IIT jodhpur ने विकसित किया सैनेटाइज करने का नया तरीका, देश की 5 कंपनियों को सौंपी तकनीक

IIT jodhpur ने विकसित किया सैनेटाइज करने का नया तरीका, देश की 5 कंपनियों को सौंपी तकनीक  IIT jodhpur ने विकसित किया सैनेटाइज करने का नया तरीका, देश की 5 कंपनियों को सौंपी तकनीक mask 6087747 835x547 m

जोधपुर. भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आइआइटी) जोधपुर द्वारा कोरोना वायरस से चिकित्सकों के पीपीई किट, मास्क सहित अन्य उपकरण सेनेटाइज करने के लिए हाल ही में विकसित की गई तकनीक को देश की पांच कम्पनियों को सौंपा गया है। आइआइटी जोधपुर ने फ्री में टेक्नोलॉजी ट्रांसफर किया है। कम्पनियों द्वारा तैयार उपकरण पर केवल आइआइटी जोधपुर का लोगो व मार्का होगा। शीघ्र ही पांचों कम्पनियां उपकरण बनाकर देशभर के अस्पतालों में सप्लाई कर सकेगी।

यह है तकनीक
आइआइटी जोधपुर के प्रोजेक्ट प्रमुख प्रो राम प्रकाश ने बताया कि यह उपकरण एडवांस फोटोकैटाइटिक ऑक्सीडेशन स्टरलाइजेशन सिस्टम है जो पराबैंगनी विकिरणों और धात्विक ऑक्साइड के नैनों कणों पर आधारित है। इसके अंतर्गत एक एसेम्बली में पराबैंगनी विकिरणों का स्त्रोत और एक धात्विक ऑक्साइड के नैनो कणों की परत लगे पैनल समानांतर क्रम में लगाए गए हैं। पराबैंगनी विकिरणें निकल धात्विक पैनल से टकराकर हाईड्रोजन पराक्साइड, हाईड्रोक्सिल आयन जैसे ऑक्साइड उत्पन्न करती है जो स्टरलाइजेशन प्रोसेस को काफी बढ़ा देती है। दो ऐसेम्बली के बीच मास्क या अन्य मेडिकल उपकरण रखकर उसको 5 मिनट में सेनेटाइज किया जा सकता है।

इन पांच कम्पनियों को टेक्नोलॉजी ट्रांसफर
– केमटेक एसोसिएट प्रा. लि., जयपुर
– पारापप्ड़ी टेक्नोलोजी प्रा. लि. केरला
– केम फॉर्मा इंडस्ट्रीज इंडिया प्रा. लि., सोनीपत
– इस्कॉन सर्जिकल, जोधपुर
– जौहरी डिजिटल, जोधपुर

COMMENTS