बीकानेर

राजकीय सैटेलाइट अस्पताल, गंगाशहर में आज ’आचार्य तुलसी आपातकालीन विभाग’ का लोकार्पण

गंगाशहर। राजकीय सैटेलाइट अस्पताल, गंगाशहर में आज ’आचार्य तुलसी आपातकालीन विभाग’ के लेाकार्पण किया गया। गंगाषहर नागरिक परिषद् कोलकाता के तत्वावधान में इस आपातकालीन विभाग में पंजीकरण, नर्सिंग केयर कक्ष, जनरल वार्ड, अधीक्षक सहित 3 चिकित्सक कक्षों के निर्माण, नवनिर्माण व साज सज्जा में मोटाराम सूरजमल दूगड़ परिवार ने व आपातकालीन कक्ष के नवनिर्माण व साज सज्जा में कानीराम शान्तिलाल नवनीत डाकलिया परिवार ने योगदान दिया है। इस आपातकालीन विभाग के चालू हो जाने से गंगाषहर भीनासर, सुजानदेसर, श्री रामसर, करमीसर उदयरामसर आदि आसपास के पूरे क्षेत्र को आपातकालीन सुविधाऐं उपलब्ध हो सकेगी।
आज प्रातः आचार्य श्री महाश्रमण जी ने इस आचार्य तुलसी आपातकालीन विभाग में चरण स्पर्श करवाए व मंगलपाठ सुनाया। इस अवसर पर गंगाषहर नागरिक परिषद् के पदिाधिकारियों व सदस्यांे, अस्पताल के चिकित्सकों व कर्मचारियों के साथ ही हजारों व्यक्ति उपस्थित रहे।

शाम को औपचारिक लोकार्पण षिक्षा मंत्री डॉ बीडी कल्ला, महापौर श्रीमती सुषीला कंवर व संभागीय आयुक्त नीरज के पवन ने किया। इसके साथ ही लोकार्पण समारोह में पूर्व यूआईटी चेयरमैन महावीर रांका, पूर्व महापौर नारायण चोपड़ा, चम्पालाल डागा, पीबीएम अधीक्षक डॉ पी के सैनी, डॉ सुरेंद्र वर्मा, हजारीमल देवड़ा, राजेष दाधीच, गंगाषहर नागरिक परिषद् के अध्यक्ष मदनलाल मरोटी आदि गणमान्य व्यक्ति मंचासीन थे।

डॉ बीडी कल्ला ने अस्पताल में गंगाषहर नागरिक परिषद् द्वारा गोद लेकर गंगाषहर अस्पताल में करवाये जा रहे कार्यों की भूरि-भूरि प्रषंसा करते हुए अपने उद्बोधन में कहा कि अस्पताल के प्रसूति गृह को तत्काल प्रारम्भ करवाया जायेगा। उन्होंने अस्पताल में फुली ऑटो एनालाइजर की व्यवस्था करवाने की घोषणा की। मंत्री महोदय ने कहा कि अस्पताल में डिजिटल एक्स रे मशीन भी उपलब्ध करवाई जाएगी। उन्होंने पी.बी.एम. अस्पातल के अधीक्षक की स्वीकृति से 10 नर्सिंग और पैरामेडिकल स्टाफ की शीघ्र नियुक्ति की जाएगी। डाॅ. बी.डी. कल्ला ने अस्पताल में निर्माण या अन्य आवष्यक मषीनों की सुविधाएं विकसित करने के लिए विधायक कोष से 21 लाख रूपए देने की घोषणा भी की। उन्होंने डी एम एफ टी पर लगी रोक हटाने पर उससे भी 50 लाख का काम करवाने के लिए प्रयास किए जाएंगे। उन्होंने आगामी 25 वर्षों की आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए मास्टर प्लान बनाने को कहा।
इस दौरान संभागीय आयुक्त नीरज के. पवन ने गंगाशहर अस्पताल की रोड़ को अतिक्रमण मुक्त करने की बात कही। नीरज ने कहा कि हलांकि ठेलें वालों में किसी को बेरोजगार नहीं होने देंगे, पर स्थान उपलब्ध करवा कर गंगाषहर के चैक व सड़कों को संकरा करने वाले ठेलों को हटाकर रास्ते व सड़कों को सही किया जायेगा।
महापौर सुशीला कंवर ने कहा कि गंगाशहर दानशीलता व सेवा भाव के लिए जाना जाता है। आपातकालीन विभाग का नवीनीकरण इसी सेवा भाव की एक कड़ी है।

इस अवसर पर भामाषाह मोटाराम सूरजमल दूगड़ परिवार, कानीराम शान्तिलाल डाकलिया परिवार, चम्पालाल चैपड़ा के साथ ही सेवा भाव से सतत सक्रिय सहयोग प्रदान करने वाले सम्पतलाल दूगड़, महेन्द्र चैपड़ा व सोहनलाल चैधरी का अभिनन्दन किया गया। इस अवसर पर डाॅ. मुकेष बाल्मिकी व डाॅ. संजीव सहगल का भी सम्मान किया गया। दीर्घकाल से अच्छी सेवाओं के लिए श्री मोहनलाल मोदी, मनोज प्रजापत, अमित सारस्वत, दिलीपसिंह खाती, सीताराम रेण आदि अस्पताल स्टाफ के सदस्यों का भी सम्मान किया गया।
कार्यक्रम में कन्हैयालाल बोथरा, मोहन सुराणा, निर्मल भूरा, इंद्र चंद सिंगी, कन्हैयालाल सोनावत, मांगीलाल सेठिया, विनोद बाफना, सुरेंद्र बद्धाणी, विजय कोचर, चंपकमल सुराणा, शुभकरण डागा, जतन लाल दूगड़, अशोक संचेती, डॉ पीसी तातेड़, गिरीराज सेवग, डॉ संपत्त डागा, हेम शर्मा, जिला शिक्षा अधिकारी डॉ राजकुमार शर्मा, डीईओ सुरेंद्र सिंह भाटी, ईश्वरचंद दूगड़, एडीइओ सुनील बोड़ा, राजकुमार दूगड़, भंवरलाल शर्मा, व सुमित दूगड़ आदि क्षेत्र के अनेक गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे।

What's your reaction?