fbpx

राजस्थान में नियम विरुद्ध पटाखे बेचे तो भरना पड़ेगा भारी जुर्माना

राजस्थान में नियम विरुद्ध पटाखे बेचे तो भरना पड़ेगा भारी जुर्माना  राजस्थान में नियम विरुद्ध पटाखे बेचे तो भरना पड़ेगा भारी जुर्माना fire

राजस्थान में नियम विरुद्ध पटाखे बेचे तो भरना पड़ेगा भारी जुर्माना mr bika fb post

जयपुर. राजस्थान में इस बार भले ही दिवाली पर ग्रीन पटाखे (Green Crackers) छोड़ने की छूट मिल गई हो, लेकिन नियम विरुद्ध पटाखे बेचने और चलाने दोनों पर आपको भारी जुर्माना (Heavy Fine) भी भरना पड़ सकता है. राजस्थान सरकार ने इस संबंध में शनिवार को अधिसूचना जारी कर दी है. इसके तहत नियम विरुद्ध पटाखे बेचने पर 10 हजार रुपये और चलाने पर 2 हजार रुपये का जुर्माना लगेगा. दिवाली पर सरकार ने पटाखे छोड़ने के लिये दो घंटे का समय तय किया है. इसके तहत रात 8 बजे से 10 बजे तक ही पटाखे छोड़े जा सकेंगे. नियमों का उल्लंघन ना हो इसके लिये सरकार निगरानी के भी पुख्ता व्यवस्था करेगी.

राजस्थान में नियम विरुद्ध पटाखे बेचे तो भरना पड़ेगा भारी जुर्माना prachina in article 1

अधिसूचना के मुताबिक एनसीआर क्षेत्र में किसी भी तरह की आतिशबाजी बेचने पर पूर्णतया प्रतिबंध लागू हैं. शेष राज्य में केवल ग्रीन आतिशबाजी की बिक्री की जा सकती है. दोनों ही मामलों नियमों का उल्लंघन पाये जाने पर विक्रेता पर 10 हजार रुपये का जुर्माना लगाया जायेगा. इसी तरह से एनसीआर क्षेत्र में किसी भी तरह की आतिशबाजी करने पर पूर्णतया प्रतिबंध है. एनसीआर के अलावा शेष राज्य में ग्रीन आतिशबाजी के अलावा किसी तरह की आतिशबाजी करते हुये पाया जाता है तो उस पर दो हजार रुपये का जुर्माना लगाया जायेगा.

उल्लेखनीय है कि राजस्थान सरकार ने प्रदेश में दीपावली पर दो घंटे ग्रीन पटाखे चलाने की अनुमति प्रदान की है. इसके तहत राज्य सरकार की ओर से प्रदेश के एनसीआर क्षेत्र को छोड़कर दिवाली पर रात को 8 से 10 बजे तक दो घंटे ग्रीन पटाखों को चलाने की अनुमति प्रदान की गई है. इसके साथ ही क्रिसमस एवं नववर्ष पर रात 11.55 से 12.30 बजे तक, गुरू पर्व पर रात 8 से 10 बजे तक और छठ पर्व पर सुबह 6 से 8 बजे तक ग्रीन पटाखा चलाने की अनुमति दी गई है. गृह विभाग ने इस संबंध में पहले आदेश जारी किये थे. उसके बाद शनिवार को इसके संशोधित आदेश जारी किये गये हैं.

Zomato  राजस्थान में नियम विरुद्ध पटाखे बेचे तो भरना पड़ेगा भारी जुर्माना o2 badge r

COMMENTS

You cannot copy content of this page