सूरसागर में सीवरेज का पानी छोड़ने पर होगी कानूनी कार्यवाही , कलेक्टर ने दिए निर्देश

3 Min Read

बीकानेर। जल भराव के संभावित क्षेत्रों का अवलोकन और नालों की सफाई व्यवस्था का निरीक्षण करने जिला कलक्टर भगवती प्रसाद कलाल मंगलवार को शहर के विभिन्न क्षेत्रों में पहुंचे। इस दौरान निगम आयुक्त गोपाल राम बिड़दा सहित अन्य अधिकारी भी साथ रहे।
जिला कलक्टर ने बरसात के मौसम के मद्देनजर इस कार्य को ‘मिशन मोड’ पर करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि निगम द्वारा संसाधन बढ़ाए जाएं और इसकी प्रभावी माॅनिटरिंग हो, इसके लिए निगम द्वारा अधिक से अधिक टीमें गठित की जाएं। यह टीमें अपने निर्धारित क्षेत्रों का प्रतिदिन निरीक्षण करें। जिला कलक्टर ने सैटेलाइट अस्पताल, प्रताप बस्ती, भुट्टा चौराहा, गिन्नाणी, लाइन पुलिस और सूरसागर क्षेत्र स्थित नालों का अवलोकन किया। सफाई की वर्तमान व्यवस्था पर असंतोष जताया। उन्होंने कहा कि शहर को साफ-सुथरा और स्वच्छ रखना निगम की सर्वोच्च प्राथमिकता है। इसमें लापरवाही बरतने वाले कार्मिकों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाए।

सूरसागर में आ रहा सीवरेज का पानी, होगी कानूनी कार्यवाही
सूरसागर में धोबीधोरा की ओर बने एक मकान के सीवरेज का पानी सूरसागर में आने की शिकायत को जिला कलक्टर ने गंभीरता से लिया और मौके पर पहुंचकर इसका मुआयना किया। उन्होंने निगम आयुक्त को इसके खिलाफ सीआरपीसी की धाराओं के तहत केस दर्ज करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सूरसागर को गंदा करने वालों के खिलाफ सख्त कार्यवाही अमल में लाई जाए। इसमें किसी प्रकार ढिलाई नहीं बरती जाए। उन्होंने सूरसागर के चारों ओर पाथ वे बनाने की संभावनाओं को भी देखा तथा इसके आसपास हुए अतिक्रमण चिन्हित करने के निर्देश दिए।

सड़क पर कचरा फैंकने पर वसूलें जुर्माना
जिला कलक्टर ने डोर-टू-डोर कचरा संग्रहण व्यवस्था को प्रभावी तरीके से लागू करने तथा इसकी प्रोपर माॅनिटरिंग के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि अभय कमांड सेंटर के माध्यम से इस पर नजर रखी जाए तथा सड़क पर कचरा फैंकने वालों के खिलाफ जुर्माना वसूलते हुए जानकारी दी जाए। उन्होंने शहर के सभी छोटे-बड़े नालों को कवर करने की विस्तृत कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए तथा कहा कि पहले चरण में दुर्घटना संभावित नालों को कवर करवाया जाए। इस दौरान जिला कलक्टर ने स्थानीय नागरिकों से सफाई कार्य और पानी निकासी व्यवस्था संबंधी फीडबैक लिया।
इस दौरान स्वच्छता प्रभारी अशोक व्यास, अधिशाषी अभियंता नजीर गौरी, समुंद्र सिंह आदि मौजूद रहे।

- Advertisement -
Share This Article