गौतम ने किया बीकानेर पंचायत समिति का निरीक्षण

गौतम ने किया बीकानेर पंचायत समिति का निरीक्षण bikaner गौतम ने किया बीकानेर पंचायत समिति का निरीक्षण KPG1

बीकानेर,   जिला कलक्टर कुमारपाल गौतम ने कहा कि पंचायत समिति स्तर पर ग्राम पंचायतों द्वारा आबादी भूमि के पट्टे जारी किए जाते हैं और इन जारी पट्टों का रजिस्टर में इन्द्राज किया जाता है। अब सभी पट्टे आॅनलाईन किए जाएं, इसके लिए सभी ग्राम पंचायतों से तत्काल पट्टे जारी होने की सूचना मंगवाई जाए, साथ ही आबादी भूमि के अतिरिक्त सार्वजनिक उपयोग हेतु जो भूमि आवंटित की जाती है, वह भी आॅनलाईन करवाई जाए।
गौतम ने यह निर्देश गुरूवार को बीकानेर पंचायत समिति के विकास अधिकारी कार्यालय के निरीक्षण के दौरान विकास अधिकारी को दिए, साथ ही उन्होंने कहा कि मनरेगा में श्रमिकों की संख्या बढ़ाने के लिए सभी प्रसार अधिकारी प्रतिदिन ग्राम पंचायतों में जाकर जरूरत के मुताबिक कार्य प्रारंभ करने के प्रस्ताव बनाकर पंचायत समिति को भेजें, ताकि कार्य प्रारंभ करने की स्वीकृति जारी की जाए। उन्होंने विकास अधिकारी को कड़े शब्दों में कहा कि पंचायत समिति क्षेत्र में केवल 34 गांवों में ही कार्य चलना और सिर्फ 1 हजार 600 मजदूर नियोजित होना निर्धारित मानकों से कम तो है ही, साथ ही जरूरतमंद को रोजगार न दे पाना अपने कत्र्तव्य के प्रति लापरवाही भी दर्शाता है।
जिला कलक्टर ने निरीक्षण के दौरान 8 प्रसार अधिकारियों के पदस्थापन होने और सभी द्वारा नाॅम्र्स के अनुसार कार्य नहीं किया जाना भी पाया। उन्होंने 2 प्रसार अधिकारियों को चार्जशीट देने के निर्देश दिए। गौतम ने कहा कि सभी प्रसार अधिकारी सरकार की विभिन्न योजनाओं के बारे में लोगों के बताए। उन्होंने कहा कि विकास अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि वृद्धावस्था पेंशन, विधवा पेंशन, विकलांग पेंशन, किसान वृद्धजन पेंशन एवं ग्रामीण पोप योजना में सभी पात्र व्यक्तियों को लाभ मिले, इसके लिए प्राप्त आवेदनों का निस्तारण तत्काल करें।
जिला कलक्टर ने कहा कि पंचायत समिति से जुड़े विभिन्न जन-प्रतिनिधियों सहित अधिकारियों और कर्मचारियों ने अग्रिम राशि विभिन्न मदों से ले रखी है, उसका तत्काल समायोजन करवाया जाए। इसके साथ ही पंचायत समिति परिसर में जो नकारा सामान पड़ा है, उसकी नीलामी की कार्यवाही की जाए। उन्होंने विकास अधिकारी को निर्देश दिए कि भविष्य में जब भी वे ग्राम पंचायतों का निरीक्षण करने जाएं, तो उसका निरीक्षण प्रतिवेदन संधारित किया जाए। निरीक्षण के दौरान भारतीय प्रशासनिक सेवा के प्रशिक्षु अधिकारी अभिषेक सुराणा साथ थे।

COMMENTS

WORDPRESS: 0