‘शांति मार्च’ के साथ आजादी का अमृत महोत्सव शुरू

‘शांति मार्च’ के साथ आजादी का अमृत महोत्सव शुरू  ‘शांति मार्च’ के साथ आजादी का अमृत महोत्सव शुरू IMG 20210312 WA0016

‘शांति मार्च’ के साथ आजादी का अमृत महोत्सव शुरू mr bika fb post

बीकानेर। आजादी का अमृत महोत्सव ‘शांति मार्च’ के साथ शुक्रवार को प्रारम्भ हुआ। अतिथियों ने गांधी पार्क में महात्मा गांधी की मूर्ति के समक्ष पुष्पांजलि अर्पित कर आजादी की जंग मे अपना सर्वस्व न्यौछावर करने वालों के प्रति कृतज्ञता प्रकट की। स्कूली बच्चों ने महात्मा गांधी, जवाहर लाल नेहरु और कस्तूरबा गांधी का रूप धरा तो एनसीसी, राजस्थान राज्य स्काउट एंड गाइड के प्रतिनिधि तथा खिलाड़ियों सहित अन्य जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों ने शांति मार्च मंे भागीदारी निभाते हुए देशभक्ति का संदेश दिया।
जिला प्रशासन और नगर निगम के संयुक्त तत्वावधान् में ‘आजादी के अमृत महोत्सव’ के तहत आयोजित किए गए पहले कार्यक्रम में सभी प्रतिभागियों में उत्साह का माहौल था। इस अवसर पर जिला प्रमुख मोडाराम ने कहा कि यह शांति मार्च आजादी के संघर्ष से जुड़े लोगों को श्रद्वासुमन अर्पित करने का जरिया है। आज का दिन हमें उन कुर्बानियों की याद दिलाता है।
महापौर सुशीला कंवर ने कहा कि लाखों देशभक्तों की कुर्बानी से हमें आजाद हवा में सांस लेने का मौका मिला है। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने दांडी मार्च के माध्यम से स्वतंत्रता आंदोलन से देश के आम आदमी को जोड़ते हुए यह साबित किया कि अहिंसा में कितनी बड़ी ताकत है। अहिंसा के पथ पर चलकर हमें अंग्रेजी दासतां से आजादी मिली। इस दिन को मनाते हुए हमें दांडी की महान ऐतिहासिक घटना से रूबरू होने का अवसर मिलेगा।
जिला कलक्टर नमित मेहता ने कहा कि हजारों देशभक्तों ने अपने प्राणों की कुर्बानी देकर देश को आजादी दिलाई। सविनय अवज्ञा आंदोलन प्रारम्भ करते हुए राष्ट्रपिता ने दांडी मार्च के माध्यम से अंग्रेजों के बनाए कानून तोड़े और जनता को अहिंसा अपनाते हुए सांकेतिक रूप से अंग्रेजी हुकुमत से लड़ने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने कहा कि हम अपने स्वतंत्रता सैनानियों के त्याग सदैव याद रखें इसलिए आजादी के 75 वर्ष पूर्ण होने का जश्न अमृत महोत्सव के रूप में मनाया जा रहा है। इसके तहत 15 अगस्त 2023 तक 75 कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।
कार्यक्रम में गांधी दर्शन समिति के जिला संयोजक संजय आचार्य ने संविधान की प्रस्तावना का किया। उन्होंने कहा कि ये आयोजन हमारे स्वतंत्रता आंदोलन के संघर्ष और गांधी दर्शन को युवा पीढी से एक बार फिर रूबरू करवाएंगे।
समन्वयक राजेन्द्र जोशी ने कार्यक्रम की रूपरेखा के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि आजादी का अमृत महोत्सव के तहत जिला, उपखण्ड एवं ग्राम पंचायत स्तर पर विभिन्न कार्यक्रम होंगे। इसके लिए अधिकारियों को जिम्मेेदारी दी गई है। संचालन संजय पुरोहित ने किया।
इस अवसर पर स्वतंत्रता सेनानी स्व. झंवरलाल हर्ष की पत्नी लक्ष्मीदेवी, स्व. रामनारायण शर्मा तथा स्व. नानक सिंह के पुत्र देवेन्द्र सिंह मौजूद रहे। की पत्नी कमला देवी भी उपस्थित रहीं। समारोह में अतिरिक्त जिला कलक्टर प्रशासन बलदेवराम धोजक, अतिरिक्त जिला कलक्टर शहर अरुणप्रकाश शर्मा, निगम आयुक्त ए एच गौरी, प्रशिक्षु आईएएस कनिष्क कटारिया, राजकुमार किराडू, सुनीता गौड़ सहित बड़ी संख्या में गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे।
इस दौरान अतिथियो ने शांति मार्च को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। रैली यहां से रवाना होकर सूरसागर पहुंची। जहां कार्यक्रम के नोेडल अधिकारी तथा एडीएम सिटी अरुण कुमार शर्मा ने आभार जताया।

‘शांति मार्च’ के साथ आजादी का अमृत महोत्सव शुरू prachina in article 1

COMMENTS