बीकानेर

इंदिरा प्रियदर्शिनी और काली बाई भील मेधावी छात्रा स्कूटी वितरण योजना

बीकानेर। शिक्षा मंत्री डॉ. बी. डी. कल्ला ने बुधवार को इंदिरा गांधी प्रियदर्शिनी पुरस्कार योजना के तहत 44 तथा काली बाई भील मेधावी छात्रा स्कूटी योजना के तहत 49 छात्राओं को स्कूटी प्रदान की।
रानी बाजार औद्योगिक क्षेत्र स्थित जिला उद्योग संघ सभागार में आयोजित कार्यक्रम के दौरान शिक्षा मंत्री डॉ. कल्ला ने कहा कि आज बेटियां हर क्षेत्र में अपनी प्रतिभा का परचम फहरा रही हैं। शिक्षा में भी बेटियों ने स्वर्णिम सफलता हासिल की हैं। यह बेटियां आगे बढ़ें और दूसरी बालिकाएं इनसे प्रेरणा लें, इसी उद्देश्य से राज्य सरकार द्वारा इन्हें स्कूटी प्रदान कर प्रोत्साहित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि स्कूटी हासिल करने वाली छात्राएं इंदिरा गांधी और काली बाई भील के जीवन से प्रेरणा लें और जीवन में सफलता की ओर बढ़ें। उन्होंने कहा कि शिक्षा के बिना जीवन अंधकारमय होता है। इसके मद्देनजर अभिभावक अपने बच्चों को शिक्षा के अधिकतम अवसर दें। उन्होंने विधार्थियों को समय प्रबंधन और संतुलित आहार के महत्व के बारे में बताया। साथ ही मोबाइल से दूर रहने की सीख दी। शिक्षा मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत के निर्देशानुसार प्रदेश की 3 हजार से अधिक स्कूलों को उच्च माध्यमिक के रूप में क्रमोन्नत किया गया है। स्कूलों में नए संकाय खोले गए हैं। उन्होंने महात्मा गांधी अंग्रेजी माध्यम स्कूलों को प्रदेश सरकार की दूरदर्शी सोच का परिणाम बताया तथा कहा स्कूलों में आधारभूत सुविधाओं के विकास में कोई कमी नहीं आने दी जाएगी। उन्होंने बीकानेर में हवाई सेवाओं के विकास के लिए 23.83 हेक्टेयर भूमि के आवंटन के लिए राज्य सरकार को शीघ्र ही प्रस्ताव भिजवाए जाएंगे। इसी प्रकार नापासर में महाविद्यालय खुलवाने के लिए उच्च स्तर पर वार्ता की जाएगी।
अतिरिक्त जिला कलक्टर (नगर) पंकज शर्मा ने कहा कि शिक्षा विकास का मूल आधार होती है। राज्य सरकार प्रदेश में शैक्षणिक उन्नयन के प्रति संकल्पबद्ध है। उन्होंने जिला कलेक्टर की पहल पर प्रारंभ होने वाले श्आओ आगे पढ़ेंश् अभियान के बारे में बताया। उपखंड अधिकारी अशोक कुमार बिश्नोई ने कहा कि ऐसी योजनाओं का उद्देश्य बालिकाओं को और आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करना है।

जिला शिक्षा अधिकारी सुरेंद्र सिंह भाटी बताया कि कार्यक्रम के दौरान सत्र 2019-20 और 2020-21 के लिए बाइस-बाइस छात्राओं को इंदिरा गांधी प्रियदर्शिनी तथा वर्ष 2018-19 के लिए 49 छात्राओं को स्कूटी प्रदान की गई। उन्होंने जिले में शैक्षणिक विकास के लिए किए प्रयासों के बारे में बताया।
जिला उद्योग संघ के अध्यक्ष द्वारका प्रसाद पचीसिया ने कहा कि जिले में शैक्षणिक उन्नयन के लिए अनेक भामाशाह अपना योगदान देते हैं। जिले के औद्योगिक विकास के लिए हवाई सेवाओं के विस्तार को उन्होंने जरूरी बताया और नापासर में महाविद्यालय स्वीकृत होने की स्थिति में भामशाहों द्वारा एक वर्ष में भवन बनाए जाने का विश्वास दिलाया।
संयुक्त निदेशक डॉ. राजकुमार शर्मा ने आभार जताया। कार्यक्रम का संचालन ज्योति प्रकाश रंगा ने किया। इस अवसर पर समसा के एडीपीसी हेतराम सारण, अतिरिक्त जिला शिक्षा अधिकारी भूप सिंह तिवाड़ी, सुनील बोड़ा, भंवर लाल शर्मा, पद्मा टिलवानी, गिरिराज खेरीवाल, हल्दी राम एज्युकेशन सोसायटी के प्रतिनिधि रमेश अग्रवाल, जिला उद्योग संघ के सचिव वीरेंद्र किराडू, शिव रतन पुरोहित, किशन लाल बोथरा, पारस डागा, अशोक गहलोत, विनोद व्यास, राजा बोहरा आदि मौजूद रहे।

What's your reaction?

Leave A Reply

Your email address will not be published.