ग्राम पंचायत स्तरीय जनसुनवाई आयोजित, जिला कलेक्टर ने गजनेर में सुनी समस्याएं

3 Min Read

बीकानेर। जिला कलक्टर भगवती प्रसाद कलाल ने गुरुवार को गजनेर में आयोजित ग्राम पंचायत स्तरीय जनसुनवाई में ग्रामीणों की समस्याएं सुनीं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा ग्राम पंचायत, उपखण्ड और जिला स्तर पर आमजन की समस्याओं को सुनने और इनके त्वरित समाधान के लिए त्रिस्तरीय व्यवस्था प्रारम्भ की है। प्रत्येक अधिकारी इनमें पूर्ण गंभीरता से भागीदारी निभाएं। इस दौरान ग्रामीणों ने अंतिम छोर तक पानी नहीं पहुंचने की शिकायत की। इस संबंध में जिला कलक्टर ने ग्राम पंचायत में अवैध पेयजल कनेक्शन काटने और बूस्टर जब्त करने का सघन अभियान चलाने के निर्देश दिए। साथ ही शिकायत कर्ता के पेजयल की सुचारू आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए मौका मुआयना करने और कार्यवाही से अवगत करवाने के निर्देश जलदाय विभाग के अधिकारियों को दिए। उन्होंने कहा कि गांव में से कोई भी भारी वाहन नहीं गुजरे।

इसके लिए गांव के प्रवेश मार्ग पर गर्डर लगाए जाएं। इस संबंध में ग्रामीणों ने शिकायत करते हुए जिला कलक्टर को अवगत करवाया कि टोल से बचने के लिए कुछ वाहन चालक गांव में से होकर गुजरते हैं, इससे गांव में दुर्घटना की संभावना रहती है। इसके मद्देनजर जिला कलक्टर ने यह निर्देश दिए। जनसुनवाई के दौरान दिव्यांग रसीदा ने आने-जाने में होने वाली परेशानी की जानकारी दी और ट्राईसाइकिल उपलब्ध करवाने की मांग की। जिला कलक्टर ने सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग उपनिदेशक एलडी पंवार को शुक्रवार को ही रसीदा को ट्राईसाइकिल उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए। इस दौरान उन्होंने मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना की जानकारी दी और सभी परिवारों को इससे जुड़ने का आह्वान किया। साथ ही बेटे और बेटी में भेद नहीं करते हुए, दोनों को आगे बढ़ने के समान अवसर उपलब्ध करवाने की अपील की। सामाजिक न्याय आपके द्वार अभियान के सर्वे की समीक्षा की और गजनेर को नशा मुक्त पंचायत बनाने में प्रत्येक ग्रामीण की भागीदारी को महत्वपूर्ण बताया। इस दौरान श्रीकोलायत के उपखण्ड अधिकारी प्रदीप चाहर, तहसीलदार मोहर सिंह, तहसीलदार (उपनिवेशन) शिव प्रसाद गौड़, विकास अधिकारी दिनेश सिंह भाटी, झंवर लाल सेठिया, ओम प्रकाश सेन तथा सरपंच गीता देवी आदि मौजूद रहे।

Share This Article