बीकानेरराजस्थान

चार हजार स्कूलों के लाखों बच्चों ने देशभक्ति गीतों का किया सामूहिक गायन

बीकानेर। आजादी का अमृत महोत्सव के तहत शुक्रवार को जिले के लगभग चार हजार स्कूलों के लाखों बच्चों ने देशभक्ति के गीतों का सामूहिक गायन किया।
मुख्य समारोह डॉ. करणी सिंह स्टेडियम में हुआ, जहां लगभग दस हजार स्कूली बच्चों ने हाथों में तिरंगा थाम, हिंदुस्तान जिंदाबाद के जयघोष के साथ पूरे उल्लास और उमंग से अपनी भागीदारी निभाई। प्रातः 10.16 मिनट पर राष्ट्रगीत के साथ देशभक्ति गीतों के गायन का सिलसिला प्रारम्भ हुआ तो स्टेडियम में मौजूद हजारों लोगों ने खड़े होकर राष्ट्र के प्रति अपनी कृतज्ञता अर्पित की। इसके बाद सारे जहां से अच्छा हिंदुस्तां हमारा, आओ बच्चों तुम्हें दिखाएं झांकी हिंदुस्तान की, झंडा ऊंचा रहे हमारा, हम होंगे कामयाब की प्रस्तुति हुई। राष्ट्रगान के साथ इस क्रम का समापन हुआ, तो पूरा स्टेडियम देशभक्ति के नारों से गूंज उठा।
इससे पहले कृषि एवं पशुपालन विभाग मंत्री तथा जिला प्रभारी मंत्री लालचंद कटारिया ने दीप प्रज्वलिक कर कार्यक्रम की शुरूआत की। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि तिरंगा हमारे राष्ट्रीय गौरव का प्रतीक है। राष्ट्रभक्ति गीतों के सामूहिक गायन कार्यक्रम के माध्यम से भावी पीढ़ी को राष्ट्र के प्रति अपनी कृतज्ञता व्यक्त करने का अवसर मिला है। उन्होंने कहा कि यह एक ऐतिहासिक अवसर हैं, जिसके माध्यम से हम अपने देश और देश के लिए सर्वस्व न्यौछावर करने वाले वीरों की गाथा को सुन, समझ और आत्मसात कर सकते हैं।
प्रभारी मंत्री ने कहा कि महात्मा गांधी, सुभाष चंद्र बोस, चंद्रशेखर आजाद, अशफाक उल्ला खां जैसे लाखों देशभक्तों के बलिदान से हमें आजादी की सौगात मिली। आजादी के समय हमारे देश में सीमित संसाधन थे। स्वतंत्र देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू ने विकास के नए आयाम स्थापित किए। आज हमारा देश बहुत तेजी से आगे बढ़ रहा है। उन्होंने संविधान को देश की आत्मा बताया और कहा कि इसमें माध्यम से एक सूत्र में बंधे हुए हैं। उन्होंने कहा कि हर व्यक्ति राष्ट्र निर्माण में अपनी ऊर्जा के सकारात्मक योगदान के लिए संकल्पित रहें।

राष्ट्रभक्ति के नारे लगाते नौनिहाल पहुंचे स्टेडियम
इससे पहले शहर के अलग-अलग स्कूलों से हजारों की संख्या में विद्यार्थी कीर्ति स्तंभ पहुंचे। जहां जिला कलक्टर भगवती प्रसाद कलाल ने बच्चों के इस हुजूम को तिरंगा रैली के रूप में डॉ. करणी सिंह स्टेडियम के लिए रवाना किया। हाथों में तिरंगा थामे भारत माता की जय और वंदेमातरम् जैसे नारे लगाते इन विद्यार्थियों ने जन-जन के मन में देशभक्ति के भाव जगा दिए। डॉ. करणीसिंह स्टेडियम में राजकीय महारानी सुदर्शन उच्च माध्यमिक विद्यालय की छात्राओं के नेतृत्व में विद्यार्थियों ने राष्ट्रभक्ति गीतों की प्रस्तुति का नेतृत्व किया।
इस अवसर पर राजस्थान भूदान बोर्ड के अध्यक्ष लक्ष्मण कड़वासरा, डॉ. भीमराव अम्बेडक पीठ के महानिदेशक डॉ. मदन गोपाल मेघवाल, जिला प्रमुख मोडाराम, महापौर सुशीला कंवर, संभागीय आयुक्त डॉ. नीरज के. पवन, पुलिस महानिरीक्षक बीकानेर रेंज ओमप्रकाश, जिला कलक्टर भगवती प्रसाद कलाल, पुलिस अधीक्षक योगेश यादव, जिला परिषद की मुख्य कार्यकारी अधिकारी नित्या के., जिला शिक्षा अधिकारी (माशि) सुरेन्द्र सिंह भाटी सहित अन्य जनप्रतिनिधि, अधिकारी, शारीरिक शिक्षक, स्कूली बच्चे और आमजन बड़ी संख्या में मौजूद रहे। कार्यक्रम का संचालन संजय पुरोहित और ज्योति प्रकाश रंगा ने किया।

शहर से लेकर गांव-गांव गूंजी देशभक्ति गीतों की स्वरलहरियां
सामूहिक राष्ट्र भक्ति गायन कार्यक्रम जिले की लगभग चार हजार निजी और सरकारी स्कूलों में एक साथ आयोजित किया गया। प्रत्येक स्कूल में उत्साह का माहौल देखने को मिला। हर घर तिरंगा अभियान से पहले जन-जन में देशभक्ति की भावना का संचार हुआ। ब्लॉक मुख्यालयों पर भी कार्यक्रम आयोजित हुए, जहां प्रभात फेरियां निकालकर आजादी का अमृत महोत्सव मनाने का संदेश दिया गया।

What's your reaction?