जंगलराज, युवराज से लकड़सुंघवा तक- पीएम मोदी ने विपक्ष पर किए 10 बड़े वार

जंगलराज, युवराज से लकड़सुंघवा तक- पीएम मोदी ने विपक्ष पर किए 10 बड़े वार  जंगलराज, युवराज से लकड़सुंघवा तक- पीएम मोदी ने विपक्ष पर किए 10 बड़े वार jfjd

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  रविवार को बिहार विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण से पहले छपरा में जनसभा को संबोधित किया. जनसभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने विपक्ष पर बड़ा हमला बोला. पीएम मोदी ने कहा, कोरोना महामारी के कारण कुछ लोगों को ऐसा लग रहा था कि इस बार मतदान कम होगा, लेकिन बिहार की जनता ने उन्हें गलत साबित कर दिया है. उन्होंने कहा कि पहले चरण के चुनाव से ही पता चल गया है कि बि​हार में एक बार फिर एनडीए की सरकार आ रही है और नीतीश कुमार एक बार फिर बिहार को विकास की राह पर ले जाने के लिए मुख्यमंत्री बनने वाले हैं.
जंगलराज, युवराज से लकड़सुंघवा तक- पीएम मोदी ने विपक्ष पर किए 10 बड़े वार prachina in article 1

छपरा की रैली में पीएम मोदी ने कहा, ‘भाजपा के लिए, एनडीए के लिए आपका ये प्रेम कुछ लोगों को अच्छा नहीं लग रहा है. पहले चरण के चुनाव के बाद उनको रात में नींद नहीं आ रही है. कभी-कभी तो अपने ही कार्यकर्ताओं से मारकर फेंकते हैं. उनकी हताशा-निराशा, बौखलाहट, गुस्सा, अब बिहार की जनता बराबर देख रही है. चेहरे से हंसी गायब हो गई है.’

बिहार के लोगों की भावनाओं को कुछ लोग कभी समझ नहीं सकते. ये अपने परिवार के पैदा हुए हैं, अपने परिवार के जी रहे हैं और अपने परिवार के लिए ही जूझ रहे हैं. उन्हें न बिहार से कोई लेना देना है और न बिहार की युवा पीढ़ी से कोई लेना देना है.
पीएम मोदी ने कहा, आज बिहार के सामने, डबल इंजन की सरकार है तो दूसरी तरफ डबल-डबल युवराज भी हैं. उनमें से एक तो जंगलराज के युवराज भी हैं. डबल इंजन वाली एनडीए सरकार, बिहार के विकास के लिए प्रतिबद्ध है, तो ये डबल-डबल युवराज अपने-अपने सिंहासन को बचाने की लड़ाई लड़ रहे हैं.
पीएम मोदी ने कहा, 3-4 साल पहले यूपी के चुनाव में भी डबल-डबल युवराज बस के ऊपर चढ़कर लोगों के सामने हाथ हिला रहे थे. यूपी की जनता ने वहां उन्हें घर लौटा दिया था. वहां के एक युवराज अब जंगलराज के युवराज से मिल गए हैं.
पीएम मोदी ने कहा, दुनिया में आज कोई ऐसा नहीं है, जिसे कोरोना ने प्रभावित न किया हो, जिसका इस महामारी ने नुकसान न किया हो. एनडीए की सरकार ने कोरोना की शुरुआत से ही प्रयास किया है कि वो इस संकटकाल में देश के गरीब, बिहार के गरीब के साथ खड़ी रहे.
पीएम ने कहा, कोरोना के काल में किसी मां को ये चिंता करने की जरूरत नहीं है कि छठ पूजा को कैसे मनाएंगे. अरे मेरी मां! आपने अपने बेटे को दिल्ली मैं बैठाया है, तो क्या वो छठ की चिंता नहीं करेगा. मां, तुम छठ की तैयारी करो, दिल्ली में तुम्हारा बेटा बैठा है.
पीएम मोदी ने कहा, आज के नौजवान को खुद से पूछना चाहिए कि बड़ी-बड़ी परियोजनाएं जो बिहार के लिए इतनी जरूरी थीं, वो बरसों तक क्यों अटकीं रहीं? बिहार के पास सामर्थ्य तब भी भरपूर था. सरकारों के पास पैसा तब भी पर्याप्त था. फर्क सिर्फ इतना था कि तब बिहार में जंगलराज था.
पुल बनाने के लिए कौन काम करेगा जब इंजीनियर सुरक्षित नहीं हो? कौन सड़क बनाएगा जब ठेकेदार की जान चौबीसों घंटे खतरे में हो. किसी कंपनी को अगर कोई काम मिलता भी था, तो वो यहां काम शुरु करने से पहले सौ बार सोचती थी. ये जंगलराज के दिनों की सच्चाई है.
पीएम मोदी ने कहा, एक बुजुर्ग महिला का वीडियो सोशल मीडिया पर चल रहा है. जो बिना लाग लपेट के कह रही है कि मोदी हमारा के नल देहलन, लाइन देहलन, बिजली देहलन, मोदी हमरा के कोटा देहलन, राशन देहलन, पेंसिल देहलन। मोदी हमरा के गैस देहलन. उनका क्यों वोट न देबे, का तौहर के देब.
पीएम मोदी ने कहा बिहार के हर नौजवान की मां कहती थी कि घर के भीतर ही रहो, बाहर मत निकला, बाहर लकड़सुंघवा घूम रहा है. ये कौन था. बच्चों की मां आखिर उन्हें क्यों डराती थी. बिहार में पहले अपहरण का डर रहता था. ये जंगलराज के समय की बात है.
पीएम मोदी ने कहा, 2-3 दिन पहले पड़ोसी देश ने पुलवामा हमले की सच्चाई को स्वीकारा है. इस सच्चाई ने उन लोगों के चेहरे से नकाब हटा दिया, जो हमले के बाद अफवाएं फैला रहे थे।

COMMENTS