बीकानेर

मजबूरी में बर्फ पिघला कर प्यास बुझानी पड़ी ,भारतीय छात्र ने सुनाई दास्तां

नई दिल्ली. रूसी हमले के बाद युद्धग्रस्त यूक्रेन में फंसे भारतीय नागरिकों और छात्रों को वहां से सुरक्षित निकालने के लिए भारत सरकार निरंतर कोशिश में लगी है. इस बीच, उत्तरपूर्वी शहर सुमी में फंसे कुछ भारतीय छात्र बर्फ को पिघला कर पानी का इंतजाम कर रहे हैं. साथ ही सरकार से मदद की गुहार भी लगा रहे हैं. शहर में 700 से 800 छात्र फंसे हैं. सुमि में ट्रेन और बसें रुक गई हैं, सड़कें और पुल नष्ट हो गए हैं तथा सड़कों पर लड़ाई हो रही है. एक बड़े धमाके के बाद से शहर में बिजली और पानी की सप्लाई भी बंद हो गई है.

यूक्रेन के सूमी शहर में गुरुवार शाम एक बम विस्फोट के बाद सूमी स्टेट यूनिवर्सिटी में पढ़ रही केरल की मेडिकल की तीसरी वर्ष की छात्रा मालविका मनोज को अपनी प्यास बुझाने के लिए बर्फ पिघलाने के लिए मजबूर होना पड़ा. सुमी में फंसे छात्रों में से एक मालविका ने बताया, “हमने कुछ पानी जमा किया था, लेकिन वह खत्म हो गया. आज हमने बाहर से बर्फ ली और उसे पिघलाया.”

What's your reaction?