लॉयन्स क्लब का शिक्षक सम्मान समारोह आयोजित

2 Min Read
बीकानेर। राजस्थान राज्य मानवाधिकार आयोग के अध्यक्ष श्री गोपालकृष्ण व्यास ने कहा कि शिक्षक का ओहदा सबसे ऊंचा होता है। एक शिक्षक, बच्चे का भविष्य संवारकर उसे जिम्मेदार नागरिक बनाता है।
मानवाधिकार आयोग अध्यक्ष ने लाॅयन्स क्लब द्वारा आयोजित शिक्षक सम्मान समारोह के दौरान यह बात कही। उन्होंने कहा कि शिक्षक, बच्चे को अंधकार से प्रकाश तथा अज्ञानता से ज्ञान की ओर ले जाता है।
ऐसे शिक्षकों का सम्मान करना अनुकरणीय पहल है। उन्होंने अपने शिक्षकों और गुरुजनों से जुड़ी यादें साझा की तथा कहा कि अच्छे मार्गदर्शन की बदौलत उन्होंने जिंदगी में एक मुकाम हासिल किया। इस दौरान उन्होंने शिक्षकों का आदर करने तथा उनके दिखाए मार्ग का अनुसरण करने की सीख दी।
इस दौरान मानवाधिकार आयोग अध्यक्ष, क्लब अध्यक्ष मनीष सोनी, प्रोफेसर सुमेर चंद जैन, जॉन चेयरपर्सन अशोक बंसल द्वारा उत्कृष्ट शैक्षिक कार्य करने वाले छह शिक्षकों का सम्मान किया गया।
कार्यक्रम में लायंस क्लब की कोषाध्यक्ष उषा बंसल, मधु खत्री,  गिरीराज सिंगी, राजेश मिड्ढा, राकेश जाजू, गोपी किशन पेडी़वाल, बलदेव मूंदड़ा, बाबूलाल सांखला, पवन चांडक, अलका डोली पाठक, बबीता जाजू, मनीष गगंल, बाबूलाल मोहता, बजरंग सोनी, गुरजीत कौर, अलका राठी, हरि बागड़ी, रजनी कालरा, शुभम चारण आदि मौजूद रहे।
*इनका हुआ सम्मान*
कार्यक्रम के दौरान अरुणा बैंस, सुरेश कुमार हटीला, नवाब अली, राधेश्याम, सुनीता मोहता और भंगा सिंह यादव का सम्मान किया गया। अतिथियों ने सभी को शॉल, स्मृति चिन्ह और श्रीफल भेंट कर तथा माल्यार्पण कर सम्मानित किया।
Share This Article