या कब्जे पाये जाएं तो उसे हटवाने की कार्यवाही करें। नीरज के पवन ने कहा कि शहर के विभिन्न सामुदायिक भवनों पर जहां लोगों ने कब्जे कर रखे हैं उन्हें तुरंत प्रभाव से हटाया जाए। उन्होंने कहा कि जो लाल र्क्वाटर जर्जर स्थिति में है उनको तोड़ कर कब्जा लिया जाए।
बैठक में नगर विकास न्यास सचिव नरेन्द्र सिंह राजपुरोहित ने बताया कि शहर के 5 जोनल प्लान तैयार किए जा चुके हैं। इस पर संभागीय आयुक्त ने इन क्षेत्रों से आमजन द्वारा पट्टे के लिए आवेदन करने पर  समयबद्ध रूप से पट्टा जारी करने की कार्यवाही करने को कहा। बैठक में नगर निगम आयुक्त गोपालाराम बिरदा, उपखंड अधिकारी बीकानेर अशोक विश्नोई, तहसीलदार राजस्व बिहारीलाल, सहित यूआईटी अभियंता और पटवारी उपस्थित रहे।

Share This Article