लॉकडाउन को लेकर स्वास्थ्य मंत्री ने कही ये बड़ी बात

लॉकडाउन को लेकर स्वास्थ्य मंत्री ने कही ये बड़ी बात  लॉकडाउन को लेकर स्वास्थ्य मंत्री ने कही ये बड़ी बात fdk 1

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा लॉकडाउन नहीं , मास्क है कोरोना का जवाब

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने माना कि प्रदेश में कोरोना की स्थिति गंभीर है लेकिन लॉकडाउन इससे निपटने का उपाय नहीं है। बतौर जिला प्रभारी मंत्री दो दिवसीय दौरे पर यहां आए डॉ. शर्मा ने कहा कि कोरोना की वैक्सीन नहीं आई है। ऐसे में प्रदेश के लोग एक माह मास्क लगा लें तो कोरोना चेन टूट सकती है। प्रशासन से जनता को सहयोग करना होगा। डॉ. शर्मा ने शनिवार शाम सर्किट हाउस में पत्रिका से बात में कहा कि लॉकडाउन से प्रदेश की आर्थिक स्थिति फिर चरमा जाएगी। अभी महज ४२ फीसदी राजस्व आने लगा है। देश की आर्थिक स्थिति पर भी विपरीत गहरा असर पड़ा है। यदि लॉकडाउन कर देंगे तो आमजन की माली दशा बिगड़ जाएगी। वरिष्ठ चिकित्सकों ने विभिन्न संगठनों व जनप्रतिनिधियों के साथ इस पर चर्चा की। इसमें यह बात सामने आई की लॉकडाउन समाधान नहीं है। यदि एक माह प्रदेश में लोग गंभीरता से मास्क लगा ले, सोशल डिस्टेंस रखे एवं सैनिटाइज इस्तेमाल करें तो कोरोना से बचाव संभव है।

लॉकडाउन को लेकर स्वास्थ्य मंत्री ने कही ये बड़ी बात prachina in article 1

जनांदोलन होगा कारगर उन्होंने बताया कि सरकार ने जून में भी जागरुकता अभियान चलाया था। कई शहरों में धारा १४४ लगाई लेकिन लोगों ने गंभीरता नहीं दिखाई। यही कारण है कि सरकार ने प्रदेश में दो अक्टूबर से कोरोना के खिलाफ जन आंदोलन शुरू किया है। प्रदेश में कोरोना रिकवरी रेेट अच्छी है। ८४ फीसदी तक रोगी ठीक हो रहे हैं। मृत्यु दर भी कम है। ऐसे में लोग लापरवाही बरत रहे हैं। एक व्यक्ति की कई जांच, इससे बढ़ रहे आंकड़े

मंत्री शर्मा ने सरकार के कोरोना संक्रमित के आंकड़े छिपाने के आरोपों से इनकार किया। उन्होंने बताया कि प्रदेश में एक व्यक्ति कई बार कोरोना जांच करा रहे हैं। ऐसे लोगों को सूचीबृद्ध कर उनके नाम हटा रहे हैं। इसी कारण आंकड़ों में दोहराव हटा है। ऑक्सीजन की कमी नहीं उन्होंने बताया कि प्रदेश व जिले में कोरोना से निपटने के लिए चिकित्सकीय उपकरण, ऑक्सीजन सिलेडर की कमी नहीं है। निजी चिकित्सालयों में लूट खसोट बढऩे के आरोप पर कहा, सरकार ने निजी चिकित्सालय में कोरोना की जांच व उपचार की दरें तय कर रखी है। यदि कही शिकायत है तो तुरंत कार्रवाई होगी।

 

COMMENTS