कोविड-19ः राज्य सरकार ने जारी की नई गाइडलाइन , जानिए क्या रहेगी पाबंदी

कोविड-19ः राज्य सरकार ने जारी की नई गाइडलाइन , जानिए क्या रहेगी पाबंदी  कोविड-19ः राज्य सरकार ने जारी की नई गाइडलाइन , जानिए क्या रहेगी पाबंदी lfjdjf 1

कोविड-19ः राज्य सरकार ने जारी की नई गाइडलाइन , जानिए क्या रहेगी पाबंदी mr bika fb post

जयपुर. राजस्थान में कोरोना (Corona Cases) के बढ़ते मामलों को देखते हुए अशोक गहलोत सरकार (Ashok Gehlot Government) ने रविवार को देर शाम नई गाइडलाइन जारी कर दी है. जिसके मुताबिक, विवाह संबंधी समारोह में भाग लेने वाले मेहमानों की संख्या घटाई गई है. अब सिर्फ 100 व्यक्ति शामिल हो सकते हैं. इससे पहले 200 मेहमानों के शामिल होने की अनुमति थी. कक्षा 1 से 9 तक की कक्षाएं बंद रहेंगी. इस संबंध में राजस्थान गृह विभाग ने अधिसूचना भी जारी कर दी है.

कोविड-19ः राज्य सरकार ने जारी की नई गाइडलाइन , जानिए क्या रहेगी पाबंदी prachina in article 1

जिला मजिस्ट्रेट स्थिति के आधार पर रात्रि कालीन कर्फ्यू के बारे में निर्णय लेंगे. रात 8:00 बजे से पूर्व एवं सुबह 6:00 बजे के पश्चात कर्फ्यू के लिए सरकार की अनुमति लेना अनिवार्य होगा. सिनेमा हॉल/ थियेटर्स/ मनोरंजन पार्क बंद रहेंगे. स्विमिंग पूल और जिम खोलने की अनुमति नहीं होगी.

इससे पहले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि राज्य सरकार एक-दो दिन में नई गाइडलाइन जारी करेगी. इसमें अगले 15 दिन के लिए सख्त निर्णय लिए जाएंगे. कोरोना के बढ़ते मामलों पर मुख्यमंत्री ने शनिवार रात विशेषज्ञों, चिकित्सकों और अफसरों के साथ लाइव समीक्षा की. बैठक में सीएम ने कोरोना के बढ़ते मामलों पर चिंता जताई और प्रदेश में सख्ती बढ़ाने के संकेत दिए. गहलोत ने कहा कि संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए सख्त कदम उठाए जाना जरूरी है. सके बाद नई गाइडलाइन आज ही जारी करने के आदेश दे दिए गए.

कोरोना की निगेटिव रिपोर्ट दिखाना जरूरी
अब हरियाणा और दिल्ली से राजस्‍थान में प्रवेश करने वालों को कोरोना की नेगेटिव रिपोर्ट दिखाना जरूरी होगा. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस संबंध में निर्देश जारी कर दिए हैं. बॉर्डर पर भी सख्ती शुरू हो गई है. हरियाणा बॉर्डर पर 72 घंटे के पहले की नेगेटिव कोरोना रिपोर्ट लाना जरूरी होगी. इसके बगैर एंट्री नहीं मिलेगी. बाहरी वाहनों की सघन जांच शुरू हो गई है, बिना रिपोर्ट के आने वाले यात्रियों वापस भेजा जाएगा. वहीं भारी और मालवाहक वाहनों को राजस्‍थान में एंट्री दी जा रही है.

COMMENTS