fbpx

फैशन डिजाइनिंग प्रशिक्षण का मूल्यांकन एवं तैयार उत्पाद प्रदर्शनी का आयोजन

फैशन डिजाइनिंग प्रशिक्षण का मूल्यांकन एवं तैयार उत्पाद प्रदर्शनी का आयोजन bikaner hulchul फैशन डिजाइनिंग प्रशिक्षण का मूल्यांकन एवं तैयार उत्पाद प्रदर्शनी का आयोजन 20200120 171945

बीकानेर , आपने जो काम सीखा है उससे अपनी पहचान बनाएं ’’ ये उद्बोधन जन शिक्षण संस्थान, बीकानेर के वाइस चेयरमैन श्री अविनाश भार्गव ने मुख्य अतिथि के रूप में संस्थान द्वारा स्थानीय रामपुरा बस्ती में संचालित फैशन डिजाइनिंग प्रशिक्षण केन्द्र के मूल्यांकन के अवसर पर प्रशिक्षणार्थियों का उत्साहवर्द्धन करते हुए व्यक्त किए।
उल्लेखीनय है कि यह छः माही फैशन डिजायनिंग प्रशिक्षण कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय भारत सरकार के सौजन्य से संचालित जन शिक्षण संस्थान की ओर से स्थानीय रामपुरा बस्ती की नवसाक्षर, अल्पशिक्षित एवं आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग की किशोरियों एवं महिलाओं को आर्थिक रूप से स्वावलंबी बनाने लिए संचालित किया गया था।
मूल्यांकन समारोह के मुख्य अतिथि श्रीभार्गव ने कहा कि आज बेरोजगारी के विकट दौर में हाथ का हुनर हमारी आत्मनिर्भरता का मुख्य आधार है। इसलिए इस छःमाही प्रशिक्षण से आपने जो हुनर प्राप्त किया है उससे रोजगार-स्वरोजगार से जुड़कर अपने आर्थिक स्वावलंबन का मार्ग प्रशस्त करें।
विशिष्ट अतिथि स्थानीय वार्ड पार्षद श्रीमती मजीदन चैहान ने प्रशिक्षणार्थियों को नगर निगम, बीकानेर की स्वरोजगार ऋण योजनाओं से जुड़कर अपना स्वरोजगार स्थापित करने का संदेश दिया। इसके साथ ही प्रशिक्षणार्थियों आत्मनिर्भरता के लिए अपनी ओर से हर सम्भव सहयोग देने का आश्वासन दिया।
इसी क्रम में जन शिक्षण संस्थान के निदेशक श्री रामलाल सोनी ने कहा कि जन शिक्षण संस्थान पूरे देश में एकमात्र ऐसी योजना है जो समाज के उस वर्ग के विकास के लिए कार्य करता है जिस वर्ग के लिए विकास की मुख्यधारा में शामिल होने के संभावनाएं दिखाई नहीं देती। संस्थान द्वारा निरक्षर, नवसाक्षर एवं अल्पशिक्षित और सामाजिक एवं आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग के लिए कौशल विकास एवं जीवन संवर्द्धन शिक्षा के कार्य किए जाते हैं। इसके साथ ही उन्होंने प्रशिक्षणार्थियों को स्वयं सहायता समूह के रूप में कार्य करने की जानकारी दी।
उल्लेखनीय है कि मूल्यांकन के प्रथम सत्र में प्रशिक्षणार्थियों द्वारा तैयार उत्पाद की प्रदर्शनी का शुभारंभ आगंतुक अतिथियों के कर-कमलों से किया गया। इस तैयार उत्पाद की प्रदर्शनी में प्रशिक्षुओं द्वारा छःमाह में तैयार किए गए विभिन्न आकर्षक वस्त्र प्रदर्शित किए गए। जिसका अवलोकन रामपुरा बस्ति की लोगों ने किया एवं तैयार उत्पाद की खूब प्रशंसा की।
संस्थान के कार्यक्रम अधिकारी ओमप्रकाश सुथार ने प्रशिक्षणार्थियों को तैयार उत्पाद में वेल्यू एडिसन करने के तरीके बताए गए।
संस्थान की संदर्भ व्यक्ति रोशन परवीन ने छःमाही प्रशिक्षण के दौरान सीखाए गए कार्यों की जानकारी दी। इसी क्रम में नाजमीन पठान एवं अमरीन ने प्रशिक्षण के माध्यम से विकट परिस्थितियों में भी आत्मनिर्भर बनने की बात कही।

COMMENTS

WORDPRESS: 0