मिश्री के सिट्टे एवं हाथों की अंगुलियों पर राजस्थानी पगड़िया पहना कर योग गुरु रामदेव का किया सम्मान

 मिश्री के सिट्टे एवं हाथों की अंगुलियों पर राजस्थानी पगड़िया पहना कर योग गुरु रामदेव का किया सम्मान

बीकानेर । आज हरिद्वार स्थित योग ग्राम मे स्वामी रामदेव जी को  लक्ष्मन मोदी ,डॉ अमित पुरोहित एवम् नुतन व्यास ने विश्व प्रसिद्ध बीकानेरी मिश्री का सिट्टा भेंट किया और वर्ल्ड बुक ऑफ रिकोर्ड होल्डर पवन व्यास द्वारा बांधी गई दुनिया की सबसे छोटी राजस्थान की आन बान शान व शौर्य की प्रतीक  पंगडियो को स्वामी रामदेव के हाथो की अंगुलियो पर पहना कर सम्मान किया। डॉ अमित पुरोहित ने उन्हे मिश्री के औषधीय गुणो की भी जानकारी देते हुवे बताया कि यह सिट्टा एक ओर मिठास का प्रतीक है वही दूसरी ओर शुद्धता के साथ किसी को विशेष सम्मान मे दिया जाता है।योग गुरु रामदेव ने मिश्री का रसास्वादन करते हुवे इसको स्वास्थ्य के लिए लाभदायक बताया। स्वामी रामदेव को लक्ष्मण मोदी ने इसके निर्माण की प्रक्रिया को समझाते हुवे बताया कि यह मिश्री उदर रोगों मे एवं प्रसव के बाद महिलाओं को औषधी के रूप मे दिया जाता है।डॉ अमित पुरोहित ने बच्चो मे पनपने वाली आटिज्म एवं सैरब्रलपाल्सी जैसी अजीबोगरीब विकलांगता के विषय मे योगगुरु रामदेव जी से चर्चा की।इस मौके पर स्वामी रामदेव ने कहा कि इस तरह की समस्याओं का निराकरण सही समय पर करवाना चाहिए तथा ऐसे बच्चो को संतुलित आहार देने के साथ स्नेहपूर्ण व्यवहार समाज को करना चाहिए तब ही ये बच्चे समाज एवं शिक्षा की मुख्य धारा से जुड़ सकते है तथा बच्चो के सही रखरखाव के विषय मे मार्गदर्शन दिया।

S.N.Acharya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page